अदाणी इंटरनेशनल कंटेनर टर्मिनल प्राइवेट लिमिटेड (‘एआईसीटीपीएल’) का मेडेन अमेरिकी डॉलर बॉन्ड और एपीएसईज़ेड की जेवी कंपनी का पहला बॉन्डजारी होने पर अभूतपूर्व प्रतिक्रिया मिली



अहमदाबाद, एआईसीटीपीएल ने 300 मिलियन अमेरिकी डॉलर का अपना मेडेन पब्लिक बॉन्ड इश्यूएंस को 21 दिसम्बर 2020 को सेटल किया। इस इश्यू में बड़े रियल मनी इन्वेस्टर्स की भागीदारी दर्ज की गई, जिसमें लगभग 220 अकाउंट्स ने अपनी रुचि दिखाई और यह लगभग 10 गुना ओवरस्क्रिप्शन रहा। ~10 वर्षों के इश्यू का मूल्य 3.00% के सममूल्य पर रहा, जो पिछले 5 वर्षों में किसी भी कॉरपोरेट भारतीय इश्यूअर द्वारा हासिल किया गया न्यूनतम कूपन है।


निवेशक इसके मजबूत शेयरधारकों, एपीएसईज़ेड और टीआईएल, और कंपनी में उनकी संयुक्त व्यापारिक मजबूती को देखते हुए आकर्षित हुए थे, जो सभी 3 अंतर्राष्ट्रीय रेटिंग एजेंसियों की निवेश ग्रेड रेटिंग पुष्टि द्वारा समर्थित क्रेडिट गुणवत्ता द्वारा संचालित थे।

 

यह इश्यूएंस अदाणी ग्रुप की सोच के अनुरूप है, जो परिसंपत्तियों के लिए पूंजी संरचना को फिर से इंजीनियर करने के लिए पूंजी बाजार को उपयोग करता है और प्रोजेक्ट के जीवन भर के लिए ऋण को विस्तारित करते हुए उनका वित्तपोषण करता है। इश्यूएंस पूरी तरह से टीआईएल की रणनीति के भी अनुरूप है, जो विश्व में अपनी टर्मिनल कंपनियों के लिए धन स्रोतों में विविधता लाने और अनुकूलन करने के लिए काम करता है।

 

बार्कलेज, सिटीग्रुप, डीबीएस बैंक, एमयूएफजी और स्टैंडर्ड चार्टर्ड, ग्लोबल कोऑर्डिनेटर्स, बुक-रनर्स और प्रमुख प्रबंधक रहे।


एपीएसईज़ेड के सीईओ और होलटाइम डायरेक्टर श्री करण अदाणी ने कहा कि “इश्यूएंस, पूंजी संरचना की री-इंजीनियरिंग करने और परिसंपत्ति के जीवन के लिए ऋण परिपक्वता इनलाइन का विस्तार करने के ग्रुप की पूंजी प्रबंधन सोच के अनुरूप है। टीआईएल के साथ हमारा संबंध हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है और मुंद्रा कंटेनर हब को क्षेत्र और एआईसीटीपीएल का हमारा फ्लैगशिप टर्मिनल बनाने की हमारी रणनीति की कुंजी है। सफल इश्यूएंस, प्राइवेट जेवी स्तर पर कॉरपोरेट प्रशासन के स्तर की सराहना और स्वीकृति को दर्शाता है। किसी भी पोर्ट वर्टिकल जेवी कंपनी द्वारा पहला नोट इश्‍यूएंस, पूंजी बाजार का दोहन करने के लिए अन्य जेवी और ग्रुप की सहायक कंपनियों के लिए रास्‍ता बनाता है और बेंचमार्क निर्धारित करता है।"


