स्कूलों का धीरे-धीरे फिर से खुलना शुरू हो गया है, लेकिन क्या उन्हें शारीरिक शिक्षा और खेलकूद की गतिविधियां भी शुरू कर देना चाहिए?



भारत के कई राज्यों में स्कूलों के खुलने के कारण वर्ष 2021 की शुरुआत सकारात्मक देखी जा रही है। स्कूल अभी अनियमित तरीके से खुल रहे हैं। हालांकि, यह अत्यंत महत्वपूर्ण है कि स्कूलों के संचालक खेलकूद और शारीरिक शिक्षा को, खासकर वर्तमान परिदृश्य में, अकेडमिक्स के समान ही प्राथमिकता दे रहे हैं।


खेलकूद और पोषण ऐसे दो तत्व हैं जो कई शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य से संबंधित लाभों के साथ, बच्चे की रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्यूनिटी) को बढ़ा सकते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार एक बढ़ते बच्चे को स्वस्थ और चुस्त-दुरुस्त रहने के लिए हर दिन कम से कम 60 मिनट तक जमकर खेलना चाहिए। इसके अलावा, 2019 में अमेरिका में किये गये एक अध्ययन के अनुसार, व्यायाम करने वाले बच्चों की तुलना में व्यायाम में शामिल नहीं रहने वाले बच्चों में चिंता और अवसाद जैसी मानसिक स्वास्थ्य समस्याएं होने की संभावना दोगुनी थी।


बच्चों में चिंता और अवसाद को कम करने के अलावा, खेलकूद तनाव कम करने में मदद करता है, बेंहतर आत्मविश्वास लाता है और उच्च आत्मसम्मान बनाये रखने में मदद करता है। इसकी वजह है शारीरिक गतिविधि या खेलकूद के कारण शरीर के भीतर पैदा होने वाला एंडोर्फिन, जो व्यक्ति को प्रसन्न रखता है और सकारात्मक एहसास प्रदान करता है। इसके अलावा, बच्चों में खेलकूद की भावना, अनुशासन और नेतृत्व से जुड़े मूल्यों की स्थापना भी सामाजिक-भावनात्मक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।


खेलकूद या शारीरिक शिक्षा न केवल बच्चे के स्वास्थ्य, रोग प्रतिरोधक क्षमता और फिटनेस में योगदान करती है, बल्कि उसके शैक्षणिक प्रदर्शन के लिए भी महत्वपूर्ण काम करती है। शारीरिक शिक्षा या खेलकूद आधुनिक शिक्षा का महत्वपूर्ण हिस्सा है। अब तक हो चुके कई अध्ययन बताते हैं कि खेलकूद और शैक्षणिक प्रदर्शन के बीच सीधा और सकारात्मक संबंध है।


उदाहरण के लिए, “बडी और अन्य द्वारा की गई रिसर्च बताती है कि एरोबिक गतिविधयां नहीं करने वाले छात्रों की तुलना में, एरोबिक करने वाले चुस्त-दुरुस्त छात्रों में गणित की परीक्षा पास करने की संभावना 2.4 गुना और रीडिंग टेस्ट पास करने की संभावना दो गुना अधिक होती है। इसके अलावा, 20से 40 मिनट तक ब्रिस्क वॉकिंग (तेज कदमों से चलने) से बच्चों में गणितीय प्रदर्शन में बेहतर होता है।”


इसके अलावा, अध्ययन यह भी बताते हैं कि अंग्रेजी और गणित में उच्च जीपीए का संबंध साप्ताहिक आधार पर खेलकूद में भागीदारी करने के साथ होता है।

बच्चों के साथ सार्थक रूप से जुड़ने और उनकी ध्यानाकर्षण अवधि, उपस्थिति और सहकर्मी संबंधों को बेहतर बनाने में खेलकूद का उपयोग एक उपकरण के रूप में भी किया जा सकता है। इसके अलावा, अध्ययनों से यह भी पता चला है कि व्यवस्थित रूप से तैयार की गई शारीरिक गतिविधि बच्चे के कक्षा संबंधी व्यवहार को लगभग 20% तक बेहतर बना सकती है।


इंस्टीट्यूट ऑफ यूथ स्पोर्ट्स 2009 के अनुसार, अधिकांश बच्चों ने अपने टाइम टेबल में खेलकूद को शामिल करने के बाद स्कूल जाने में दिलचस्पी दिखायी।


