अदाणी एंटरप्राइजेज लिमिटेड का वित्त वर्ष 21 के तीसरे तिमाही के परिणाम


समेकित ईआईडीटीए 6% बढ़कर 939 करोड़ रुपये (वर्ष-दर-वर्ष) हुआ


तिमाही के दौरान मंगलुरु, लखनऊ और अहमदाबाद हवाई अड्डों के परिचालन, प्रबंधन और विकास का काम संभाला


शेयरधारकों की वैल्यू पिछले 3 वर्षों में 105% के सीएजीआर पर बढ़ी*

सार-संक्षेप 


वित्त वर्ष 21 के तीसरी तिमाही की परिचालन विशेषताएं (वर्ष-दर-वर्ष के आधार पर):

सोलर मैन्यूफैक्चरिंग वॉल्यूम 285 मेगावाट रही

खनन सेवाओं का उत्पादन 6% की वृद्धि दर्ज करते हुए 5.1 एमएमटी रहा 

आईआरएम वॉल्यूम 5% बढ़ कर 21.4 एमएमटी हुआ 

19 जनवरी, 2021 को गुवाहाटी, जयपुर और तिरुवनंतपुरम हवाई अड्डों के लिए रियायत समझौते पर हस्ताक्षर किये 


वित्त वर्ष 21 के तीसरी तिमाही की वित्तीय विशेषताएं (समेकित) (वर्ष-दर-वर्ष के आधार पर):

समेकित कुल आय 6% की वृद्धि दर्ज करते हुए 11,788 करोड़ रुपये हुई 

समेकित ईबीआईडीटीए 6% की वृद्धि दर्ज कर 939 करोड़ रुपये हुआ 

मालिकों की वजह से समेकित पीएटी 297 करोड़ रूपये बनाम 426 करोड़ रुपये रहा 


अहमदाबाद, 3 फरवरी, 2021: अदाणी ग्रुप की कंपनी, अदाणी एंटरप्राइजेज लिमिटेड, (एईएल) ने आज 31 दिसंबर, 2020 को समाप्त तीसरी तिमाही के लिए अपने परिणामों की घोषणा की।


*रिन्यूएबल उत्पादन और शहर गैस वितरण व्यवसायों के डीमर्जर के कारण


वित्त वर्ष 21 के तीसरी तिमाही की वित्तीय विशेषताएं (समेकित) (वर्ष-दर-वर्ष के आधार पर):


सोलर मैन्युफैक्चरिंग कारोबार में बिक्री बढ़ने से इस तिमाही के लिए समेकित कुल आय 6% बढ़ कर 11,788 करोड़ रुपये हुई।

सोलर मैन्युफैक्चरिंग व्यवसाय में डोमेस्टिक कंटेंट रिक्वायरमेंट सेगमेंट में बिक्री बढ़ने के कारण, इस तिमाही के लिए ईबीआईडीटीए 6% की वृद्धि दर्ज करते हुए 939 करोड़ रुपये हुई, परिणामस्वरूप  बेहतर मार्जिन हासिल हुई।

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय द्वारा समाप्ति किये जाने पर एक्सप्लोरेशन ब्लॉक के असाधारण राइट ऑफ किये जाने से वित्त वर्ष 21 के तीसरी तिमाही के लिए मालिकों की वजह से समेकित पीएटी 297 करोड़ रूपये बनाम 426 करोड़ रुपये रहा।


अदाणी ग्रुप के चेयरमैन श्री गौतम अदाणी ने कहा कि “अदाणी एंटरप्राइजेज ने कई नए व्यवसायों, जिनमें ग्रुप शामिल हो रहा है, की नींव रखने की दिशा में अपनी यात्रा जारी रखी है। इनमें एयरपोर्ट, डेटा सेंटर, सड़क और पानी शामिल हैं। यह तथ्य कि अदाणी एंटरप्राइजेज संकट के एक वर्ष के दौरान भी अपने राजस्व और ईबीआईडीटीए को विकसित करने में सक्षम रहा, भारत की अर्थव्यवस्था के लचीलेपन के साथ-साथ अपने देश के इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण के लिए निवेश करना जारी रखने के प्रति हमारे विश्वास और हमारी प्रतिबद्धता दशा्रता है।" 



