इस शनिवार, टीवी पर लगेंगे चांद, ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ के वर्ल्ड टेलीविजन प्रीमियर के साथ, ज़ी सिनेमा पर*



कभी-कभी ज़िंदगी हमें बड़े मुश्किल हालातों में लाकर खड़ा कर देती है, और फिर, या तो हम हालात के आगे घुटने टेक सकते हैं या फिर इसका सामना कर सकते हैं। गंगूबाई ने हर चुनौती का मुकाबला किया और एक बड़ी ताकत बन गईं। ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ के वर्ल्ड टेलीविजन प्रीमियर के साथ उनके इसी तेज़तर्रार अंदाज़ के गवाह बनने को तैयार हो जाइए, 15 अक्टूबर को रात 8 बजे, सिर्फ ज़ी सिनेमा पर! सिनेमा के दो मशहूर नाम - एक कहानीकार के रूप में संजय लीला भंसाली और एक शानदार अभिनेत्री के रूप में आलिया भट्ट ने अपने-अपने हुनर को तराशकर गंगूबाई काठियावाड़ी नाम का एक मास्टरपीस तैयार किया। इस ड्रामा में अपना संजीदा अंदाज़ पेश करते हुए अजय देवगन, करीम लाला के रोल में गंगू पर एक खास प्रभाव छोड़ते हैं। उनके साथ विजय राज़ ने रज़ियाबाई के रोल में और शांतनु माहेश्वरी ने अफसान के रोल में खास भूमिकाएं निभाई हैं। तो आप भी ज़ी सिनेमा पर 15 अक्टूबर को रात 8 बजे गंगूबाई काठियावाड़ी के वर्ल्ड टेलीविजन प्रीमियर के साथ इस सिनेमाई करिश्मे का अनुभव करने के लिए तैयार हो जाइए।


इस फिल्म की दमदार कहानी को दर्शकों और आलोचकों ने बहुत सराहा, जिसने इसे साल की पहली ब्लॉकबस्टर फिल्म बना दिया। मासूम गंगा से तेज़तर्रार गंगूबाई बनने का सफर आपको दमदार परफॉर्मेंस, भव्य विजुअल्स और झकझोर देने वाले डायलॉग्स के साथ ड्रामा के अलग-अलग शेड्स दिखाता है। गंगूबाई न सिर्फ रोशनी के पर्व को रोशन कर देंगी बल्कि आप में एक उम्मीद की चिंगारी भी जगा देंगी।


गंगूबाई काठियावाड़ी, काठियावाड़ की गंगा का प्रेरक सफर दिखाती है। जब गंगा की ज़िंदगी में एक अंजाना मोड़ आता है, तो उसे एक अजनबी माहौल में खुद ही अपना ख्याल रखना पड़ता है। लेकिन इस संघर्ष के आगे हार मानने के बजाय वो इससे लड़ती है। चांद की तरह उनमें भी दाग थे, लेकिन उन्होंने कभी अपनी रोशनी नहीं छोड़ी। उन्होंने अपनी ज़िंदगी की मुश्किलों से ताकत पाई और सबकी आवाज़ 'गंगूबाई' बन गईं।


*देखिए गंगूबाई काठियावाड़ी का वर्ल्ड टेलीविजन प्रीमियर, 15 अक्टूबर को रात 8 बजे, सिर्फ ज़ी सिनेमा पर।*

Popular posts
मिलिए एंडटीवी के 'हप्पू की उलटन पलटन' की नई दबंग दुल्हनिया 'राजेश' उर्फ ​​गीतांजलि मिश्रा से!
Image
एण्डटीवी की नई प्रस्तुति ‘अटल‘ अटल बिहारी वाजपेयी के बचपन की अनकही कहानियों का होगा विवरण्
Image
"मैं अपने किरदार से गहराई से जुड़ा हूं क्योंकि उसी की ही तरह मैं भी कम शब्दों में बहुत कुछ कह देता हूं" ज़ी थिएटर के टेलीप्ले 'तदबीर' में वे एक पूर्व सेना अधिकारी की भूमिका निभा रहे हैं
Image
वार्ड क्रमांक 53 के पार्षद कोरोना कॉल में कर रहे जरूरतमंदों की लगातार मदद।
Image
हर जुबां पर बुंदेली ज़ायके का स्वाद चढ़ाने आ रहा बुंदेली शेफ सीजन-2 18 से 45 वर्ष तक की बुंदेली महिलाएं ले सकती हैं हिस्सा प्रतियोगिता में देश के किसी भी कोने से ले सकते हैं भाग बुंदेली शेफ विजेता को मिलेंगे 50 हजार रुपये तक के आकर्षक उपहार
Image