मायावती ने साधा कांग्रेस पर निशाना; मुद्दा: महिलाओं को

 




बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अध्यक्ष मायावती ने उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में 40 प्रतिशत टिकट महिलाओं को देने का ऐलान करने वाली कांग्रेस पर निशाना साधा है। उनका कहना है कि इस पार्टी की सरकार ने आधी आबादी के कल्याण के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए हैं। 

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री, मायावती ने सोशल माइक्रोब्लॉगिंग कू  ऐप  के माध्यम से यह भी कहा कि कांग्रेस एसी महिलाओं को वाजिब भागीदारी देना चाहती थी, तो उसने अपने शासनकाल में संसद और विधानसभाओं में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने का कानून क्यों नहीं बनाया।

बसपा महासचिव सतीश मिश्रा ने कू ऐप के जरिए बताया कि कांग्रेस पंजाब में कभी झूठा दलित प्रेम दिखाती है तो कभी यूपी में महिलाओं की हितैषी बनने का नाटक करती है। लेकिन बहुजन समाज पार्टी काम करने में विश्वास रखती है और आदरणीय बहन मायावती जी के मुख्यमंत्रित्व काल में सर्व समाज के लिए कार्य भी हुआ है।

वहीं मायावती कहती हैं, "कांग्रेस जब सत्ता में होती है और उसके अच्छे दिन होते हैं, तो उसे दलित, पिछड़े और महिलाओं आदि की याद नहीं आती, किन्तु अब जब इनके बुरे दिन नहीं हट रहे होते हैं, तो पंजाब में दलित की तरह यूपी में इन्हें महिलाएं याद आ जाती हैं। उन्हें 40 प्रतिशत टिकट देने की घोषणा कांग्रेस की कोरी चुनावी नाटकबाजी है। महिलाओं के प्रति कांग्रेस की चिन्ता यदि इतनी ही वाजिब और ईमानदार होती, तो केन्द्र में उसकी सरकार ने संसद और विधानसभाओं में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने का कानून क्यों नहीं बनाया? कहना कुछ और करना कुछ कांग्रेस का स्वभाव है, जो उसकी नीयत और नीति पर प्रश्नचिन्ह खड़ा करता है।" 

मायावती ने कहा, "यूपी और देश में महिलाओं की आधी आबादी है तथा इनका हित और कल्याण ही नहीं बल्कि इनकी सुरक्षा, आदर-सम्मान के प्रति ठोस और ईमानदार प्रयास सतत् प्रक्रिया है, जिसके प्रति मजबूत इच्छाशक्ति जरूरी है, जो कांग्रेस और भाजपा आदि में देखने को नहीं मिलती है, जबकि बसपा ने ऐसा करके दिखा दिया है।" 

गौरतलब है कि कांग्रेस महासचिव और पार्टी की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाद्रा ने मंगलवार को एक संवाददाता सम्मेलन में ऐलान किया कि उनकी पार्टी प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में 40 फीसद सीटों पर महिला उम्मीदवार उतारेगी।

  


नेशनल: वरिष्ठ नागरिकों के लिए खुशखबरी है. अब सीनियर सिटीजन को कभी पैसे की दिक्कत नहीं होगी. सरकार सीनियर सिटीजन को एक मौका दे रही है  जहाँ वे अपना पैसा 5  से अधिक के लिए निवेश कर सकती है जिसमें वरिष्ठ नागरिकों  को साडी जानकारी इंडिया पोस्ट ( India Post) के पोर्टल पर उपलब्ध है और देश के हर डाक घर पर भी आप पूरी जानकारी जुटा  सकते हैं | 


*वरिष्ठ नागरिकों के लिए शानदार मौका*


सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम (एससीएसएस) की परिपक्वता अवधि 5 वर्ष की है । अगर कोई भी वरिष्ठ नागरिक को इसकी अवधि बढ़ाना चाहते है वो एक लिखित में आवेदन दे सकते है और इसकी बचत की अवधि को अगले 3  साल के लिए बड़ा सकते है 



पोस्ट ऑफिस की सीनियर सिटीजन्स सेविंग्स स्कीम में निवेशकों को 7.4 फीसदी की दर से ब्याज मिलता है। सिर्फ 5 वर्षों में यह पैसा 14 लाख तक पहुँच सकता है। सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम में खाता खुलवाने के लिए उम्र 60 वर्ष या उससे अधिक होना चाहिए। 