खेलकूद बच्चों में 21वीं सदी के कौशल का निर्माण करने में मदद करता है। खेलों से बच्चों में सीखने की 3 सी (क्रिटकल थिंकिंग, कोलोबोरेशन और क्रिएटिविटी, यानी गंभीरता से विचार करना, सहयोग करना और रचनात्मक प्रदर्शन करना) विकसित करने में भी मदद मिलती है। बच्चों कोविज्ञान और गणित की विभिन्न अवधारणाएं जैसे गति, वेग, गुरुत्वाकर्षण और गतिज ऊर्जा आदि खेल की मदद से सिखायी जा सकती है।


अकेडमिक्स के साथ खेलकूद को एकीकृत करने का महत्व समझाते हुए, स्पोर्टस विलेज स्कूल्स के बिजनेस हेड, कृश अयंगर ने कहाकि "यह ध्यान देने योग्य है कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 में बच्चे की शिक्षा के अभिन्न अंग के रूप में खेलकूद और शारीरिक गतिविधि को शामिल किया गया है। मुख्य शैक्षिक पाठ्यक्रम में खेलकूद को जोड़ने से शिक्षकों को बच्चे की विचार प्रक्रिया और सीखने की प्रक्रिया को बेहतर ढंग से समझने में मदद मिलेगी। बच्चे के संपूर्ण विकास पर केंद्रित फॉर्मेटिव असेसमेंट विकसित करने में भी खेल महत्वपूर्ण उपकरण हो सकत

