अदाणी पोर्ट्स ने डीवीएस राजू फैमिली से गंगवारम पोर्ट में 3,604 करोड़ रुपये में 58.1%का नियंत्रण हिस्सेदारी हासिलकिया



सार-संक्षेप

एपीएसईजे़ड ने डीवीएस राजू एंड फैमिली से 3,604 करोड़ रुपये में गंगावरम पोर्ट लिमिटेड

(जीपीएल) में अपनी हिस्सेदारी 89.6% करते हुए, जीपीएल में 58.1% की नियंत्रित हिस्सेदारी का अधिग्रहण करेगा।

अपनी रणनीतिक उपस्थिति और दूरदराज के क्षेत्रों में प्रभावी मौजूदगी के साथ, जीपीएल में 250 एमएमटी पोर्ट बनने की क्षमता है। 

जीपीएल को एपीएसईज़ेड के प्लेटफ़ॉर्म से मार्केट शेयर में सुधार, कार्गो बढ़ाने और परिचालन क्षमता को बेहतर बनाने में लाभ मिलेगा। 

एपीएसईज़ेड अपने 2 एपी पोर्ट्स (कृष्णापटनम और गंगावरम) के जरिये अपने ग्राहकों को बेहतर सॉल्यूशन प्रदान करने में सक्षम होगा।

यह अधिग्रहण मुख्य रूप से पश्चिमी तट की पोर्ट कंपनी को पूरे भारत की कार्गो यूटिलिटी में रूपांतरित करने के लिए एपीएसईज़ेड की रणनीति का उपयोग करेगा। 



 भारत; 23 मार्च 2021; भारत की सबसे बड़ी प्राइवेट पोर्ट्स एंड लॉजिस्टिक्स कंपनी और डायवर्सिफाइड अदाणी ग्रुप की प्रमुख परिवहन सहायक कंपनी, अदाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक ज़ोन (एपीएसईज़ेड) लिमिटेड,ने गंगावरम पोर्ट लिमिटेड (जीपीएल) में डीवीएस राजू एंड फैमिली की 51.8% हिस्सेदारी का अधिग्रहण कर रही है। अधिग्रहण 3,604 करोड़ रुपये के मूल्य का है और नियामक अनुमोदन के अधीन है। एपीएसईज़ेडने 3 मार्च, 2021को जीपीएल में वारबर्ग पिंकस की 31.5% हिस्सेदारी के अधिग्रहण की घोषणा की थी और इस अधिग्रहण के साथ, एपीएसईज़ेडकी जीपीएल में 89.6% हिस्सेदारी होगी।


जीपीएल आंध्र प्रदेश के उत्तरी भाग में विशाखापत्तनम पोर्ट के बगल में स्थित है। यह आंध्र प्रदेश का दूसरा सबसे बड़ा गैर-प्रमुख पोर्ट है, जिसकी क्षमता 64 एमएमटी है, और आंध्र प्रदेश सरकार (जीओएपी) की रियायत के तहत स्थापित है जो 2059 तक मान्य है। यह हर मौसम में सक्षम, गहरे पानी वाला, बहु-उद्देशीय पोर्ट है जो 200,000 डीडब्ल्यूटी तक के सुपर केप आकार के जहाज को पूरी तरह संभालने में सक्षम है। वर्तमान में, जीपीएल 9 बर्थ संचालित करती है और इसके पास ~1,800 एकड़ की फ्री होल्ड भूमिहै। 31 बर्थ वाले 250 एमएमटीपीए की मास्टर प्लान की क्षमता के साथ, जीपीएल के पास भविष्य में विकास करने के लिए पर्याप्त हेडरूम है।


जीपीएल कोयले, लौह अयस्क, फर्टिलाइजर, लाइमस्टोन, बॉक्साइट, शुगर, एल्यूमिना और स्टील सहित सूखे और थोक वस्तुओं के विविध मिश्रण को संभालता है। जीपीएल पूर्वी, दक्षिणी और मध्य भारत में 8 राज्यों में फैले दूर-दराज के इलाकों के लिए प्रवेश द्वार का काम करता है।


