डिजिटल प्लेटफॉर्म का उपयोग करते हुए, अदाणी फाउंडेशन ने सामुदायिक कल्याण गतिविधियों के लाभार्थियों की संख्या बढ़ायी



अहमदाबाद (गुजरात) [भारत], 21 फरवरी (एएनआई): डिजिटल टेक्नोलॉजी का उपयोग करते हुए, अदाणी फाउंडेशनने अपनी सामुदायिक कल्याण गतिविधियों को जारी रखने और कुछ क्षेत्रों में लाभार्थियों की संख्या बढ़ाने में सफलता पाई है।


अदाणी फाउंडेशन के प्रवक्ता ने एक बयान में बताया कि कोविड-19के मौजूदा संकट से पैदा हुईं चुनौतियों के बीच, अदाणी फाउंडेशन ने सामाजिक दूरी बनाये रखने के मानदंडों को बनाये रखने के लिए समुदायों को सक्रिय करने के नये तरीके विकसित किये हैं।


प्रवक्ता ने कहाकि "इसके अलावा, शिक्षक और स्वयंसेवक खुले स्थानों में छात्र समूहों से मिल रहे हैं। झारखंड में मोबाइल कक्षा 'ज्ञानोदय रथ' गोड्डा के गांवों में निर्धारित दौरा करता है। नामित अदाणी कौशल विकास केंद्र द्वारा अपने पाठ्यक्रम ऑनलाइन चलाने के कारण, छात्रों के नामांकन में वृद्धि देखी जा रही है क्योंकि लोकेशन अब एक बाधा नहीं है।"


‘फॉर्च्यून सुपोषण परियोजना’के अंतर्गत, प्रशिक्षित सामुदायिक स्वयंसेवक ‘सुपोषण संगिनी’ महामारी के दौरान लाभार्थी परिवारों के साथ डिजिटल प्लेटफॉर्म के जरिये जुड़ी रहीं और हजारों लाभार्थियों तक पहुंचने में सफल रहीं।


प्रवक्ता के अनुसार, अदाणी फाउंडेशन के समग्र और सतत विकास के लक्ष्यों को प्राप्त करने की दिशा में, इन प्रयासों के कारण बदलाव आया है। 


अदाणी फाउंडेशन की महिला सदस्यों ने स्वयं-सहायता समूहों को बढ़ावा दिया, जिससे वे अगरबत्ती बनाकर, मशरूम की खेती करके, लाख की चूड़ियाँ और अन्य उत्पाद बनाकरमहामारी के दौरान अपने परिवारों की मदद कर सकीं।


गुजरात, झारखंड, छत्तीसगढ़ और आंध्र प्रदेश में अदाणी कौशल विकास केंद्रों द्वारा सहायता प्राप्त महिला स्वयं सहायता समूहों ने अदाणीग्रुप के निर्माण-स्थलों पर बांटने के लिए 4.50 लाख से अधिक मास्क का उत्पादन किया। (एएनआई)

Popular posts
"मैं अपने किरदार से गहराई से जुड़ा हूं क्योंकि उसी की ही तरह मैं भी कम शब्दों में बहुत कुछ कह देता हूं" ज़ी थिएटर के टेलीप्ले 'तदबीर' में वे एक पूर्व सेना अधिकारी की भूमिका निभा रहे हैं
Image
एण्डटीवी की नई प्रस्तुति ‘अटल‘ अटल बिहारी वाजपेयी के बचपन की अनकही कहानियों का होगा विवरण्
Image
मिलिए एंडटीवी के 'हप्पू की उलटन पलटन' की नई दबंग दुल्हनिया 'राजेश' उर्फ ​​गीतांजलि मिश्रा से!
Image
हर जुबां पर बुंदेली ज़ायके का स्वाद चढ़ाने आ रहा बुंदेली शेफ सीजन-2 18 से 45 वर्ष तक की बुंदेली महिलाएं ले सकती हैं हिस्सा प्रतियोगिता में देश के किसी भी कोने से ले सकते हैं भाग बुंदेली शेफ विजेता को मिलेंगे 50 हजार रुपये तक के आकर्षक उपहार
Image
ताइक्वांडो प्रीमियर लीग की द्वितीय श्रेणी वेट कैटेगरी का आयोजन दिसंबर 2023 में किया जाएगा • पुरुषों के लिए वेट कैटेगरी 55.1 किलोग्राम से 60.9 किलोग्राम होगी, जबकि महिलाओं के लिए 48.1 किलोग्राम से 53.9 किलोग्राम वेट कैटेगरी निर्धारित है • द्वितीय श्रेणी वेट कैटेगरी का आयोजन 5, 6 और 7 दिसंबर 2023 को किया जाएगा
Image