Popular posts
हम फिल्म को यथासंभव वास्तविक रखना चाहते थे": नवोदित निर्देशक सुदर्शन गामारे*
Image
अपना दल (एस) मध्य प्रदेश कार्यकारिणी का गठन, विभिन्न पदों पर सौंपी जिम्मेदारियां अनुभवी, युवा व महिला सदस्यों पर जोर स्वदेशी कू समेत सभी सोशल प्लेटफॉर्म्स पर सक्रियता डिजिटल टूल्स द्वारा नए सदस्यों को जोड़ने की कवायद
Image
न्यूज 24 (बीएजी नेटवर्क) ने पॉडकास्ट 24- आवाज सबकी किया लॉन्च
Image
भारत का सबसे बड़ा कार डीलरशिप नेटवर्क, ग्रुप लैंडमार्क अब पंजाब पहुंचा o ग्रुप लैंडमार्क ने राज्य में दो नए लैंडमार्क शोरूम लॉन्च करते हुए पंजाब में अपनी मौजूदगी बढ़ाई। o जीप मेरिडियन में 2.0-लीटर टर्बोचार्ज्ड डीजल इंजन लगा हुआ है। o इस इवेंट में लोकप्रिय गायक जस्सी गिल के साथ ग्रुप लैंडमार्क की एम.डी गरिमा मिश्रा और सी.एम.ओ रेणुका डुडेजा ने भागीदारी की। लुधियाना, 21 मई, 2022: भारत में सबसे बड़े कार डीलरशिप नेटवर्क का परिचालन करने वाले, ग्रुप लैंडमार्क, ने पंजाब में दो नए लैंडमार्क शोरूम लॉन्च करने की घोषणा की। इन दो नए जीप लैंडमार्क शोरूम में से पहला लुधियाना में, और दूसरा जालंधर में स्थित है। कंपनी ने नई जीप मेरिडियन एसयूवी के साथ नए बाजार में अपनी मौजूदगी दर्ज की है, जिसे हाल ही में 29.9 लाख रुपये से लेकर 36.95 लाख रुपये (एक्स-शोरूम) की प्रारंभिक मूल्य सीमा के साथ लॉन्च किया गया था। इस मेड-इन-इंडिया और मेड-फॉर-इंडिया थ्री-रो जीप एसयूवी को लुधियाना के लैंडमार्क जीप शोरूम में एक इवेंट में प्रदर्शित किया गया, जिसमें लोकप्रिय गायक जस्सी गिल तथा ग्रुप लैंडमार्क की एम.डी गरिमा मिश्रा और सी.एम.ओ रेणुका डुडेजा ने भाग लिया। पंजाब में दो नए लैंडमार्क शोरूम के लॉन्च के मौके पर, ग्रुप लैंडमार्क के चेयरमैन और संस्थापक, संजय ठक्कर ने कहा कि "1998 से, ग्रुप लैंडमार्क ने अपना ध्यान देश में कार खरीदारों को एक नया अनुभव प्रदान करने पर केंद्रित किया है, जिसकी वजह से कंपनी इंडस्ट्री की प्रमुख कंपनी के रूप में विकसित हुई है, और इस उपलब्धि को हासिल करने में देश भर में बेहतरीन कार डीलरशिप के विशाल नेटवर्क की महत्वपूर्ण भूमिका है। इस विकास यात्रा को जारी रखते हुए, पंजाब हमारे लिए साफ तौर पर एक पसंदीदा जगह थी, क्योंकि क्षेत्र के निवासियों की बढ़ती संपन्नता के कारण, यह राज्य क्षमताओं से भरा हुआ है। जीप मेरिडियन पहले से ही जोखिम उठाने की अपनी साहसिक विशेषज्ञता के लिए जाना जाता है और अब यह वाहन राज्य में ग्रुप लैंडमार्क की मौजूदगी की घोषणा करने के लिए एक आदर्श वाहन के रूप में मौजूद रहा।” पंजाब के ऑटोमोटिव बाजार में ग्रुप लैंडमार्क का प्रवेश ग्रुप लैंडमार्क के दो जीप डीलरशिप के लॉन्च के साथ शुरू हो गया है: एक जालंधर में और दूसरा लुधियाना में। जालंधर शोरूम, जीटी रोड पर स्थित है, जो कुल 12,000 वर्ग फुट के क्षेत्र में फैला हुआ है, और लुधियाना शोरूम कुल 8,000 वर्ग फुट के क्षेत्र में फैला हुआ है। जीप मेरिडियन अपने साथ उत्साह और विशेषज्ञता का एक अनूठा मिश्रण लेकर आया है, जिसमें एडवान्स्ड आर्किटेक्चर, शानदार डिजाइन, शक्तिशाली तकनीकी खूबियों और पूरे सेगमेंट में अग्रणी रूप से मौजूद कई विशेषताएं हैं। इसके अलावा, इसमें फ़्रीक्वेंसी सेलेक्टिव डैम्पिंग (एफएसडी) तकनीक के साथ पूरी तरह से स्वतंत्र फ्रंट एवं रियर सस्पेंशन सेटअप, सबसे अच्छा कूलिंग परफॉरमेंस आदि शामिल हैं। जीप मेरिडियन 2.0-लीटर टर्बोचार्ज्ड डीजल इंजन द्वारा परिचालित है जो 3,750 आरपीएम पर 125 किलोवाट (170 एचपी) जेनेरेट करता है और 1,750-2,500 आरपीएम के बीच 350 एनएम का अधिकतम टॉर्क उपलब्ध है। दोनों उपलब्ध ट्रिम्स, यानी लिमिटेड और लिमिटेड (O), 4x2 फ्रंट-व्हील ड्राइव और छह-स्पीड मैनुअल ट्रांसमिशन और नौ-स्पीड ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन के विकल्प के साथ उपलब्ध हैं। लिमिटेड (O) ट्रिम में 4x4 ऑल-व्हील ड्राइव के साथ नौ-स्पीड ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन भी उपलब्ध है। ग्रुप लैंडमार्क के बारे में ग्रुप लैंडमार्क भारत में सबसे बड़े प्रीमियम और लक्जरी ऑटोमोटिव रिटेल व्यवसायों में से एक है, जिसमें मर्सिडीज-बेंज, वोक्सवैगन, होंडा, जीप, रेनॉल्ट और बीवाईडी जैसे शीर्ष स्तरीय ब्रांड की डीलरशिप उपलब्ध है। ग्राहकों को शुरू से अंत तक अद्वितीय खरीदारी अनुभव प्रदान करने के लिए, कंपनी सामान्य ऑटोमोटिव डीलरशिप के दायरे से आगे है, क्योंकि ऑटोमोटिव रिटेल वैल्यू चेन में ग्रुप लैंडमार्क की मजबूत उपस्थिति है। इसके अलावा, इसमें नए वाहनों की बिक्री के अलावा कई सारी सेवाएं शामिल हैं, जैसे पूर्व-स्वामित्व वाले यात्री वाहनों की आफ्टर-सेल्स सर्विस और थर्ड पार्टी फाइनेंशियल और इंश्योरेंस प्रोडक्ट्स। ग्रुप लैंडमार्क ने 1998 में अपनी पहली डीलरशिप शुरू की, और तब से, आठ राज्यों में 115 आउटलेट्स को शामिल करके अपने नेटवर्क का विस्तार किया है। ग्रुप लैंडमार्क के बारे में अधिक जानकारी के लिए देखें: www.grouplandmark.in
Image
साक्षी तंवर हमारे देश की बेहतरीन अभिनेत्रियों में से एक हैं’’ अनिल कपूर, अनुष्‍का शर्मा ने नेटफ्लिक्‍स इंडिया के ‘माई’ पर की तारीफों की बौछार
Image