एसबीआई जनरल इंश्योरेंस ने लॉन्च किया कॉम्‍प्रीहेंसिव साइबर इंश्योरेंस कवर ‘वॉल्टएज’



 


मुंबई, 6 जुलाई, 2022: भारत की प्रमुख जनरल इंश्योरेंस कंपनियों में से एक, एसबीआई जनरल इंश्योरेंस ने साइबर वॉल्टएज बीमा योजना लॉन्च की है। यह लोगों के लिये एक कॉम्‍प्रीहेंसिव साइबर इंश्‍योरेंस कवर है, जोकि साइबर जोखिमों और हमलों से होने वाले आर्थिक नुकसान के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करता है।


 


इस महामारी ने विभिन्न प्रकार की सेवाओं में डिजिटल इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर को अपनाने में उल्लेखनीय वृद्धि की है। लोगों को वर्क फ्रॉम होम (डब्ल्यूएफएच) मॉडल और ज्यादातार सेवाओं को संचालित करने के लिये विभिन्न डिजिटल तरीकों को अपनाने के लिये मजबूर होना पड़ा, इसमें भुगतान भी शामिल हैं। वैसे तो व्यापक डिजिटलीकरण और इंटरनेट की गहरी पहुंच के रूप में यह एक स्वागतयोग्य बदलाव है, लेकिन इससे साइबर हमलों का खतरा बढ़ा है। सीईआरटी-इन के अनुसार, साइबर सिक्योरिटी की घटनाएं 2018 के 2.08 लाख मामलों से बढ़कर 2021 में 14.02 लाख तक पहुंच गई है। इस बीच, साइबर अपराधों, एटीएम/डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड और इंटरनेट बैकिंग की धोखाधड़ी, साल 2020-21 में लगभग 63.4 करोड़ आंकी गई। यह आकंड़े निजी और सरकारी बैंकों द्वारा जारी किए गए आंकड़ों पर आधारित हैं।


 


साइबर अपराध और प्रतिष्ठा की क्षति, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, व्यक्तिगत जानकारी की चोरी आदि के साथ धोखाधड़ी वाले लेनदेन के कारण व्यक्तियों के सामने आने वाले जोखिमों को दूर करने के लिये, एसबीआई जनरल ने एसबीआई जनरल साइबर वॉल्टएज तैयार किया है। यह कई तरह के लाभ प्रदान करता है और लोगों को साइबर के जोखिमों से बचाता है, जिससे यह इंटरनेट पर किसी प्रकार की गतिविधि या डिजिटल लेनदेन के दौरान इस तरह की घटनाओं से बचाव सुनिश्वित करता है। इसमें अनाधिकृत ई-लेनदेन, पहचान की चोरी के परिणामस्वरूप पैसे की हानि और सोशल मीडिया ट्रोलिंग, छेड़छाड़ और पीछा करने सहित ऑनलाइन, प्रतिष्ठा को प्रभावित करने वाले उदाहरण शामिल हैं।


 


आनंद पेजावार, डिप्‍टी मैनेजिंग डायरेक्‍टर, एसबीआई जनरल इंश्योरेंस, का कहना है, “इसमें कोई शक नहीं कि इंटरनेट ने हमारे जीवन को आसान बना दिया है, लेकिन इसने एक ऐसी दुनिया भी तैयार की है जो पहले से कहीं ज्यादा जोखिमभरी है। डिजिटल लेनदेन महत्वपूर्ण हो जाने के साथ लोगों को नये जमाने के उभरते खतरों का डर और बढ़ गया है। एसबीआई जनरल में हमारा प्रयास होता है जरूरत पर आधारित प्रोडक्ट तैयार करना जोकि ग्राहकों की बदलती जरूरतों को पूरा कर सकें। एसबीआई जनरल साइबर वॉल्टएज के जरिए, हमारा उद्देश्‍य इंटरनेट से होने वाले खतरे/ साइबर जोखिमों की वजह से लोगों को होने वाले आर्थिक नुकसानों को कम करते हुए उन्हें सुरक्षा प्रदाना है। हम उन्हें व्‍यापक और किफायती प्रोडक्ट उपलब्ध करा कर ऐसा करेंगे। अपने ग्राहकों को पूरा लाभ देने के लिये हम अपनी पेशकश का दायरा लगातार बढ़ाते रहेंगे और भविष्य में हम उन्हें आर्थिक रूप से सुरक्षित करेंगे।”


 


एसबीआई जनरल साइबर वॉल्टएज किसी तीसरे पक्ष के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने या बचाव करने में किए गए किसी भी कानूनी खर्च का भी ध्यान रखता है और किसी भी आईटी विशेषज्ञ की सेवाओं का लाभ उठाकर डेटा को पुनर्स्थापित करने के लिये किए गए खर्चों की प्रतिपूर्ति करता है। लोगों का मानसिक स्वास्थ्य सुनिश्चित करने के लिये, साइबर वॉल्टएज ऐसी घटनाओं के कारण उत्पन्न होने वाले आघात या तनाव के लिये मनोवैज्ञानिकों के परामर्श खर्च को भी कवर करता है।


 


पॉलिसी के बारे में और अधिक जानकारी पाने के लिये ग्राहक विजिट करें : www.sbigeneral.in या फिर एसबीआई जनरल मोबाइल ऐप डाउनलोड करें या इसे रेफर करें।


