2023 में क्रिकेट को अलविदा कह देंगे कोहली, न्यूमरोलॉजिस्ट जेपी तोलानी जी ने विराट के भविष्य को लेकर किये कई चौंकाने वाले खुलासे



पिछले लगभग डेढ़ साल से भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और दिग्गज बल्लेबाज विराट कोहली अपनी फॉर्म को लेकर जूझ रहे हैं. टेस्ट, वनडे या टी-20, तीनों ही फॉर्मेट में विराट का बल्ला खामोश बना हुआ है. आलम ये है कि पिछली 75 पारियों में कोहली के बल्ले से एक भी शतक नहीं निकला है. वहीं इंग्लैंड के खिलाफ बर्मिंघम में हुए 5वें टेस्ट में वह दोनों पारियों में सस्ते में ही निपट गए. इसके बाद विराट के करियर को लेकर सवालिया निशान खड़े होने लगे हैं. हाल ही में वेस्टइंडीज दौरे के लिए घोषित टीम इंडिया के प्लेइंग स्क्वाड से भी उन्हें अलग रखा गया है. इस बीच देश के मशहूर न्यूमरोलॉजिस्ट जेपी तोलानी जी ने भी विराट को लेकर चौकाने वाली घोषणा की है. तोलानी जी के मुताबिक कोहली के नंबर्स अगले साल जुलाई-अगस्त के दौरान उनके क्रिकेट से रिटायरमेंट की तरफ इशारा कर रहे हैं. यानी अंक ज्योतिष के नज़रिये से देखें तो किंग कोहली 2023 के मध्य में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास ले सकते हैं.


नंबर्स कर रहे सन्यास की ओर इशारा न्यूमरोलॉजी में बर्थ नंबर, डेस्टिनी नंबर, फर्स्ट नेम नंबर और फुल नेम नंबर का विशेष महत्व होता है, और इसी के आधार पर व्यक्ति विशेष के भविष्यफल की गणना की जाती है. जेपी तोलानी जी के मुताबिक, विराट कोहली की जन्म तिथि 05/11/1988 है, इसके अनुसार उनका बर्थ नंबर 5 और डेस्टिनी नंबर 33 यानी 6 प्राप्त होता है. इसके अलावा उनका फर्स्ट नेम नंबर 14 यानी 5 और फुल नेम नंबर 32 यानी 5 ही प्राप्त होता है. इस लिहाज से देखें तो कोहली के पास 3,4,5,6,7 नंबर्स का कॉम्बिनेशन है, जिसे सबसे अच्छे कॉम्बिनेशंस में से एक माना जाता है। तोलानी जी की गणना के अनुसार, चूंकि कोहली का डेस्टिनी नंबर 33/6 है और उनका फर्स्ट नेम अल्फाबेट भी 6 पर है, इसलिए उन्होंने 33 वर्ष की आयु तक निरंतर ग्रोथ बनाकर रखी थी। साथ ही उनके नाम में 4,5,6,7 का एक मजबूत कॉम्बिनेशन भी है, जो उनके धन, प्रसिद्धि, बुद्धि और लग्जरी लाइफस्टाइल को दर्शाता है. यही वजह है कि उनके नंबर्स के कॉम्बिनेशन ने उन्हें जीवन में सब कुछ दिया है। इसके आलावा कोहली अपने बर्थ नंबर (5), फर्स्ट नेम नंबर (14), और फुल नेम नंबर (32) के रूप में नंबर 5 से भी प्रभावित होने के कारण बहुत आवेगी और आक्रामक भी है।


क्यों फॉर्म से बाहर चल रहे कोहली?

मार्च 2020 (भारत-न्यूजीलैंड टूर) के बाद से ही कोहली आउट ऑफ़ फॉर्म चल रहे हैं. तोलानी जी के मुताबिक, चूंकि उस समय कोहली 32/5 की उम्र में थे और नंबर 5 के चक्र के तहत वह अपनी फॉर्म में निरंतरता को बरक़रार नहीं रख सके और नंबर 5 ने उनकी परफॉरमेंस को सबसे अधिक प्रभावित किया है।


लेकिन फिर से, नवंबर 2020 (भारत-ऑस्ट्रेलिया टूर) में 33/6 की उम्र में जो कि उनका डेस्टिनी नंबर भी था, और इस कारण वह टूर्नामेंट के सबसे बड़े स्कोरर भी बने थे। 33/6 वर्ष की आयु में उनका डेस्टिनी नंबर शामिल होने के कारण, उन्हें एक बच्ची का आशीर्वाद प्राप्त हुआ था। साथ ही सर गारफील्ड सोबर्स अवार्ड और मेल एंड ओडीआई क्रिकेटर ऑफ़ द डिकेड का अवार्ड भी जीता था। लेकिन इसके बाद से 2022 में भी उनका खराब फॉर्म जारी रहा है. तोलानी जी के मुताबिक, क्योंकि वह मौजूदा वर्ष में 34/7 साल की उम्र में चल रहे हैं, और 3,4 और 7 का कॉम्बिनेशन 6 के सपोर्ट के बिना अच्छा नहीं माना जाता है, इसलिए वह बेहतर फॉर्म में वापसी करने में असफल रहे हैं, साथ ही सातवें नंबर की वजह से उन्हें सभी प्रारूपों से कप्तानी भी छोड़नी पड़ी है।

हालांकि यह कॉम्बिनेशन डिजिटल प्रजेंस के लिए अच्छा है, और इसके परिणामस्वरूप उन्होंने डिजिटल चैनल पर बहुत अधिक सपोर्ट प्राप्त करने के साथ 200 मिलियन से अधिक फॉलोवर्स इकठ्ठा किये हैं।

Popular posts
मिलिए एंडटीवी के 'हप्पू की उलटन पलटन' की नई दबंग दुल्हनिया 'राजेश' उर्फ ​​गीतांजलि मिश्रा से!
Image
चेन्नई प्लांट के उद्घाटन के साथ अपनी रणनीतिक पार्टनरशिप की शुरुआत करेंगे टीएसएफ ग्रुप और माइंड एस.आर.एल. लेगारो अपने ग्लोबल फुटप्रिंट्स के साथ सर्वश्रेष्ठ इटालियन और इंडियन कार्बन कंपोजिट को एकीकृत करता है। यह ब्रांड माइंड एस.आर.एल. की समृद्ध इटालियन मोटर वैली विरासत को साथ लाता है और ग्लोबल कार्बन कंपोजिट को, वास्तविकता के करीब एक कदम आगे ले जाने के लिए टीएसएफ समूह (तत्कालीन टीवीएस समूह का हिस्सा) का हाई- क्वालिटी स्केलेबल मैन्युफैक्चरिंग अनुभव प्रदान करता है।
Image
नेवर बैक डाउन : रिवोल्ट’ के हिंदी टेलीविजन प्रीमियर में देखिए अंडरग्राउंड अपराध की रोमांचक दुनिया की दिलचस्प दास्तान, 23 मार्च को एंड पिक्चर्स पर जरा सोचिए कि आप एक ऐसी स्थिति में फंस गए हैं, जहां से बाहर निकलने का सिर्फ एक ही तरीका है कि आप अपनी आजादी के लिए लड़ें।
Image
गोल्डनबॉय, पंकज आडवाणी मार्च में अजेय रहे या ऐसक्यूइस्ट पंकज आडवाणी मार्च में एक अजेय योद्धा बनने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।
Image
एमवे इंडिया ने युवाओं एवं महिलाओं के बेहतर स्वास्थ्य को सुनिश्चित करने के लिए रेसलर संग्राम सिंह के साथ की साझेदारी
Image