ग्रो के फ्लैगशिप इवेंट 'अब इंडिया करेगा इन्वेस्ट' में जोधपुर में युवा निवेशकों की मजबूत भागीदारी देखने को मिली ग्रो ‘अब इंडिया करेगा इन्वेस्ट’ के माध्यम से 100 शहरों में 10 मिलियन भारतीयों को प्रभावित करनाचाहते हैं ग्रो के प्लेटफॉर्म पर जोधपुर के 59% निवेशक स्टॉक पसंद करते हैं, जबकि 30% म्यूचुअल फंड पसंद करते हैं और 8% आईपीओ में निवेश करते हैं जोधपुर, भारत, 26 अप्रैल, 2022:भारत के सबसे तेजी से बढ़ते निवेश प्लेटफॉर्म ग्रो (Groww) ने आज अपने ऑन-ग्राउंड कार्यक्रम, 'अब इंडिया करेगा इन्वेस्ट इन जोधपुर'का समापन किया। इस आयोजन में शहर में रिटेल निवेशक समुदाय की मजबूत भागीदारी देखने को मिली। एक वित्तीय शिक्षा पहल, 'अब इंडिया करेगा इन्वेस्ट' का उद्देश्य देश भर के नागरिकों के लिए सरल, सुरक्षित और सुलभ तरीके से निवेश को आसान बनाना है। ग्रो इस साल कोटा, अजमेर और उदयपुर जैसे शहरों में भी, जहाँ निवेशकों की बढ़ती दिलचस्पी देखी गई है, इस तरह के कार्यक्रम आयोजित करेंगे। 2020 में शुरू हुआ, ‘अब इंडिया करेगा इन्वेस्ट' ग्रो का ऑफलाइन इवेंट लोगों को निवेश की दुनिया से परिचित कराता है, उन्हें विभिन्न निवेश विकल्पों के बारे में शिक्षित करता है और एक से एक बातचीत के माध्यम से उनके प्रश्नों का समाधान करता है। ग्रो ने टियर-II और III (tier II and III ) बाजारों को लक्षित किया है जो निकट भविष्य में रिटेल निवेश वृद्धि की उच्च क्षमता का संकेत दे रहे हैं, जिससे राष्ट्रीय स्तर पर एक व्यापक पारिस्थितिकी तंत्र का निर्माण हो रहा है।अपने लॉन्च के बाद से, ग्रो ने 20 से अधिक शहरों में दिन भर चलने वाले इन इवेंट को सफलतापूर्वक आयोजित किया है, जिससे अब तक 20 लाख से अधिक निवेशक प्रभावित हुए हैं। एक वर्ष की अवधि में, ग्रो का लक्ष्य देश भर के 100 शहरों में ‘अब इंडिया करेगा इन्वेस्ट’ का संचालन करना है, जो टियर-II और III बाजारों में 10 मिलियन भारतीयों को आकर्षितकरना है। 2016 में स्थापित, ग्रो के वर्तमान में इसके प्लेटफॉर्म पर 20 मिलियन से अधिक उपयोगकर्ता हैं। जोधपुर और राजस्थान दोनों में युवा निवेशकों की महत्वपूर्ण रुचि देखी है। वर्तमान में राजस्थान में ग्रो के लगभग 14,18,516 उपयोगकर्ता हैं, जिनमें से 14% जोधपुर में स्थित हैं। दिलचस्प बात यह है कि जोधपुर में 25% निवेशक ग्रो के प्लेटफॉर्म पर 18-24 वर्ष के आयु वर्ग के हैं, जबकि 18% निवेशक 25-30 वर्ष के आयु वर्ग के हैं, और 13% निवेशक 31- 40 वर्ष की आयु के बीच हैं। इनमें से 59% निवेशक स्टॉक में निवेश करना पसंद करते हैं, 30% म्यूचुअल फंड में और 8% आईपीओ (IPOs) के माध्यम से निवेश करते हैं। यह रुझान पूरे राजस्थान में ग्रो द्वारा देखे गए निवेश पैटर्न के अनुरूप है, जिसमें ग्रो के प्लेटफॉर्म पर 55% निवेशक स्टॉक में निवेश करते हैं, 35% म्यूचुअल फंड में और 8% आईपीओ मार्ग को पसंद करते हैं। ग्रो के सह-संस्थापक और सीओओ हर्ष जैन (Harsh Jain) ने कहा, “हमने अपने प्लेटफॉर्म पर जोधपुर से खुदरा निवेशकों की भागीदारी में वृद्धि देखी है। इस प्रवृत्ति में एक प्रमुख योगदान ग्रो पर विभिन्न परिसंपत्ति वर्गों तक पहुंच में आसानी है। हमारा सरल इंटरफ़ेस उपयोगकर्ताओं को अपनी निवेश यात्रा में पहला कदम उठाने में सक्षम बनाता है, जब प्रभावी ढंग से वे अपने धन का प्रबंधन और वृद्धि करते हैँ। हम अपने कार्यक्रम 'अब इंडिया करेगा इन्वेस्ट' के माध्यम से निवेश तक पहुंच को और अधिक लोकतांत्रिक बना रहे हैं। हमें उम्मीद है कि जोधपुर में दर्शकों को सांझा की गई अंतर्दृष्टि से लाभ हुआ है और हमें विश्वास है कि इस पहल से बाजार से निवेशकों की अधिक भागीदारी होगी।

