मैरिको लिमिटेड ने अपनी निहार शांति पाठशाला फनवाला पहल के तहत बिहार सरकार के साथ समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किया



राज्य के सभी 38 जिलों में 4 लाख से अधिक शिक्षकों और 15 मिलियन से अधिक छात्रों की मदद के लिए लीपफॉरवर्ड के साथ अंग्रेजी साक्षरता कार्यक्रम की शुरुआत की*


 


मुंबई, नवम्बर 2021: भारत की अग्रणी एफएमसीजी कंपनियों में से एक, मैरिको लिमिटेड ने अपनी प्रमुख पहल निहार शांति पाठशाला फनवाला के तहत बिहार सरकार के साथ समझौता पत्र (एमओयू) पर हस्ताक्षर किया। एमओयू पर श्री प्रबोध हल्दे, हेड टेक्निकल रेगुलेटरी अफेयर्स, मैरिको लिमिटेड, श्री विजय कुमार हिमांशु, निदेशक (एससीईआरटी), शिक्षा विभाग, बिहार सरकार और श्री आयुष जैन, हेड ऑफ ऑपरेशंस, लीपफॉरवर्ड ने श्री संजय कुमार, अतिरिक्त मुख्य सचिव, शिक्षा एवं कैबिनेट सेक्रेटेरिएट विभाग, बिहार सरकार सहित अन्य गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में हस्ताक्षर किए।


 


इस समझौते का लक्ष्य अकादमिक अंतर को दूर करना, छात्रों के लिए अंग्रेजी में ग्रेड एप्रोप्रिएटनेस को बढ़ाना, और पूरे राज्य को लाभ पहुंचाने वाला स्केलेबल और सस्टेनेबल मॉडल का निर्माण करना है। समझौता पूरे बिहार के सभी 38 जिलों में 2024 तक प्रभावी रहेगा।


 


अंग्रेजी साक्षरता कार्यक्रम, एक अद्वितीय और इनोवेटिव शैक्षणिक दृष्टिकोण है जो एक 4-स्तरीय, संरचित (स्ट्रक्चर्ड), मॉड्यूलर और मापने योग्य (मेजरेबल) कार्यक्रम है जिसे किसी भी स्थानीय भाषा में पढ़ाया जा सकता है और यह शिक्षक की अंग्रेजी बोलने की मौजूदा क्षमताओं से अप्रभावित रहेगा। कार्यक्रम के हिस्से के रूप में, मैरिको लिमिटेड, अपने एनजीओ पार्टनर लीपफॉरवर्ड के साथ, सरकारी स्कूली शिक्षकों (ग्रेड 2 से ग्रेड 8) को सक्षम बनाएगा, जो आम तौर पर क्षेत्रीय भाषाओं में बातचीत करते हैं और सिखाते हैं, और इसके लिए बच्चों को पढ़ने, वर्तनी, समझ, और वाक्य संरचना क्षमताएं विकसित करने में मददगार सरल शिक्षण तकनीकों का उपयोग करते हैं।


 


कार्यक्रम के हिस्से के रूप में, मैरिको लिमिटेड, लीपफॉरवर्ड के साथ अंग्रेजी साक्षरता कार्यक्रम के तहत पात्रता रखने वाले सभी शिक्षकों को प्रशिक्षित और प्रमाणित करेगा, साथ ही इन-क्लास शिक्षण अनुभव को बेहतर बनाने के लिए उन्हें उच्च गुणवत्ता वाली डिजिटल टीचिंग एवं लर्निंग सामग्री (टीएलएम) भी प्रदान करेगा। अभ्यास के लिए कंपनी एससीईआरटी पाठ्यपुस्तकों की सामग्री के साथ पहल के तहत शिक्षण तकनीकों को जोड़कर अंग्रेजी भाषा की शिक्षा प्रदान करने में राज्य के प्रयासों में भी साथ देगी। इस कार्य को पूरा करने के दौरान, मैरिको का लक्ष्य सामाजिक-आर्थिक और क्षेत्रीय बाधाओं से प्रभावित हुए बिना, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करके स्कूल जाने वाले बच्चों की प्रगति और सीखने-समझने को सक्षम बनाना है।