सेगमेंट के अनुसार वित्त वर्ष 21 के तीसरी तिमाही के बिजनेस की विशेषताएं (वर्ष-दर-वर्ष के आधार पर):


1. खनन सेवाएँ

छत्तीसगढ़ में परसा केंटे खदान में प्रोडक्शन वॉल्यूम 4.2 एमएमटी बनाम 4.7 एमएमटी रहा।

जीपी III खदान, छत्तीसगढ़  का वॉल्यूम 0.6 एमएमटी बनाम 0.06 एमएमटी रहा।*

वित्त वर्ष 21 की पहली छमाही में शुरू किये गये तालाबीरा II और III खदान, ओडिशा का वॉल्यूम 0.3 एमएमटी रहा।

दो कमर्शियल खदानों, मध्य प्रदेश राज्य में धीरौली (3 एमटीपीए) और झारखंड राज्य में गोंडुलपारा (4 एमटीपीए), के लिए कोल ब्लॉक डेवलपमेंट एंड प्रोडक्शन एग्रीमेंट पर हस्ताक्षर किये।


*जीपी III खादान ने वित्त वर्ष 20 के तीसरी तिमाही में अपना परिचालन शुरु किया था


2. सोलर मैन्युफैक्चरिंग

वॉल्यूम 285 मेगावाट पर स्थिर रहा। हालांकि, सेल्स मिक्स में डोमेस्टिक कंटेंट रिक्वायरमेंट सेगमेंट में बिक्री बढ़ने से ईबीआईडीटीए मार्जिन 16% से बढ़कर 30% हो गयी।

मजबूत ऑर्डर बुक के साथ कंपनी सतत विकास के लिए इन सेगमेंट पर ध्यान केंद्रित करना जारी रखेगी


3. एग्रो

खाद्य व्यवसाय में, कंपनी अपने "फॉर्च्यून" ब्रांड के साथ अपने नेतृत्वकारी स्थिति को बनाये रखा और 20% से अधिक की बाजार हिस्सेदारी के साथ रिफाइंड ऑयल बाजार का नेतृत्व करतह रही।

वित्त वर्ष 21 के तीसरी तिमाही के लिए कुल राजस्व 31% बढ़कर 10,257 करोड़ हो गया। इस तिमाही के लिए आईबीआईडीटीए 323 करोड़ रुपये पर स्थिर रहा। 


4. सड़कें

200 किलोमीटर से अधिक सड़कों के निर्माण के लिए, हाइब्रिड एन्युइटी मॉडल के अंतर्गत  एनएचएआई के साथ हस्ताक्षरित पांच रियायत समझौतों में से, इन परियोजनाओं को पूरा करने की निम्नलिखित स्थिति है: 

o छत्तीसगढ़ में बिलासपुर पथरपाली परियोजना लगभग 58% पूरी हो चुकी है

o तेलंगाना में सूर्यापेट खम्माम परियोजना लगभग 20% पूरी हो चुकी है

कंपनी ने केरल राज्य में हाइब्रिड एन्युइटी मॉडल के अंतर्गत एनएच -17 के अज़्युर से वेंगलाम खंड तक छह लेन के निर्माण के लिए एनएचएआई से एलओए प्राप्त किया है।



5. हवाई अड़डा सेवाएं

छह हवाई अड्डों के परिचालन, रखरखाव और विकास के लिए लगाई गई बोलियों में से:

o इस तिमाही के दौरान मंगलुरु, लखनऊ और अहमदाबाद हवाई अड्डों का काम संभाला 

o 19 जनवरी 2021 को तिरुवनंतपुरम, जयपुर और गुवाहाटी हवाई अड्डों के लिए रियायत समझौते पर हस्ताक्षर किये

सभी तीन परिचालित हवाई अड्डों - अहमदाबाद, मंगलुरु और लखनऊ को एसीआई (एयरपोर्ट काउंसिल इंटरनेशनल) ने सुरक्षित हवाई यात्रा के लिए एयरपोर्ट हेल्थ एक्रेडिशन से सम्मानित किया