अबकी बार, जनता का पलटवार- मध्य प्रदेश में कांग्रेस साधा बीजेपी पर निशाना*



*मध्यप्रदेश में खंडवा लोकसभा सीट और पृथ्वीपुर, रैगांव, जोबट विधानसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार का आज आखिरी दिन है* 

*मध्य प्रदेश में तीन विधानसभा सीटों पर उपचुनाव की वोटिंग 30 अक्टूबर को होनी है*


*भोपाल* मध्य प्रदेश में पंचायत चुनावों (MP Panchayat Chunav) की आहट अब तेज हो गई है. मध्यप्रदेश में एक लोकसभा और तीन विधानसभा सीटों पर उपचुनाव की वोटिंग 30 अक्टूबर को होनी है। इसको लेकर कांग्रेस और भाजपा नेताओं में बयानबाजी तेज हो गई है। 


मध्‍यप्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्‍यक्ष कमलनाथ (Kamal Nath) ने किसानों (Farmers) को लेकर राज्‍य की शिवराज सरकार पर जमकर हमला बोला है|  कमलनाथ ने प्रदेश में खाद संकट को लेकर राज्‍य की बीजेपी सरकार को कटघरे में खड़ा करने की कोशिश की | कमलनाथ ने एक के एक कई Koo कर शिवराज सरकार (Shivraj government) पर निशाना साधा है.


पूर्व सीएम (मुख्य मंत्री)  कमलनाथ ने पर कहा कि, खुद को किसान हितेषी बताने वाली शिवराज सरकार में खाद का संकट भयावह हो गया है. किसान एक-एक बोरी के लिए परेशान हो रहा है और रोज़ सड़कों पर प्रदर्शन कर रहा है. वहीं दूसरी तरफ़ खाद की जमकर कालाबाज़ारी भी जारी है. खुद को किसान हितेषी बताने वाली शिवराज सरकार में खाद का संकट भयावह


प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने अपने रैलियों के दौरान भी दावा किया कि ‘इससे पहले, लाखों किसानों को अपात्र घोषित कर वसूली के नोटिस दिए गए थे। अधिकारी प्रतिदिन ऐसे किसानों को वसूली के लिए धमका रहे हैं, गरीब किसान कर्ज लेकर, गहने गिरवी रखकर राशि वापस कर रहे हैं।’ उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार केवल उपचुनावों के कारण किसानों के खाते में पैसे डाल रही है।


उन्होंने कहा, ‘जैसे ही चुनाव खत्म होगें किसानों को पैसे की वसूली के लिए नोटिस भेजा जाएगा... यह किसान की सम्मान निधि किसान अपमान निधि बन गई है।’ कमलनाथ ने दावा किया कि भाजपा सरकार ने स्वीकार किया था कि मुख्यमंत्री के रुप में उनके (कमलनाथ) 15 महीने के कार्यकाल के दौरान 27 लाख किसानों के फसल ऋण माफ किए गए थे।



<iframe src="https://embed.kooapp.com/embedKoo?kooId=9e787b10-66f4-4557-95b1-f81379887af4" class="kooFrame"></iframe><script src="https://embed.kooapp.com/iframe2.js"></script>


*पलायन के मुद्दे पर कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर साधा निशाना*

कमलनाथ ने कहा कि आदिवासी बहुल अलीराजपुर (Alirajpur) जिले के लोग रोजगार की तलाश में पलायन करने को मजबूर हैं. कमलनाथ ने प्रदेश की बीजेपी सरकार पर अलीराजपुर जिले में रोजगार मुहैया कराने में विफल रहने का आरोप लगाया. 


पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘रोजगार के अवसरों की कमी के कारण जिले के लोग दूसरे राज्यों की ओर पलायन कर रहे हैं. मध्य प्रदेश में बीजेपी सरकार ने निवेश आकर्षित करने के लिए बुनियादी ढांचा ही नहीं बनाया है, जिससे रोजगार पैदा हो सके." उन्होंने कहा कि निवेश तब आता है जब विश्वास का माहौल विकसित होता है. कमलनाथ ने आरोप लगाया कि शिवराज सिंह चौहान के कार्यकाल में किसान आत्महत्या, महिलाओं पर अत्याचार और बेरोजगारी के मामले में मध्य प्रदेश का नंबर देश में पहले स्थान पर है. उन्होंने बढ़ती ईंधन की कीमतों पर भी लोगों के सामने बात रखी.


