गणतंत्र दिवस पर सोनी सब के कलाकारों की राय

 




पारस अरोड़ा :

हालांकि, भारत को सन 1947 में आज़ादी मिली थी, लेकिन हमारा संविधान लागू करने के लिए हमें लगभग 3 साल का इंतजार करना पड़ा था। इसलिए, हर भारतीय के लिए गणतंत्र दिवस बहुत ही महत्वपूर्ण है। हर बार जब भी हम झंडा फहराने या राष्ट्रगान गाने के लिए खड़े होते हैं तो मन में एक गर्व की भावना होती है।


गणतंत्र दिवस मुझे हमेशा मेरे स्कूल के उन दिनों की याद दिलाता है जब हम झंडा फहराने के लिए जाते थे, जहां हमें खाने के लिए भी मज़ेदार चीज़े मिलती थी। उस दिन हमारी आधे दिन की छुट्टी होती थी। इस दिन पर स्पेशल स्किट्स, डांस, देशभक्ति के गाने गाए जाते थे और इसलिए गणतंत्र दिवस से पहले मैं हमेशा उसकी तैयारियां करने की प्रतीक्षा करता था। हालांकि अब हम स्कूल नहीं जा रहे हैं, इसलिए मैं अपनी सोसाइटी में ही झंडारोहण समारोह में हिस्सा लूंगा और छुट्टी पर घर का ही खास खाना खाऊंगा।  


इस साल, मैं अपने सभी प्रशंसकों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देता हूं, इसके साथ ही मैं उनसे देश के बेहतरी की दिशा में काम करने और इस कठिन समय जिसका आज हम सामना कर रहे हैं उसके खिलाफ लड़ने के लिए सहयोग करने के लिए पूछना चाहता हूं। मैं सभी फ्रंटलाइनर कर्मचारियों को भी सलाम करना चाहूंगा, उन सभी चीज़ो के लिए जो उन्होंने दिन-रात हमारे देश के लिए किया है।


मेघा चक्रवर्ती:

जब मैं छोटी थी, तो हर गणतंत्र दिवस पर मेरी मां नारियल और गुड़ को भरकर मेरे लिए सूजी के पीठे बनाती थी। सर्दियों के दौरान इसे पकाया जाता है और इसे गणतंत्र दिवस पर खाना मैंने कभी भी मिस नहीं किया। पर मैंने वो तबसे नहीं खाया जबसे मैं मुंबई आई हूं, लेकिन इस बार, मैं खुद ही अपने हाथों से इसे बनाने की कोशिश करूंगी।


हर भारतीय के लिए गणतंत्र दिवस एक बहुत ही महत्वपूर्ण अवसर है, क्योंकि ये ही वो दिन था जब हमारा संविधान लागू हुआ था। स्कूल में वो सबसे अच्छा समय था जब हम गणतंत्र दिवस के मौके पर झंडा फहराने और खास प्रोग्राम जैसे परेड, कविता और देशक्भक्ति के गाने गाते थे। अब गणतंत्र दिवस सिर्फ और सिर्फ एक दिन की छुट्टी की तरह होता हैं, जहां हम अच्छी भारतीय पोशाक पहनते हैं और पूरे दिन पुरानी देशभक्ति वाली फिल्में देखते हैं।

सभी को 72 वें गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं, मैं अपने फैंस से भी ये गुज़ारिश करना चाहूंगी कि हमारे स्वतंत्रता सेनानियों ने हमारी स्वतंत्रता और सम्प्रभुता के लिए जो प्रयास किए हैं उसकी हमेशा सराहना कीजिए।  


देव जोशी:

गणतंत्र दिवस मेरे लिए हमेशा एक खास दिन रहा है, मैं अपने पूरे परिवार के साथ बैठकर टेलीविज़न पर समारोह देखता हूं। हालांकि, मैं हर साल इस दिन को अलग-अलग तरह से मनाने की कोशिश करता हूं। चूंकि इस दिन शूटिंग से हमारी छुट्टी होती है, इसलिए टीवी पर गणतंत्र दिवस की परेड देखने के साथ मैं अपने दिन की शुरुआत करता हूं और बाद में, मैं अपने परिवार के साथ लंच या डिनर के लिए बाहर जाता हूं। हर साल मैं गणतंत्र दिवस पर तिरंगे की मिठाइयों का इंतजार करता हूं और खासकर इस साल भी मैं इसके लिए बहुत उत्साहित हूं।  


गणतंत्र दिवस से जुड़े हुए मेरे कई यादगार पल है। 2019 में, मुझे भारत के राष्ट्रपति द्वारा प्रधानमंत्री बाल शक्ति पुरस्कार से सम्मानित किया गया था और गणतंत्र दिवस परेड का भी हिस्सा था। महात्मा गांधी जी की 150वीं जयंती पर राजपथ में परेड में शामिल होना, मेरे लिए एक गर्व का पल था।


भारत में मेरे जितने भी प्रशंसक है, मैं उन्हें यही कहना चाहूंगा कि गणतंत्र दिवस हर भारतीय के लिए एक महत्वपूर्ण दिन है और इस कठिन साल(2020) के बाद, हमें सकारात्मकता के साथ आगे बढ़ना चाहिए, जिससे हमारे राष्ट्र को विकसित होने में मदद मिल सके।


गुलकी जोशी:

मुझे याद है, मेरे स्कूल के दिनों के दौरान, मैं अपने देश के बारे में पढ़ाने और सीखने में गणतंत्र दिवस मनाती थी। अब यह दिन शूटिंग से एक दिन की छुट्टी की तरह है, जोकि मैं अपने घर पर ही बिताती हूं। हालांकि, जब भी मेरे अपने बच्चें होंगे, तो मैं उन्हें हमारे देश की हर खूबसूरत चीज़ के बारे में शिक्षित करना चाहूंगी। भारत के पास पेश करने के लिए साहस और ताकत की कई कहानियां है, और हर व्यक्ति को इस देश की बेहतरी के लिए काम करने के लिए प्रेरित होना चाहिए।


मैडम सर में स्क्रीन पर एक पुलिस अधिकारी की भूमिका निभाना एक बहुत ही सम्मान की बात है, क्योंकि इससे मुझे गर्व की अनुभूति होती है और इससे मेरे अंदर सशस्त्र बलों और उनके द्वारा किए गए कामों को लेकर मेरे मन में जो आदर था वह अब ये कहीं ज़्यादा बढ़ गया है।

मुझे बहुत ख़ुशी होगी अगर मैं पुलिसमैन/ पुलिसवीमेन बनकर किसी को भी बनने के लिए प्रेरित कर सकूं और किसी दिन अपने देश के लिए कुछ अच्छा कर सकूं। जय हिन्द और आप सभी को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।