निर्भया कांड के हुए नौ साल, पर क्या महिलाएं सुरक्षित हैं आज*

 में निर्भया कांड को सामने आए ठीक नौ साल पूरे हो चुके हैं। वर्ष 2012 में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हुई यह एक ऐसी भयानक घटना थी, जिसकी याद आज भी किसी भी व्यक्ति की रूह को हिला देती है। 16 दिसंबर 2012 को हुए इस मामले ने अंतरराष्ट्रीय सुर्खियां बटोरीं थीं, जिसके बाद भारत में महिलाओं के खिलाफ होने वाली यौन हिंसा के कानून को बदलने को लेकर बहस तेज हुई। इसके बाद रेप जैसे मामले में सजा को सख्त करने की मांग की गई। कानून में भी बदलाव भी लाए गए और महिलाओं की सुरक्षा के लिए बनाई गई योजनाओं के लिए एक कोष की स्थापना की गई। हालांकि, देश भर में बलात्कार के आंकड़े अभी भी हतोत्साहित करने वाले हैं और आंकड़ों के मुताबिक, दोष साबित करने की दर कम बनी हुई है। 


नतीजतन 2012 के निर्भया कांड के बाद आपराधिक कानून में किए गए परिवर्तनों से वांछित परिणाम नहीं मिले हैं क्योंकि समस्या कानून को एक निवारक बनाने के लिए कार्यान्वयन के साथ है। इसलिए, कई साल बाद न्याय तो मिला पर इसकी सीख का पता नहीं क्योंकि महिला सुरक्षा आज भी एक बढ़ा सवाल है।


आज 16 दिसंबर के दिन भी कई लोग इसको याद करते हुए सोशल मीडिया पर अपनी प्रतिक्रिया देते हैं। सोशल मीडिया Koo App पर भी लोग कई तरह की सलाह औऱ पोल साझा करते हुए महिला सुरक्षा पर सवाल उठा रहे हैं।

अभिनेत्री सौंदर्या शर्मा ने भी Koo करते हुए एक पोल साझा किया जिसमें उन्होंने कहा कि दुर्भाग्यपूर्ण निर्भया कांड को आज 9 साल हो गए। अगर महिला सुरक्षा में कोई सुधार हुआ है तो मतदान में मेरी मदद करें?

आइए इसे महिलाओं के लिए एक बेहतर दुनिया बनाएं


<blockquote class="koo-media" data-koo-permalink="https://embed.kooapp.com/embedKoo?kooId=bea58e9f-2c93-429a-91cd-4f8e96494afd" style="background:transparent;border: medium none;padding: 0;margin: 25px auto; max-width: 550px;"> <div style="padding: 5px;"><div style="background: #ffffff; box-shadow: 0 0 0 1.5pt #e8e8e3; border-radius: 12px; font-family: 'Roboto', arial, sans-serif; color: #424242 !important; overflow: hidden; position: relative; " > <a class="embedKoo-koocardheader" href="https://www.kooapp.com/dnld" data-link="https://embed.kooapp.com/embedKoo?kooId=bea58e9f-2c93-429a-91cd-4f8e96494afd" target="_blank" style=" background-color: #f2f2ef !important; padding: 6px; display: inline-block; border-bottom: 1.5pt solid #e8e8e3; justify-content: center; text-decoration:none;color:inherit !important;width: 100%;text-align: center;" >Koo App</a> <div style="padding: 10px"> <a target="_blank" style="text-decoration:none;color: inherit !important;" href="https://www.kooapp.com/koo/soundaryasharma/bea58e9f-2c93-429a-91cd-4f8e96494afd" >Its been 9 years to the unfortunate Nirbhaya Case today. Help me with a poll if there has been any improvement in women safety?    Let’s make it a better world for women       #ThoughtfulThursday #WomenSafety #Koooftheday #Koo #KooKiyaKya #KooIndia </a> <div style="margin:15px 0">  </div> - <a style="color: inherit !important;" target="_blank" href="https://www.kooapp.com/profile/soundaryasharma" >Soundarya Sharma (@soundaryasharma)</a> 16 Dec 2021 </div> </div> </div> </blockquote><img style="display: none; height: 0; width: 0" src="https://embed.kooapp.com/dolon.png?id=bea58e9f-2c93-429a-91cd-4f8e96494afd"> <script src="https://embed.kooapp.com/embedLoader.js"></script>

Popular posts
Sustainable Mining: How new technologies are reshaping the mining industry
Image
क्यों हमें सविता जैसी बेटियों के स्वागत की ज्यादा जरुरत है जब एक महिला शिक्षित होती है तो एक राष्ट्र शिक्षित होता है।
Image
पेपरफ्राई ने जयपुर में अपना दूसरा स्टूडियो लॉन्च किया* उत्तर भारत मेंअपनी ओम्नी चैनल मौजूदगी को मजबूती प्रदान की
Image
*ऑर्बिया के बिल्डिंग एवं इंफ्रास्ट्रेक्चंर बिजनेस वाविन ने वेक्ट्स के साथ साझेदारी की इस सहयोग की मदद से कंपनी भारतीय बाजार को जल एवं स्वीच्छवता समाधानों तक पहुँच प्रदान करेगी*
Image
पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का चमकौर साहिब से न्यूज़18 इंडिया के मैनेजिंग एडिटर किशोर अजवानी के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत:*
Image