सुशील मोदी का गांधी पर हमला- 26/11 पर हमला करने के लिए नियमित जांच पर चेक




बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री औऱ भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी की किताब में लिखे मुंबई 26/11 आतंकी हमले के मामले पर हमला बोला है। सुशील मोदी ने कहा है कि जब मनीष तिवारी ने अपनी किताब में स्वीकार किया है कि मुंबई पर 26/11 के आतंकी हमले के बाद तत्कालीन कांग्रेस सरकार का पाकिस्तान के खिलाफ कोई कार्रवाई न करना देश की सुरक्षा से खिलवाड़ था, तो इस पर कांग्रेस मुखिया सोनिया गांधी को अपनी चुप्पी तोड़नी चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने अन्य विपक्षी दलों पर भी निशाना साधते हुए कहा है कि सभी नेता भी बताएं कि देश के साथ विश्वासघात करने वाली पार्टी के साथ वे चुनावी तालमेल क्यों करते हैं? क्या विपक्ष के लिए चुनावी जीत देश से बड़ी है?


सुशील मोदी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Koo पर की गई एक पोस्ट में लिखा, पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने जब अपनी किताब में स्वीकार किया है कि मुंबई पर 26/11 के आतंकी हमले के बाद तत्कालीन कांग्रेस सरकार का पाकिस्तान के खिलाफ कोई कार्रवाई न करना देश की सुरक्षा से खिलवाड़ था, तब इस मुद्दे पर सोनिया गांधी को चुप्पी तोड़नी चाहिए।


साथ ही उन्होंने मोदी सरकार की उपलब्धि गिनवाते हुए Koo App पर लिखा कि 2008 में मुंबई पर आतंकी हमला और 170 देशवासियों की जान लेने के बाद भी कांग्रेस ने पराक्रमी भारतीय सेना के हाथ बांधें रखे थे, लेकिन आठ साल बाद जब पुलवामा में आतंकी हमला हुआ और 44 जवान शहीद हुए, तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सेना-वायुसेना को पूरी छूट दी और पड़ोसी की सीमा में घुस कर ऐसा सर्जिकल स्ट्राइक किया गया कि पाकिस्तान घुटनों के बल आ गया।


https://www.kooapp.com/koo/sushilmodi/473038da-be67-4cbf-9c46-801f6341f001


https://www.kooapp.com/koo/sushilmodi/3a836867-51b8-4582-b412-7e95293fde6f


https://www.kooapp.com/koo/sushilmodi/96bdeb83-40c0-4404-ae45-066c66680369

Popular posts
मध्य प्रदेश विपणन संघ और परिवहन एजेंसी की लापरवाही उजागर
Image
नए अध्ययन में सामने आया कि भारत में हर 10 में से 9 ग्राहक सुरक्षा रेटिंग वाली कार खरीदना चाहते हैं इस सर्वे को स्कोडा ऑटो इंडिया ने कमीशन किया और एनआईक्यू बेसेस ने पूरा किया। भारत में 92 प्रतिशत ग्राहक क्रैश के लिए टेस्ट की गई और सेफ्टी रेटिंग की कार चाहते हैं। 47.6 प्रतिशत भारतीय कार में अन्य विशेषताओं से ज्यादा महत्व सुरक्षा को देते हैं। कार खरीदने के निर्णय में क्रैश-रेटिंग प्राथमिकताओं की सूची में सबसे ऊपर है। कार खरीदने के निर्णय में फ्यूल एफिशियंसी तीसरे स्थान पर है। 91 प्रतिशत का मानना है कि सुरक्षा विशेषताओं के आधार पर कारों को प्रोत्साहन देना काफी प्रभावशाली होगा। बच्चों/पीछे की सीट पर बैठे लोगों के लिए पृथक सुरक्षा रेटिंग को लेकर केवल 30 प्रतिशत ग्राहक जागरुक हैं। कार खरीदने के लिए सबसे पसंदीदा क्रैश रेटिंग 5-स्टार क्रैश रेटिंग है।
Image