कैसा हो? यदि आपको दो घंटे की रोटी न मिले.....



इंदौर, 3 अप्रैल, 2023: ज़रा सोचिए, आपको बहुत तेज़ भूख लगी हो, और आपको खाने के लिए दिन भर कुछ भी न मिले। गर्मी के मौसम में तपती धूप में बैठ जाते हैं, और कई दिनों तक पीने के लिए पत्ते से तड़पने के बावजूद पानी नहीं देते। क्या हुआ? कौन सोच में पड़ गया? ठीक यही हाल है बेजुबान पक्षी का, जो तपती धूप में सूखे गले को गीला करने के लिए पानी की चंद बूंदों के मोहताज हो जाते हैं, और पत्तों से तड़पकर मौत के घाट उतर जाते हैं। यही कारण है कि आकाश में उड़ते इन बेज़ुबानों पर कम ही लोगों का ध्यान जाता है। "बेजुबान हैं, तो क्या हुआ, पत्ते उन्हें भी दिखाते हैं" थीम पर इंदौर की सामाजिक संस्था, बीइंग जिम्मेदारों द्वारा फैलाए जा रहे #दानापानी (#DanaPani) इन दिनों जोरों पर शुरू होता है। इस पहल के तहत संस्था बेजुबान पक्षियों के लिए मिट्टी के सकोरे और ज्वर-बाजरे के दाने का वितरण किया जा रहा है, ताकि घर के छत पर पंछी अपनी भूख और प्याले बुझा सकें। यह सबसे पहला पूर्णतः मुफ्त और निःस्वार्थ है। इसकी शुरुआत के चंद दिनों में ही सैकड़ों सकोरे और दाने लाए गए। 

यदि आप भी अपनी छत पर आने वाले मेहमानों की भूख-प्यास को लेकर चिंतित हैं और उनके लिए सेवा भाव रखते हैं, तो संस्था बीइंग रेस्पॉन्सिबल, प्लॉट नं. 26, मालू-01, 406, वेलोसिटी मल्टीप्लेक्स के पास, स्कीम 94, इंदौर (सुरभि चौरसिया: 8109741870) आकर सोमवार से शुक्रवार, शाम 5:00 से 6:00 बजे के बीच दाना-पानी ले सकते हैं।   

गौरतलब है कि संस्था का यह सेवाभाव सिर्फ बेज़ुबानों तक ही सीमित नहीं है, यह सड़कों पर बेसहारा घूमते नन्हें बच्चों और अन्य जरूरतमंद व्यक्तियों को धूप से बचाने की छोटी-सी पहल के माध्यम से टोपी और चप्पल का वितरण भी कर रही है, ताकि वे कुछ हद तक धूप के प्रकोप से बच सकें। यदि आप इस पहल का हिस्सा बनना चाहते हैं, तो समान पते से चप्पल और टोपी ले सकते हैं।

Popular posts
मिलिए एंडटीवी के 'हप्पू की उलटन पलटन' की नई दबंग दुल्हनिया 'राजेश' उर्फ ​​गीतांजलि मिश्रा से!
Image
एण्डटीवी की नई प्रस्तुति ‘अटल‘ अटल बिहारी वाजपेयी के बचपन की अनकही कहानियों का होगा विवरण्
Image
"मैं अपने किरदार से गहराई से जुड़ा हूं क्योंकि उसी की ही तरह मैं भी कम शब्दों में बहुत कुछ कह देता हूं" ज़ी थिएटर के टेलीप्ले 'तदबीर' में वे एक पूर्व सेना अधिकारी की भूमिका निभा रहे हैं
Image
वार्ड क्रमांक 53 के पार्षद कोरोना कॉल में कर रहे जरूरतमंदों की लगातार मदद।
Image
हर जुबां पर बुंदेली ज़ायके का स्वाद चढ़ाने आ रहा बुंदेली शेफ सीजन-2 18 से 45 वर्ष तक की बुंदेली महिलाएं ले सकती हैं हिस्सा प्रतियोगिता में देश के किसी भी कोने से ले सकते हैं भाग बुंदेली शेफ विजेता को मिलेंगे 50 हजार रुपये तक के आकर्षक उपहार
Image