उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर में महाशिवरात्रि के अवसर पर ओम टीवी ऐप लॉन्च किया गया



ऐप का उद्देश्य ‘ज्ञान भी, गर्व भी’की सोच के साथ सभी उम्र के लोगों को ऐतिहासिक, पौराणिक, सांस्कृतिक और धार्मिक भारत की जानकारी देना है।


शुक्रवार, 12 मार्च, 2021, उज्जैन:

भारत का एक्सक्लुसिव ओटीटी प्लेटफॉर्म, ओएम टीवी, पेश करते हुए, यह ऐपवह सब कुछ प्रदान करता है जो हमें स्वयं को भारतीय कहने का आधार देता है। ओम टीवी केवल एक ओटीटी प्लेटफॉर्म नहीं है, यह एक ऐसा विचार है जो मूर्तियों, मंदिर की नक्काशी या संरचनाओं, भोजन संबंधी आदतों, अनुष्ठानों और सबसे ऊपर, भारत कहे जाने वाले राष्ट्र के लोगों की छिपी सांस्कृतिक जड़ों के विभिन्न पहलुओं के माध्यम से, टीम को ज्ञान प्राप्त करने की यात्रा पर जाने के लिए बाध्य करता है। ओम टीवी राष्ट्र की परंपराओं में मौजूद विविधता और गहरे दर्शन को प्रदर्शित करने का एक विनम्र प्रयास है और, जिसकी झलक प्लेटफॉर्म की सोच "ज्ञान भी, गर्व भी"में दिखती है। 


ओम टीवी कहानी कहने की ताकत के जरिये सनातन धर्म के सभी संभव आयामों को पकड़ने का प्रयास है, क्योंकि कहानियां हमारी सांस्कृतिक जड़ों का अभिन्न अंग हैं। यह इस देश के नागरिकों को विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से वैज्ञानिक ज्ञान, संस्कारों और रीति-रिवाजों के पीछे के विज्ञान, और विभिन्न कार्यों में छिपे गहन दर्शन को प्रस्तुत करता है। जहां इसमें दर्शकों के लिए पौराणिक फिल्में और शो हैं तो ‘दी चेयर’ नामक कार्यक्रम में बड़े-बुजुर्गों से बातचीत भी है। एक ओर, यदि आस्था या अन्धविश्वासों पर बहस करने वाला कोई कार्यक्रम है, तो ज्ञान ज्ञान में छोटी-छोटी जानकारियां उपलब्ध हैं। जहां संगीत और भजनों के जरिये दर्शकों को मंत्रमुग्ध करने की कोशिश है, वहीं गीता के चिर स्थायी दर्शन को दैनिक जीवन की सरल कहानियों के माध्यम से सामने लाने का प्रयास भी है।


ओम टीवी चाहता है कि वह जीवन जीने का एक तरीका बने, जिसका उद्देश्य कथा सहित्य या गैर-कथा साहित्य के प्रारूप में अपनी कहानियों के माध्यम से लोगों की कल्पना को साकार करना हो।यह अभी भी विकसित होने की प्रक्रिया में है, ताकि वेदों, पुराणों, उपनिषदों, गुरु ग्रंथ साहिब, सबद, कीर्तन, जातक कथाओं में निहित ज्ञान के माध्यम से हर भारतीय अपनी समृद्ध विरासत पर गर्व करने योग्य बन सके। अपने विकास की प्रक्रिया में, ओम टीवी का उद्देश्य क्विज़ कार्यक्रमों का संचालन करना, विभिन्न शिक्षार्थियों के लिए युगों पुराने योग, पुराणों और जातक कथाओं की एनिमेटेड कहानियां, और श्रद्धेय वेद, गुरु ग्रंथ साहिब से ज्ञान के मोती निकाल कर प्रस्तुत करना है। ओम टीवी लोगों के विवेक को जगाने के लिए किये जा रहे अपने सचेत प्रयास पर गर्व करता हैऔर उम्मीद करता है कि दर्शकों में‘ज्ञान भी, गर्व भी’की सोच भी पैदा हो।

ओम टीवी ऐप की लॉन्चिंग महाशिवरात्रि के मौके पर उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर में हुई। यह मंदिर भारत के कुछ ज्योतिर्लिंग मंदिरों में से एक है जो लॉन्च के महत्व को बेहतर दर्शाता है। इस अवसर पर ‘साराभाई’ से चर्चित हुए अभिनेता राजेश कुमार, स्वतंत्रता सेनानी चंद्रशेखर आज़ाद के पौत्र श्री अमित आजाद और ओएम टीवी ऐप के संस्थापक और निर्माता श्री नितिन जय शुक्ला मौजूद थे। महादेव से आशीर्वाद लेने के बाद, गणमान्य लोगों ने मंदिर में ही ऐप लॉन्च किया तथा इस की प्रासंगिकता और महत्व के बारे में बताया।

ओएम टीवी के के संस्थापक और निर्माता, श्री नितिन जय शुक्ला ने कहा कि “यह मेरे लिए गर्व की बात रही कि मैं महाकालेश्वर मंदिर, उज्जैन में अपना ऐप लॉन्च कर रहा हूं, जो भारत के सबसे ज्यादा देखे जाने वाले ज्योतिर्लिंग में से एक है। महाशिवरात्रि के शुभ अवसर पर इसे लॉन्च करना, इसे और खास बनाता है। हम मध्य प्रदेश की पर्यटन और संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर जी, श्री आशीष सिंह, कलेक्टर, उज्जैन को विशेष धन्यवाद देते हैं, जिन्होंने हमें मंदिर परिसर में ऐप को सुचारू रूप से लॉन्च करने का अवसर प्रदान किया। मेरे मित्र और अभिनेता राजेश कुमार, जो ओम टीवी ऐप के लिए कुछ एंकर लिंक उपलब्ध करानेऔर इस आयोजन का हिस्सा बनने की उदारता दिखायी। अपने महान दादा चंद्रशेखर आज़ाद जी के बारे में बहुमूल्य जानकारी प्रदान करने के लिए और इस कार्यक्रम में आने के लिए श्री अमित आजाद को धन्यवाद देते हैं। ओम टीवी को लेकर हमें विश्वास है कि अपनी समृद्ध विरासत को ज्ञान के माध्यम से गर्व करने और हमारी सोच ‘‘ज्ञान भी, गर्व भी” से खुद को जोड़ने के लिएकोई भी हमारे ऐप से जुड़ना चाहेगा। 

अभिनेता राजेश कुमार ने कहा कि “मैं बचपन से ही महादेव भक्त रहा हूं और व्यक्तिगत रूप से मैंने उनकी दिव्य शक्ति का अनुभव किया है। जब मुझे उज्जैन में महाकालेश्वर मंदिर में ओम टीवी के लॉन्च का हिस्सा बनने के बारे में बताया गया, तो मेरे पास ना कहने का कोई कारण नहीं था। भारत के प्रमुख ज्योतिर्लिंगों में से एक ज्योतिर्लिंग में महाकाल की आरती का साक्षी बनने का ऐसा अवसर मिलना दुर्लभ है। मैं ओम टीवी ऐप के निर्माता नितिन जय शुक्ला के साथ जुड़कर बहुत खुश हूं। वास्तव में, मैंने उनके ऐप के लिए कुछ एंकर लिंक की शूटिंग की है जहां दर्शक मेरा बहुत अलग पक्ष देख सकते हैं। इस ऐप के जरिये हम जहां रहते हैं, उस भारत की सांस्कृतिक, धार्मिक विशेषताओं और विरासत के बारे में लोगों को समझाने की कोशिश कर रहे हैं।"