 ग्रो के फ्लैगशिप इवेंट 'अब इंडिया करेगा इन्वेस्ट' में जोधपुर में युवा निवेशकों की मजबूत भागीदारी देखने को मिली




जोधपुर, भारत, 26 अप्रैल, 2022:भारत के सबसे तेजी से बढ़ते निवेश प्लेटफॉर्म ग्रो (Groww) ने आज अपने ऑन-ग्राउंड कार्यक्रम, 'अब इंडिया करेगा इन्वेस्ट इन जोधपुर'का समापन किया। इस आयोजन में शहर में रिटेल निवेशक समुदाय की मजबूत भागीदारी देखने को मिली। एक वित्तीय शिक्षा पहल, 'अब इंडिया करेगा इन्वेस्ट' का उद्देश्य देश भर के नागरिकों के लिए सरल, सुरक्षित और सुलभ तरीके से निवेश को आसान बनाना है। ग्रो इस साल कोटा, अजमेर और उदयपुर जैसे शहरों में भी, जहाँ निवेशकों की बढ़ती दिलचस्पी देखी गई है, इस तरह के कार्यक्रम आयोजित करेंगे।


2020 में शुरू हुआ, ‘अब इंडिया करेगा इन्वेस्ट' ग्रो का ऑफलाइन इवेंट लोगों को निवेश की दुनिया से परिचित कराता है, उन्हें विभिन्न निवेश विकल्पों के बारे में शिक्षित करता है और एक से एक बातचीत के माध्यम से उनके प्रश्नों का समाधान करता है। ग्रो ने टियर-II और III (tier II and III ) बाजारों को लक्षित किया है जो निकट भविष्य में रिटेल निवेश वृद्धि की उच्च क्षमता का संकेत दे रहे हैं, जिससे राष्ट्रीय स्तर पर एक व्यापक पारिस्थितिकी तंत्र का निर्माण हो रहा है।अपने लॉन्च के बाद से, ग्रो ने 20 से अधिक शहरों में दिन भर चलने वाले इन इवेंट को सफलतापूर्वक आयोजित किया है, जिससे अब तक 20 लाख से अधिक निवेशक प्रभावित हुए हैं। एक वर्ष की अवधि में, ग्रो का लक्ष्य देश भर के 100 शहरों में ‘अब इंडिया करेगा इन्वेस्ट’ का संचालन करना है, जो टियर-II और III बाजारों में 10 मिलियन भारतीयों को आकर्षितकरना है।