टीआईएल के सीईओ श्री अम्मर कानन ने कहा कि "अदानी के साथ हमारा संबंध कमर्शियल पार्टनरशिप का एक उत्कृष्ट उदाहरण है जो विश्वास, पारदर्शिता और सम्मान के मुख्य सिद्धांतों पर आधारित है। सभी महादेशों में एआईसीटीपीएल टर्मिनलों के हमारे समग्र पोर्टफोलियो में महत्वपूर्ण स्थान रखता है और मुंद्रा पोर्ट पर आदर्श रूप से स्थित है, जो इसे उत्तर भारत जाने वाले कार्गो के लिए पसंदीदा पोर्ट बनाने में सक्षम बनाता है। एआईसीटीपीएल का परिचालन प्रदर्शन हमारे स्वामित्व वाले टर्मिनलों के पोर्टफोलियो में सर्वश्रेष्ठ परिचालन प्रदर्शनों में से एक है। भारत हमारे निवेश का एक रणनीतिक स्थान है, और हम आगे शानदार अवसरों की उम्मीद करते हैं।”

 

अदाणी इंटरनेशनल कंटेनर टर्मिनल प्राइवेट लिमिटेड के बारे में: 

एआईसीटीपीएल मुंद्रा से बाहर स्‍थित कंटेनर टर्मिनल ऑपरेटिंग कंपनी है, जिसकी वार्षिक हैंडलिंग क्षमता 3.1 मिलियन टीईयू से अधिक है। 1460 मीटर की लगातार लंबाई वाले प्‍लेटफॉर्म और 17.5 मीटर की गहरे ड्राफ्ट के साथ, यह टर्मिनल दुनिया के सबसे बड़े आकार के कंटेनर कैरियर्स को संभाल सकता है। यह एआईसीटीपीएल को ट्रांसशिपमेंट कार्गो के लिए एक प्रमुख गंतव्य स्‍थल बनाता है। मुंद्रा भारतीय मानचित्र में और अरब सागर में महासागरीय व्यापार मार्ग पर अपनी स्थिति के संदर्भ में रणनीतिक स्थान रखने के कारण भारी एक्जिम कार्गो के लिए उपयुक्‍त है। कंपनी को टीआईएल और एपीएसईज़ेड का संरक्षण मिलने से भी लाभ मिलता है।


अदाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक ज़ोन लिमिटेड के बारे में:

विश्व स्तर पर मौजूद, डायवर्सिफाइड अदाधी ग्रुप का हिस्सा, अदाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक ज़ोन लिमिटेड (एपीएसईज़ेड), भारत का सबसे बड़ा एकीकृत पोर्ट और ट्रांसपोर्ट यूटिलिटी प्लेटफ़ॉर्म है जो भौतिक परिसंपत्तियों द्वारा समर्थित है। दो दशकों से भी कम समय में, कंपनी ने पूरे पोर्ट सेक्टर को सफलतापूर्वक रूपांतरित कर दिया है, और पोर्ट-आधारित एसईजेड और लॉजिस्टिक्स सर्विसेज में अपने निवेश के माध्यम से, यह पूरी तरह से खुद को ट्रांसपोर्ट यूटिलिटी में रूपांतरित करने जा रहा है। 11 रणनीतिक रूप से स्थित पोर्ट/टर्मिनल, 20 अंतर्देशीय लॉजिस्टिक टर्मिनल, और 5 लॉजिस्टिक पार्क/आईसीडी देश की कुल पोर्ट क्षमता के 24% प्रतिनिधित्व करते हैं, जो पूरे भारतीय तटीय क्षेत्र को कवर करते हैं और पूरे देश को लॉजिस्‍टिक्‍स सेवाएं प्रदान करने की क्षमता रखते हैं। 


टर्मिनल इन्वेस्टमेंट लिमिटेड के बारे में:

टर्मिनल इन्वेस्टमेंट लिमिटेड ("टीआईएल") दुनिया का 6वाँ सबसे बड़ा कंटेनर टर्मिनल ऑपरेटर है, जो प्रति वर्ष लगभग 34 मिलियन कंटेनर की ढुलाई करता है। दुनिया के दो सबसे बड़े इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टर, ग्लोबल इंफ्रास्ट्रक्चर पार्टनर्स और सिंगापुर के जीआईसी, के साथ मिलकर टीवाईएल में एमएससी का अधिकतम स्वामित्व है। एसएससी विश्व में दूसरा सबसे बड़ा कंटेनर शिपिंग ग्रुप है।