दूसरे में अन्होनें कहा कि शिवराज सरकार में भ्रष्टाचार की एक नई व्यवस्था बनी है कि पैसा दो और काम लो।आज हमारा नौजवान बिना काम का, किसान बिना दाम का और लोग पूछते हैं 


*शिवराज जी आप किस काम के *

शिवराज जी के कान नहीं चलते, उनकी आंख नहीं चलती, उनका तो बस मुंह चलता है।  


<iframe src="https://embed.kooapp.com/embedKoo?kooId=4475f068-9267-475a-9e37-9976a9eaff51" class="kooFrame"></iframe><script src="https://embed.kooapp.com/iframe2.js"></script>


*कमलनाथ ने कोरोना की दूसरी लहर में किया था सावधान*

यही नही कमलनाथ नें कोरोना संकट को लेकर भी शिवराज  सरकार पर सवाल उठाए और सोशल मीडिया पर Koo कर लिखा, मैंने खुद शिवराज जी को कोरोना की दूसरी लहर में सावधान किया था लेकिन उन्होंने कोरोना को लेकर कोई प्रबंध नहीं किए, वह तो कोरोना को डरोंना बताते रहे।


आप सभी ने देखा कि किस प्रकार ऑक्सीजन, रेमड़ेसिविर इंजेक्शन का निर्यात करते रहे और देश में लोग इसके लिये भटकते रहे।


<iframe src="https://embed.kooapp.com/embedKoo?kooId=87328e80-b448-4eaa-b4c3-97b080ef58d4" class="kooFrame"></iframe><script src="https://embed.kooapp.com/iframe2.js"></script>


ये नाटक, नौटंकी और भाषणों से कोरोना को भगाते रहे। हमारे प्रदेश में कोरोना से ढाई लाख से अधिक मौतें हुई, कई लोगों ने अपने परिजनों को, रिश्तेदारों को खोया लेकिन यह आंकड़े दबाते रहे, छुपाते रह , फर्जी आंकड़े सामने लाते रहे, जनता यह भूलने वाली नहीं है।


<iframe src="https://embed.kooapp.com/embedKoo?kooId=7563b33b-0743-41cb-8045-34661bc2d815" class="kooFrame"></iframe><script src="https://embed.kooapp.com/iframe2.js"></script>


सरकर पर हमले के साथ साथ कमलनाथ ने कांग्रेस की नीतियां, वादे और इरादे पर भी गौर डाला, इंदिरा गांधी जी की एक सोच थी, उन्होंने आदिवासियों के लिए वन अधिकार कानून बनाया, उसका फायदा आज तक आदिवासी भाईयो को मिल रहा है।

मेरी सरकार में हमने आदिवासी भाईयो के पट्टे की व्यवस्था का सरलीकरण किया, हम नहीं चाहते थे कि आदिवासी वर्ग पट्टों को लेकर परेशान हो।


<iframe src="https://embed.kooapp.com/embedKoo?kooId=6cc67ef7-12d4-41e0-a079-87bf4ea2237c" class="kooFrame"></iframe><script src="https://embed.kooapp.com/iframe2.js"></script>


आपको बता दें कि मध्यप्रदेश में खंडवा लोकसभा सीट और पृथ्वीपुर, रैगांव, जोबट विधानसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार का आज आखिरी दिन है। भाजपा और कांग्रेस दोनों ही पार्टियों ने सभी सीटों पर पूरा जोर लगा दिया है। इन सीटों पर 30 अक्टूबर को वोटिंग और 2 नवंबर को मतगणना होनी है