2016 में स्थापित, ग्रो के वर्तमान में इसके प्लेटफॉर्म पर 20 मिलियन से अधिक उपयोगकर्ता हैं। जोधपुर और राजस्थान दोनों में युवा निवेशकों की महत्वपूर्ण रुचि देखी है। वर्तमान में राजस्थान में ग्रो के लगभग 14,18,516 उपयोगकर्ता हैं, जिनमें से 14% जोधपुर में स्थित हैं। दिलचस्प बात यह है कि जोधपुर में 25% निवेशक ग्रो के प्लेटफॉर्म पर 18-24 वर्ष के आयु वर्ग के हैं, जबकि 18% निवेशक 25-30 वर्ष के आयु वर्ग के हैं, और 13% निवेशक 31- 40 वर्ष की आयु के बीच हैं। इनमें से 59% निवेशक स्टॉक में निवेश करना पसंद करते हैं, 30% म्यूचुअल फंड में और 8% आईपीओ (IPOs) के माध्यम से निवेश करते हैं। यह रुझान पूरे राजस्थान में ग्रो द्वारा देखे गए निवेश पैटर्न के अनुरूप है, जिसमें ग्रो के प्लेटफॉर्म पर 55% निवेशक स्टॉक में निवेश करते हैं, 35% म्यूचुअल फंड में और 8% आईपीओ मार्ग को पसंद करते हैं।


ग्रो के सह-संस्थापक और सीओओ हर्ष जैन (Harsh Jain) ने कहा, “हमने अपने प्लेटफॉर्म पर जोधपुर से खुदरा निवेशकों की भागीदारी में वृद्धि देखी है। इस प्रवृत्ति में एक प्रमुख योगदान ग्रो पर विभिन्न परिसंपत्ति वर्गों तक पहुंच में आसानी है। हमारा सरल इंटरफ़ेस उपयोगकर्ताओं को अपनी निवेश यात्रा में पहला कदम उठाने में सक्षम बनाता है, जब प्रभावी ढंग से वे अपने धन का प्रबंधन और वृद्धि करते हैँ। हम अपने कार्यक्रम 'अब इंडिया करेगा इन्वेस्ट' के माध्यम से निवेश तक पहुंच को और अधिक लोकतांत्रिक बना रहे हैं। हमें उम्मीद है कि जोधपुर में दर्शकों को सांझा की गई अंतर्दृष्टि से लाभ हुआ है और हमें विश्वास है कि इस पहल से बाजार से निवेशकों की अधिक भागीदारी होगी।

Popular posts
मध्य प्रदेश विपणन संघ और परिवहन एजेंसी की लापरवाही उजागर
Image
नए अध्ययन में सामने आया कि भारत में हर 10 में से 9 ग्राहक सुरक्षा रेटिंग वाली कार खरीदना चाहते हैं इस सर्वे को स्कोडा ऑटो इंडिया ने कमीशन किया और एनआईक्यू बेसेस ने पूरा किया। भारत में 92 प्रतिशत ग्राहक क्रैश के लिए टेस्ट की गई और सेफ्टी रेटिंग की कार चाहते हैं। 47.6 प्रतिशत भारतीय कार में अन्य विशेषताओं से ज्यादा महत्व सुरक्षा को देते हैं। कार खरीदने के निर्णय में क्रैश-रेटिंग प्राथमिकताओं की सूची में सबसे ऊपर है। कार खरीदने के निर्णय में फ्यूल एफिशियंसी तीसरे स्थान पर है। 91 प्रतिशत का मानना है कि सुरक्षा विशेषताओं के आधार पर कारों को प्रोत्साहन देना काफी प्रभावशाली होगा। बच्चों/पीछे की सीट पर बैठे लोगों के लिए पृथक सुरक्षा रेटिंग को लेकर केवल 30 प्रतिशत ग्राहक जागरुक हैं। कार खरीदने के लिए सबसे पसंदीदा क्रैश रेटिंग 5-स्टार क्रैश रेटिंग है।
Image