इस राशि से खुलवा सकते हैं खाता


इस स्कीम में खाता खुलवाने के लिए न्यूनतम राशि 1000 रुपए है। इसके साथ ही खाते में आप 15 लाख रुपए से अधिक पैसा नहीं रख सकते हैं। एक लाख रुपए से कम रकम होने पर आप नकद पैसे देकर भी खाता खुलवा सकते हैं। वहीं, एक लाख रुपए से ज्यादा पर खाता खुलवाने के लिए आपको चेक देना होगा।  


मैच्योरिटी पीरियड है 5 साल का 

SCSS का मैच्योरिटी पीरियड 5 साल का है। लेकिन यदि निवेशक चाहे, तो इस समय सीमा को बढ़ाया भी जा सकता है। इंडिया पोस्ट वेबसाइट के मुताबिक, आप मैच्योरिटी के बाद इस स्कीम को 3 साल के लिए बढ़ा सकते हैं। इसके लिए आपको पोस्ट ऑफिस में जाकर आवेदन करना होगा।  


खुलवा सकते हैं जॉइंट अकाउंट


SCSS के तहत व्यक्तिगत तौर पर या अपनी पत्नी/पति के साथ जॉइंट अकाउंट भी खुलाया जा सकता है। लेकिन सभी को मिलाकर मैक्सिमम इन्वेस्टमेंट लिमिट 15 लाख से ज्यादा नहीं हो सकती। खाता खोलते और बंद कराते समय नॉमिनेशन फैसिलिटी उपलब्ध है।   


*प्रीमैच्योर क्लोजिंग*


SCSS के तहत प्रीमैच्योर क्लोजर की अनुमति है, लेकिन खाता खुलवाने के 1 साल बाद इसे बंद करने पर डिपॉजिट का 1.5 फीसदी काटा जाएगा, वहीं 2 साल बाद बंद करने पर डिपॉजिट का 1 फीसदी काटा जाएगा। 


*टैक्स में मिलती है छूट*

टैक्स की बात करें, तो यदि SCSS के तहत आपकी ब्‍याज राशि 10,000 रुपए सालाना से ज्‍यादा हो जाती है, तो आपका TDS कटने लगता है। हालाँकि इस स्कीम में इन्वेस्टमेंट पर इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80C के तहत छूट है।


आपको बता दें कि देश में पहली बार वरिष्ठ नागरिकों के लिए इस तरह कि स्कीम सीनियर सिटीजन के लिए इंडिया पोस्ट (India Post) लेके आया है | 

इसके अलावा हाल ही में वरिष्ठ  नागरिकों के लिए इंडिया पोस्ट (India Post) ने   रोजगार एक्सचेंज (Employment Exchange) भी लांच किया | जिसमें वरिष्ठ नागरिकों को उनके हिसाब की नए सिरे से नौकरी दी जाएगी और 1 अक्टूबर से यह एक्सचेंज शुरू हुआ है |


<iframe src="https://embed.kooapp.com/embedKoo?kooId=8fa97544-c5cc-4f88-9e3d-86f7a554d01a" class="kooFrame"></iframe><script src="https://embed.kooapp.com/iframe2.js"></script>

Popular posts
मुंबई में 2008 में हुए आतंकी हमले की आज 13वीं बरसी, सोशल मीडिया पर लोग दे रहे श्रद्धांजलि
Image
मैरिको लिमिटेड ने अपनी निहार शांति पाठशाला फनवाला पहल के तहत बिहार सरकार के साथ समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किया
Image
*Karva Chauth on Ind Vs Pak T20 World Cup 2021 Memes: करवा चौथ पर आई मीम्स की बाढ़, इन्हें देखकर नहीं रोक पाएंगे हंसी*
Image
Madhya Pradesh Amazon Smuggling Case*- *अनुचित कारोबार पर रोक लगाने के लिए प्रदेश सरकार जल्द ही जल्द ही उचित नीति बनाकर केंद्र सरकार को भेजेगी* डॉ नरोत्तम मिश्रा
Image
सुशील मोदी का गांधी पर हमला- 26/11 पर हमला करने के लिए नियमित जांच पर चेक
Image