जीपीएल को बाजार हिस्सेदारी बढ़ाकर उच्च विकास और अतिरिक्त कार्गो प्रकार और बेहतर मार्जिन और रिटर्न का संयोजन प्रदान करने में, एपीएसईज़ेडके पूरे भारत में मौजूदगी, लॉजिस्टिक्स इंटीग्रेशन, ग्राहक केंद्रित सोच, परिचालन दक्षता और मजबूत बैलेंस शीट से फायदा मिलेगा।


वित्त वर्ष 20 में, जीपीएल के पास 34.5 एमएमटी कार्गो वॉल्यूम था, जिसने 1,082 करोड़ रुपये का राजस्व, 634 करोड़ रुपये का ईबीआईटीडीए (59% का मार्जिन) और 516 करोड़ रुपये का पीएटी दिया। जीपीएल  500 करोड़ से अधिक की शेष नकदी सहित ऋण मुक्त है।


कंपनी के पास 51.7 करोड़ का पेड अप इक्विटी शेयर का कैपिटल है, जिसमें 58.1% डीवीएस राजू एंड फैमिली (प्रमोटर), 10.4% आंध्र प्रदेश सरकार और 31.5% वारबर्ग पिंकस के स्वामित्व में है।


एपीएसईज़ेडने 3मार्च, 2021 को 120रुपये/शेयर पर वारबर्ग पिंकस की 31.5% हिस्सेदारी के अधिग्रहण की घोषणा की थी और 120/शेयर पर डीवीएस राजू की ~ 30करोड़ शेयरों (58.1%) की हिस्सेदारी का भी अधिग्रहण करेगा, जो 3,604करोड़ रुपये का हो रहा है। लेन-देन से तात्पर्य 8.9गुना के मल्टिपल्स का ईवी/ईबीआईटीडीए और 12.0 गुना के मल्टिपल्स का पी/ई (वित्त वर्ष 20 के आंकड़ों के आधार पर) है और एपीएसईज़ेडशेयरधारकों के लिए एक मूल्य वर्धित लेनदेन है।


एपीएसईजेड के सीईओ और होल टाइम डायरेक्टर श्री करण अदाणी ने बताया कि “जीपीएल का अधिग्रहण एक विस्तारित लॉजिस्टिक्स नेटवर्क प्रभाव से लाभ उठाने की हमारी सोच का विस्तार है जो विस्तार के साथ अधिक मूल्य पैदा करता है। प्रत्येक अतिरिक्त नोड जिसे हम अपने नेटवर्क में जोड़ने में सक्षम हैं, हमें अपने ग्राहकों के लिए अधिक से अधिक एकीकृत और संवर्धित समाधान प्रदान करने की सुविधा प्रदान करता है। इस संदर्भ में, जीपीएल का हमारे पोर्टफोलियो में शामिल होना एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है। हम अब जिस दूर-दराज के इलाकों से जुड़ सकते हैं, वह पूर्वी क्षेत्र में सबसे तेजी से विकसित हो रहा इलाका है और एपीएसईज़ेड के लॉजिस्टिक तालमेल के साथ, जीपीएल में 250 एमएमटी पोर्ट बनने की क्षमता है। यह निस्संदेह आंध्र प्रदेश के औद्योगिकीकरण को तेज करने में मदद करेगा। राजू फैमिली नेशानदार पोर्ट बनाया है और उन्होंने जिस विश्व स्तरीय परिसंपत्ति का निर्माण किया है, हम उसका विस्तार करना जारी रखेंगे।”


अदाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक ज़ोन लिमिटेड के बारे में


