अबकी बार सिर्फ बसपा सरकार; जनता ने बना लिया है मन: सतीश चंद्र मिश्रा*



आगामी उत्तर प्रदेश चुनाव 2022 का बिगुल बज चुका है। सभी राजनैतिक पार्टियां वोटरों को लुभाने में और जातिगत समीकरण बैठाने में लगी हुई हैं। जहाँ एक तरफ समाजवादी पार्टी प्रबुद्ध सम्मलेन आयोजित कर रही है, तो कांग्रेस ने भी किसानों का मुद्दा उठा कर प्रियंका गाँधी के चेहरे के साथ वाराणसी से चुनाव का बिगुल फूँक दिया है और आगामी चुनाव में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है।  


इसी कड़ी में बहुजन समाज पार्टी ने भी चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी है, बसपा में नंबर 2 माने जाने वाले, राज्य संसद और मायावती के करीबी सतीश चंद्र मिश्रा ने कू (koo) ऐप पर पोस्ट कर  चुनावी सरगर्मी बढ़ा दी है।  दरअसल उन्होंने कू ऐप पर एक वीडियो शेयर किया है जिसमें बसपा का एक समर्थक दिखाई पढ़ रहा है और 2022 में बहुजन समाज पार्टी की सरकार बनने का दावा कर रहा है। 


इस वीडियो को शेयर करे हुए वे कहते हैं-  #जनता ने मन बना लिया है #बसपा को लाने के लिए देखें वीडियो ,


                                                                          #अबकी बार सिर्फ #बसपा की #सरकार।  

 <iframe src="https://embed.kooapp.com/embedKoo?kooId=b37269a7-20d8-4530-8fc3-5d35e2bd8f4c" class="kooFrame"></iframe><script src="https://embed.kooapp.com/iframe2.js"></script>



क्या है इसके मायने?  

दरअसल 2012 के बाद से बसपा सत्ता से बाहर है और पिछले विधानसभा चुनावों में भी पार्टी का प्रदर्शन बहुत ख़राब रहा।  विधानसभा के अलावा लोकसभा में भी मोदी लहर के चलते पार्टी  2014 में शून्य पर सिमट गयी थी तो 2019 में केवल 10 सीट पर ही जीत हासिल कर पायी थी।

वहीं विधानसभा चुनाव की बाद करें तो 2007 में पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने के बाद 2012 में 80  सीटे तो 2017 में केवल 19 सीटों पर सिमट कर रह गयी थी। 


2007 में, ''हाथी नहीं गणेश है ब्रह्मा विष्णु महेश है'' के नारे के सहारे बसपा को अपने पारम्परिक दलित वोटों के साथ-साथ ब्राह्मणों का भी साथ मिया था, जिसके बूते वह पूर्ण बहुमत की सरकार बना पायी थी, लेकिन 2012 आते-आते ब्राह्मणों ने उनका साथ छोड़ दिया और 2017 में उनका परंपरागत वोट बैंक भी बहुत हत तक उनसे छिटक गया जिसके कारण पार्टी विधानसभा में केवल 19 सीटों पर सिमट कर रह गयी थी।


 इस चुनाव को बसपा के लिए अस्तित्व की लड़ाई माना जा रहा है , इसलिए इस बार पार्टी आगामी चुनाव में पूरी ताकत से उतरने का फैसला किया है।

Popular posts
मिलिए एंडटीवी के 'हप्पू की उलटन पलटन' की नई दबंग दुल्हनिया 'राजेश' उर्फ ​​गीतांजलि मिश्रा से!
Image
चेन्नई प्लांट के उद्घाटन के साथ अपनी रणनीतिक पार्टनरशिप की शुरुआत करेंगे टीएसएफ ग्रुप और माइंड एस.आर.एल. लेगारो अपने ग्लोबल फुटप्रिंट्स के साथ सर्वश्रेष्ठ इटालियन और इंडियन कार्बन कंपोजिट को एकीकृत करता है। यह ब्रांड माइंड एस.आर.एल. की समृद्ध इटालियन मोटर वैली विरासत को साथ लाता है और ग्लोबल कार्बन कंपोजिट को, वास्तविकता के करीब एक कदम आगे ले जाने के लिए टीएसएफ समूह (तत्कालीन टीवीएस समूह का हिस्सा) का हाई- क्वालिटी स्केलेबल मैन्युफैक्चरिंग अनुभव प्रदान करता है।
Image
नेवर बैक डाउन : रिवोल्ट’ के हिंदी टेलीविजन प्रीमियर में देखिए अंडरग्राउंड अपराध की रोमांचक दुनिया की दिलचस्प दास्तान, 23 मार्च को एंड पिक्चर्स पर जरा सोचिए कि आप एक ऐसी स्थिति में फंस गए हैं, जहां से बाहर निकलने का सिर्फ एक ही तरीका है कि आप अपनी आजादी के लिए लड़ें।
Image
गोल्डनबॉय, पंकज आडवाणी मार्च में अजेय रहे या ऐसक्यूइस्ट पंकज आडवाणी मार्च में एक अजेय योद्धा बनने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।
Image
एमवे इंडिया ने युवाओं एवं महिलाओं के बेहतर स्वास्थ्य को सुनिश्चित करने के लिए रेसलर संग्राम सिंह के साथ की साझेदारी
Image