 


इस पहल के बारे में बताते हुए, श्री उदयराज प्रभु, एक्जिक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट, बिजनेस प्रोसेस ट्रांसफॉर्मेशन एंड आईटी, एवं हेड, सीएसआर, मैरिको लिमिटेड ने कहा कि “मैरिको लिमिटेड की निहार शांति पाठशाला फनवाला ने हमेशा बच्चों की शिक्षा और प्रगति में सहयोग एवं समर्थन किया है। बिहार सरकार के साथ यह जुड़ाव पूरे भारत में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने और सीखने के परिणामों को सकारात्मक रूप से प्रभावित करने की हमारी प्रतिबद्धता के अनुरूप है। इस साझेदारी के जरिये, हमारा इरादा शिक्षा विभाग के प्रयासों को पूरा करना है और बिहार में शिक्षकों को कुछ मूल्यवान उपकरण प्रदान करना है, ताकि उन्हें अपने छात्रों में विशिष्ट अंग्रेजी क्षमताओं को प्रभावी ढंग से विकसित करने में मदद मिल सके।”


 


कंपनी ने निहार शांति पाठशाला फनवाला लॉन्च किया है, जो बच्चों को कभी भी, कहीं भी, मुफ्त में अंग्रेजी सीखने में मदद करता है और बच्चों की शिक्षा में सहयोग देने और उसे बेहतर बनाने के अपने उद्देश्य को आगे बढ़ाता है। 2012 के बाद से, निहार शांति पाठशाला फनवाला ने न केवल बच्चों तक पहुंचने, उनके साथ जुड़ने और शिक्षित करने के लिए, बल्कि शिक्षा के परिणामों में सुधार करने के लिए सर्वोत्तम तकनीक को एकीकृत करके महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है जिससे दूर-दराज के क्षेत्रों में वंचित बच्चों की शिक्षा के लिए सहयोग किया जा सके। एक ब्रांड के रूप में, निहार शांति अमला वंचित बच्चों को अवसर प्रदान करने और शिक्षा तक पहुंच प्रदान करने के अपने उद्देश्य के लिए तैयार रहा है और अपने लाभ का 5% योगदान दिया है। इसके अलावा, मैरिको ने पहले उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और राजस्थान की सरकारों के साथ भी समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं।