विश्व स्तर पर सक्रिय डायवर्सिफायड अदाणी ग्रुप का एक हिस्सा, अदाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक ज़ोन (एपीएसईज़ेड), एक पोर्ट कंपनी से विकसित होकर भारत के पोर्ट्स एंड लॉजिस्टिक्स प्लेटफ़ॉर्म बन चुका है। तटीय क्षेत्रों और दूरदराज के विशाल इलाकों से कारगो के विशाल वॉल्यूम की हैंडलिंग करते हुए, रणनीतिक रूप से मौजूद एपीएसईजेड के 12 पोर्ट और टर्मिनल, देश की कुल पोर्ट क्षमता के 24% प्रतिनिधित्व करते हैं। ये पोर्ट और टर्मिनल गुजरात में मुंद्रा, दाहेज, टूना और हजीरा, ओडिशा में धामरा, गोवा में मारमुगाओ, आंध्र प्रदेश में विशाखापत्तनम एवं कृष्णापत्तनम, तमिलनाडु में कट्टुपल्ली और एन्नोर में स्थित हैं। कंपनी केरल के विजिंजम में एक ट्रांसशिपमेंट पोर्ट भी विकसित कर रही है। हमारे "पोर्ट्स टू लॉजिस्टिक्स प्लेटफॉर्म" में हमारी पोर्ट सुविधाएं, एकीकृत लॉजिस्टिक्स क्षमताएं, और औद्योगिक आर्थिक क्षेत्र शामिल हैं, जो वैश्विक सप्लाई चेन में होने वाले संपूर्ण बदलाव से लाभ उठाने की भारत की तैयारी को देखते हुए, हमें विशेष लाभदायक स्थिति में रखते हैं। हमारी सोच अगले दशक में दुनिया का सबसे बड़ा पोर्ट और लॉजिस्टिक्स प्लेटफॉर्म बनने की है। 2025 तक कार्बन न्यूट्रल होने के दृष्टिकोण से, एपीएसईज़ेड साइंस बेस्ड टारगेट्स इनिशिएटिव (एसबीटीआई) के लिए हस्ताक्षर करने वाला पहला भारतीय पोर्ट और विश्व का तीसरा देश रहा, जो पूर्व-औद्योगिक स्तरों पर 1.5 डिग्री सेल्सियस तक ग्लोबल वार्मिंग को नियंत्रित करने के लिए उत्सर्जन में कमी लाने के लक्ष्य को लेकर प्रतिबद्ध रहाहै। अधिक जानकारी के लिए कृपया www.adaniports.comदेखें। 


मीडिया संबंधी पूछताछ के लिए:

रॉय पॉल I roy.paul@adani.com



निवेशक संबंधों के लिए, कृपया संपर्क करें:


डी. बालासुब्रमण्यम 

हेड – आईआर - अदाणी ग्रुप 

टेलीफोन: 91-79-25559332

d.balasubramanyam@adani.com

apsezir@adani.com


सत्य प्रकाश मिश्रा

सीनियर मैनेजर – आईआर - एपीएसईज़ेड

टेलीफोन: 91-79-25556016

Satyaprakash.mishra@adani.com

apsezir@adani.com

Popular posts
हम फिल्म को यथासंभव वास्तविक रखना चाहते थे": नवोदित निर्देशक सुदर्शन गामारे*
Image
*हीमोलिम्फ' का ट्रेलर लांच* - फिल्म 27 मई 2022 को रिलीज हो रही है। - अब्दुल वाहिद शेख के वास्तविक जीवन की घटनाओं पर आधारित ट्रेलर लिंक: "आखिर में जीत सच्चाई की ही होती है, लेकिन इसे सामने लाने के लिए कष्ट उठाना पड़ता है," जॉर्ज वाशिंगटन के इस कथन से प्रेरणा लेते हुए निर्देशक सुदर्शन गमरे ने फिल्म 'हेमोलिम्फ- द इनविजिबल ब्लड' से डेब्यू किया है। आज रियल वाहिद शेख की मौजूदगी में, निर्माताओं ने फिल्म का ट्रेलर लांच किया। इस मौके पर, निर्देशक सुदर्शन और अभिनेता रियाज़ अनवर उपस्थित थे। रियाज़ अनवर फिल्म में वाहिद शेख की भूमिका निभा रहे हैं। हीमोलिम्फ, एक शिक्षक अब्दुल वाहिद शेख के जीवन की वास्तविक कहानी है, जिस पर 11 जुलाई 2006 को मुंबई ट्रेन बम विस्फोट के बाद गंभीर धाराओं में आरोप लगाए गए थे। इन आरोपों ने वाहिद के साथ ही उसके परिवार को भी झंझोड़ दिया था। फ़िल्म निर्माताओं ने न्याय के लिए वाहिद के संघर्ष को रुपहले पर्दे के माध्यम से लोगों के बीच रखने की कोशिश की है। ट्रेलर में, गलत तरीके से फँसाए गए एक मासूम स्कूल अध्यापक की पीड़ा और उसकी हार ना मानने के संकल्प को दिखाया गया है। 2.09 मिनट के ट्रेलर में वाहिद और उसके परिजनों की न्याय पाने के लिए उठाने पड़ रहे दुश्वारियों को पर्दे पर दिखाया गया है। फ़िल्म के बारे में बात करते हुए, निर्देशक सुदर्शन गामारे ने कहा, "यह मेरी पहली फिल्म है, और कहानी मेरे दिल के बहुत करीब है। मैं पिछले कुछ सालों से इस कहानी को महसूस कर रहा था और चाहता था कि हर कोई झूठे आरोपों में फंसाए गए एक आम आदमी की कहानी को सुने-देखे और महसूस करने की कोशिश करे। मैं टीजर और पोस्टर से मिली प्रतिक्रिया से बहुत उत्साहित हूँ और उम्मीद करता हूँ कि ट्रेलर को भी ऐसी ही प्रतिक्रिया मिलेगी।" फिल्म के बारे में पूछे जाने पर, रियल अब्दुल वाहिद शेख ने बताया, "मेरी आपबीती पर फिल्म बनाने के लिए कई लोगों ने मुझसे संपर्क किया, लेकिन सुदर्शन के दृढ़ विश्वास ने मुझे फिल्म के लिए 'हाँ' कहने को बाध्य कर दिया। उनकी सोच रही कि बिना किसी लाग-लपेट के वास्तव में जो कुछ हुआ है, उसे दिखाया जाए। ट्रेलर देखने के बाद उन डरावने वर्षों से जुड़ी मेरी पिछली यादें ताजा हो गईं। मैं रियाज़ की भी प्रशंसा करना चाहूँगा, जिन्होंने पर्दे पर मेरे किरदार को निभाया है। मुझे उम्मीद है कि यह फिल्म बड़ी संख्या में लोगों तक पहुँचेगी, ताकि वे आपराधिक कार्यवाही में फंसाए जाने वाले एक आम आदमी का दर्द समझ सकें। यह फिल्म टिकटबारी और एबी फिल्म्स एंटरटेनमेंट द्वारा आदिमन फिल्म्स के सहयोग से बनाई गई है। इसके सह-निर्माता एनडी9 स्टूडियोज़ हैं। फिल्म सुदर्शन गमरे द्वारा लिखित और निर्देशित है। फिल्म में अब्दुल वाहिद शेख की भूमिका रियाज़ अनवर ने निभाई है। फिल्म में मुज्तबा अज़ीज़ नाज़ा ने बैकग्राउंड स्कोर दिया है, डायरेक्टर ऑफ फोटोग्राफी रोहन राजन मापुस्कर हैं और फिल्म का संपादन एचएम ने किया है। यह फिल्म 27 मई 2022 को आपके नज़दीकी सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली है।
Image
ओमरॉन हेल्थकेयर ने वाराणसी में नया एक्सपीरियंस एवं सर्विस सेंटर लॉन्च किया इस लॉन्च के साथ ओमरॉन ने टियर टू शहरों में अपनी पहुंच बढ़ाई
Image
साक्षी तंवर हमारे देश की बेहतरीन अभिनेत्रियों में से एक हैं’’ अनिल कपूर, अनुष्‍का शर्मा ने नेटफ्लिक्‍स इंडिया के ‘माई’ पर की तारीफों की बौछार
Image
प्रेस विज्ञप्ति फैंटेसी स्पोर्ट्स प्लेटफॉर्म के लिए एक सक्षम रेगुलेशन के पक्षधर हैं गुजरात के खेल मंत्री