 


एसबीआई जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड के विषय में :


एसबीआई जनरल सबसे तेज वृद्धि करने वाली निजी सामान्‍य बीमा कंपनियों में से एक है। इसे भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) का सुदृढ़ संरक्षण प्राप्त है। एसबीआई जनरल इंश्योरेंस में हम भरोसे और सुरक्षा की परम्परा को आगे बढ़ाने के प्रति वचनबद्ध है; यह बदलते भारत के लिए सर्वाधिक भरोसेमंद सामान्‍य बीमा कंपनी बनने की दूरदृष्टि रखती है।


 


हमारी स्थापना वर्ष 2009 में हुई थी और वर्ष 2011 में हमारी 17 शाखाएं थीं। आज हम 137 से अधिक शाखाओं के साथ पूरे भारत में मौजूद हैं। अभी तक हमारे ग्राहकों की संख्या 10  करोड़ पर पहुँच चुकी है। हमें लगातार दो सालों से फिक्‍की इंश्‍योरेंस इंडस्‍ट्री अवार्ड्स में गैर-जीवन श्रेणी में ‘इंश्‍योरर ऑफ द ईयर’ का पुरस्‍कार मिला है।


 


हम एक मजबूत बहु-वितरण मॉडल का अनुसरण करते हैं जिसमें बैंकाश्योरेंस, एजेंसी, ब्रोकिंग और रिटेल डायरेक्ट चैनल सम्मिलित हैं। वितरण नेटवर्क के मोर्चे पर एसबीआई के 22000 से अधिक शाखाओं का नेटवर्क, एजेंट्स और अन्य वित्तीय, ओईएम एवं डिजिटल पार्टनर्स के साथ हमारे पास सुदृढ़ वितरण सहयोगी हैं जो भारत के कोने-कोने में हमारी पहुँच बढ़ाते हैं।


 


हम रिटेल, कॉर्पोरेट, एसएमई, और रूरल जैसे सभी वर्गों में ग्राहकों की जरूरतों को पूरा करने के लिए व्‍यापक श्रृंखला में उत्‍पादों की पेशकश करते हैं। इससे डिजिटल के साथ ही फिजिकल दोनों रूपों में उत्‍पादों की सुलभता सु‍निश्चित होती है।


 


हमारे सीएसआर प्रोग्राम सबसे संवेदनशील समुदायों और जोखिम में मौजूद लोगों की सेवा करने के मिशन से संचालित हैं। हम स्‍थायी हस्‍तक्षेपों की मदद से उनकी जिंदगी को बेहतर बनाने का काम करते हैं। इस उद्देश्‍य के अनुरूप, हमने विभिन्‍न एनजीओ और प्रोग्राम्‍स के साथ सहयोग किया है ताकि विभिन्‍न क्षेत्रों में अपनायोगदान दे सकें। ये क्षेत्र सीएसआर फिलॉसफी के हमारे फोकस क्षेत्रों जैसे स्‍वास्‍थ्‍य, सड़क सुरक्षा, सैनिटेशन,शिक्षा, सस्‍टेनेबिलिटी एवं आजीविका और खेलों के साथ पंक्तिबद्ध हैं।


एसबीआई जनरल इंश्योरेंस ने वित्त वर्ष 2021-22 में 11% वृद्धि के साथ 9260करोड़ रुपये का सकल लिखित प्रीमियम (जीडब्‍लूपी) प्राप्त किया था। स्‍वास्‍थ्‍य बीमा की बढ़ती जरूरत के साथ, हमने स्‍वास्‍थ्‍य बीमा व्‍यावसायकेलिए बेहद चैनलाइज्‍ड रणनीति को अपनाया है जिससे वित्‍त वर्ष 2021-22 के लिए हेल्‍थ इंश्‍योरेंस जीडब्‍लूपी में 50 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

Popular posts
फ्रैंकलिन टेम्पलटन मध्य प्रदेश में फ्रैंकलिन इंडिया बैलेंस्ड एडवांटेज फंड (FIBAF) कर रहे हैं लॉन्च • FIBAF का लक्ष्य फ्रैंकलिन टेम्पलटन के इन-हाउस प्रोप्रिटेरी डायनामिक अस्सेस्ट एल्लोकेशन मॉडल से प्राप्त, दोनों दुनिया के सर्वश्रेष्ठ को जोड़ना है • फ्रैंकलिन टेम्पलटन के लिए मध्य प्रदेश एक प्रमुख ग्रोथ मार्केट है, जिसका उद्योग एयूएम इंदौर, भोपाल, जबलपुर और ग्वालियर सहित अन्य जैसे शहरों में लगभग ५२,000 करोड़ रूपए का है
Image
मैंने इस शो से शिक्षा की अहमियत सीखी हैं‘‘ - आयुध भानुशालीं, भीमराव, एण्डटीवी के ‘एक महानायक डाॅ बी. आर. आम्बेडकर‘
Image
Clensta Covid 19 Protection Lotion – your long term shield against COVID 19 & the harmful effects of hand sanitisers
Image
भारत में पहली बार आयोजित की जा रही इंटरनेशनल एडवरटाइजिंग कॉन्फ्रेंस 2021
Image
मातृ दिवस‘ पर देखिये एण्डटीवी के आॅन-स्क्रीन माँ-बच्चों का खट्टा-मीठा रिश्ता
Image