Popular posts
हम फिल्म को यथासंभव वास्तविक रखना चाहते थे": नवोदित निर्देशक सुदर्शन गामारे*
Image
*हीमोलिम्फ' का ट्रेलर लांच* - फिल्म 27 मई 2022 को रिलीज हो रही है। - अब्दुल वाहिद शेख के वास्तविक जीवन की घटनाओं पर आधारित ट्रेलर लिंक: "आखिर में जीत सच्चाई की ही होती है, लेकिन इसे सामने लाने के लिए कष्ट उठाना पड़ता है," जॉर्ज वाशिंगटन के इस कथन से प्रेरणा लेते हुए निर्देशक सुदर्शन गमरे ने फिल्म 'हेमोलिम्फ- द इनविजिबल ब्लड' से डेब्यू किया है। आज रियल वाहिद शेख की मौजूदगी में, निर्माताओं ने फिल्म का ट्रेलर लांच किया। इस मौके पर, निर्देशक सुदर्शन और अभिनेता रियाज़ अनवर उपस्थित थे। रियाज़ अनवर फिल्म में वाहिद शेख की भूमिका निभा रहे हैं। हीमोलिम्फ, एक शिक्षक अब्दुल वाहिद शेख के जीवन की वास्तविक कहानी है, जिस पर 11 जुलाई 2006 को मुंबई ट्रेन बम विस्फोट के बाद गंभीर धाराओं में आरोप लगाए गए थे। इन आरोपों ने वाहिद के साथ ही उसके परिवार को भी झंझोड़ दिया था। फ़िल्म निर्माताओं ने न्याय के लिए वाहिद के संघर्ष को रुपहले पर्दे के माध्यम से लोगों के बीच रखने की कोशिश की है। ट्रेलर में, गलत तरीके से फँसाए गए एक मासूम स्कूल अध्यापक की पीड़ा और उसकी हार ना मानने के संकल्प को दिखाया गया है। 2.09 मिनट के ट्रेलर में वाहिद और उसके परिजनों की न्याय पाने के लिए उठाने पड़ रहे दुश्वारियों को पर्दे पर दिखाया गया है। फ़िल्म के बारे में बात करते हुए, निर्देशक सुदर्शन गामारे ने कहा, "यह मेरी पहली फिल्म है, और कहानी मेरे दिल के बहुत करीब है। मैं पिछले कुछ सालों से इस कहानी को महसूस कर रहा था और चाहता था कि हर कोई झूठे आरोपों में फंसाए गए एक आम आदमी की कहानी को सुने-देखे और महसूस करने की कोशिश करे। मैं टीजर और पोस्टर से मिली प्रतिक्रिया से बहुत उत्साहित हूँ और उम्मीद करता हूँ कि ट्रेलर को भी ऐसी ही प्रतिक्रिया मिलेगी।" फिल्म के बारे में पूछे जाने पर, रियल अब्दुल वाहिद शेख ने बताया, "मेरी आपबीती पर फिल्म बनाने के लिए कई लोगों ने मुझसे संपर्क किया, लेकिन सुदर्शन के दृढ़ विश्वास ने मुझे फिल्म के लिए 'हाँ' कहने को बाध्य कर दिया। उनकी सोच रही कि बिना किसी लाग-लपेट के वास्तव में जो कुछ हुआ है, उसे दिखाया जाए। ट्रेलर देखने के बाद उन डरावने वर्षों से जुड़ी मेरी पिछली यादें ताजा हो गईं। मैं रियाज़ की भी प्रशंसा करना चाहूँगा, जिन्होंने पर्दे पर मेरे किरदार को निभाया है। मुझे उम्मीद है कि यह फिल्म बड़ी संख्या में लोगों तक पहुँचेगी, ताकि वे आपराधिक कार्यवाही में फंसाए जाने वाले एक आम आदमी का दर्द समझ सकें। यह फिल्म टिकटबारी और एबी फिल्म्स एंटरटेनमेंट द्वारा आदिमन फिल्म्स के सहयोग से बनाई गई है। इसके सह-निर्माता एनडी9 स्टूडियोज़ हैं। फिल्म सुदर्शन गमरे द्वारा लिखित और निर्देशित है। फिल्म में अब्दुल वाहिद शेख की भूमिका रियाज़ अनवर ने निभाई है। फिल्म में मुज्तबा अज़ीज़ नाज़ा ने बैकग्राउंड स्कोर दिया है, डायरेक्टर ऑफ फोटोग्राफी रोहन राजन मापुस्कर हैं और फिल्म का संपादन एचएम ने किया है। यह फिल्म 27 मई 2022 को आपके नज़दीकी सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली है।
Image
ओमरॉन हेल्थकेयर ने वाराणसी में नया एक्सपीरियंस एवं सर्विस सेंटर लॉन्च किया इस लॉन्च के साथ ओमरॉन ने टियर टू शहरों में अपनी पहुंच बढ़ाई
Image
साक्षी तंवर हमारे देश की बेहतरीन अभिनेत्रियों में से एक हैं’’ अनिल कपूर, अनुष्‍का शर्मा ने नेटफ्लिक्‍स इंडिया के ‘माई’ पर की तारीफों की बौछार
Image
प्रेस विज्ञप्ति फैंटेसी स्पोर्ट्स प्लेटफॉर्म के लिए एक सक्षम रेगुलेशन के पक्षधर हैं गुजरात के खेल मंत्री