Popular posts
हम फिल्म को यथासंभव वास्तविक रखना चाहते थे": नवोदित निर्देशक सुदर्शन गामारे*
Image
*हीमोलिम्फ' का ट्रेलर लांच* - फिल्म 27 मई 2022 को रिलीज हो रही है। - अब्दुल वाहिद शेख के वास्तविक जीवन की घटनाओं पर आधारित ट्रेलर लिंक: "आखिर में जीत सच्चाई की ही होती है, लेकिन इसे सामने लाने के लिए कष्ट उठाना पड़ता है," जॉर्ज वाशिंगटन के इस कथन से प्रेरणा लेते हुए निर्देशक सुदर्शन गमरे ने फिल्म 'हेमोलिम्फ- द इनविजिबल ब्लड' से डेब्यू किया है। आज रियल वाहिद शेख की मौजूदगी में, निर्माताओं ने फिल्म का ट्रेलर लांच किया। इस मौके पर, निर्देशक सुदर्शन और अभिनेता रियाज़ अनवर उपस्थित थे। रियाज़ अनवर फिल्म में वाहिद शेख की भूमिका निभा रहे हैं। हीमोलिम्फ, एक शिक्षक अब्दुल वाहिद शेख के जीवन की वास्तविक कहानी है, जिस पर 11 जुलाई 2006 को मुंबई ट्रेन बम विस्फोट के बाद गंभीर धाराओं में आरोप लगाए गए थे। इन आरोपों ने वाहिद के साथ ही उसके परिवार को भी झंझोड़ दिया था। फ़िल्म निर्माताओं ने न्याय के लिए वाहिद के संघर्ष को रुपहले पर्दे के माध्यम से लोगों के बीच रखने की कोशिश की है। ट्रेलर में, गलत तरीके से फँसाए गए एक मासूम स्कूल अध्यापक की पीड़ा और उसकी हार ना मानने के संकल्प को दिखाया गया है। 2.09 मिनट के ट्रेलर में वाहिद और उसके परिजनों की न्याय पाने के लिए उठाने पड़ रहे दुश्वारियों को पर्दे पर दिखाया गया है। फ़िल्म के बारे में बात करते हुए, निर्देशक सुदर्शन गामारे ने कहा, "यह मेरी पहली फिल्म है, और कहानी मेरे दिल के बहुत करीब है। मैं पिछले कुछ सालों से इस कहानी को महसूस कर रहा था और चाहता था कि हर कोई झूठे आरोपों में फंसाए गए एक आम आदमी की कहानी को सुने-देखे और महसूस करने की कोशिश करे। मैं टीजर और पोस्टर से मिली प्रतिक्रिया से बहुत उत्साहित हूँ और उम्मीद करता हूँ कि ट्रेलर को भी ऐसी ही प्रतिक्रिया मिलेगी।" फिल्म के बारे में पूछे जाने पर, रियल अब्दुल वाहिद शेख ने बताया, "मेरी आपबीती पर फिल्म बनाने के लिए कई लोगों ने मुझसे संपर्क किया, लेकिन सुदर्शन के दृढ़ विश्वास ने मुझे फिल्म के लिए 'हाँ' कहने को बाध्य कर दिया। उनकी सोच रही कि बिना किसी लाग-लपेट के वास्तव में जो कुछ हुआ है, उसे दिखाया जाए। ट्रेलर देखने के बाद उन डरावने वर्षों से जुड़ी मेरी पिछली यादें ताजा हो गईं। मैं रियाज़ की भी प्रशंसा करना चाहूँगा, जिन्होंने पर्दे पर मेरे किरदार को निभाया है। मुझे उम्मीद है कि यह फिल्म बड़ी संख्या में लोगों तक पहुँचेगी, ताकि वे आपराधिक कार्यवाही में फंसाए जाने वाले एक आम आदमी का दर्द समझ सकें। यह फिल्म टिकटबारी और एबी फिल्म्स एंटरटेनमेंट द्वारा आदिमन फिल्म्स के सहयोग से बनाई गई है। इसके सह-निर्माता एनडी9 स्टूडियोज़ हैं। फिल्म सुदर्शन गमरे द्वारा लिखित और निर्देशित है। फिल्म में अब्दुल वाहिद शेख की भूमिका रियाज़ अनवर ने निभाई है। फिल्म में मुज्तबा अज़ीज़ नाज़ा ने बैकग्राउंड स्कोर दिया है, डायरेक्टर ऑफ फोटोग्राफी रोहन राजन मापुस्कर हैं और फिल्म का संपादन एचएम ने किया है। यह फिल्म 27 मई 2022 को आपके नज़दीकी सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली है।
Image
ओमरॉन हेल्थकेयर ने वाराणसी में नया एक्सपीरियंस एवं सर्विस सेंटर लॉन्च किया इस लॉन्च के साथ ओमरॉन ने टियर टू शहरों में अपनी पहुंच बढ़ाई
Image
साक्षी तंवर हमारे देश की बेहतरीन अभिनेत्रियों में से एक हैं’’ अनिल कपूर, अनुष्‍का शर्मा ने नेटफ्लिक्‍स इंडिया के ‘माई’ पर की तारीफों की बौछार
Image
प्रेस विज्ञप्ति फैंटेसी स्पोर्ट्स प्लेटफॉर्म के लिए एक सक्षम रेगुलेशन के पक्षधर हैं गुजरात के खेल मंत्री