स्विट्जरलैंड में यश चोपड़ा की विरासत हुई लोकप्रिय, देश की खूबसूरती भारतीयों को दिखाने में उनके योगदान को किया सलाम



स्विट्जरलैंड महान फिल्मनिर्माता यश चोपड़ा को श्रृद्धांजलि दे रहा है और स्विट्जरलैंड की खूबसूरती भारतीयों को अपने सिनेमा के माध्यम से दिखाने के लिए उन्हें सलाम करता है। 

नेटफ्लिक्स की बहुप्रतीक्षित डॉक्यु सीरीज़, द रोमांटिक्स में यश चोपड़ा की विरासत, वाईआरएफ और पिछले 50 सालों में भारतीयों पर इसके प्रभाव का प्रदर्शन किया गया है। यह सीरीज़ मंगलवार, 14 फरवरी को रिलीज़ हो रही है।


जंगफ्रॉ रेलवेज़, स्विट्जरलैंड के डायरेक्टर ऑफ सेल्स, रेमो केसर ने बताया, ‘‘यश चोपड़ा एक लीजेंड थे, जिन्होंने स्विट्जरलैंड, खासकर जंगफ्रॉ क्षेत्र की सुंदरता अपने खूबसूरत और भावनाशील सिनेता द्वारा पूरे विश्व में भारतीयों की कई पीढ़ियों को दिखाई। हर साल यूरोप में सबसे ऊपर जंगफ्रॉ आने वाले भारतीय हमेशा हमें बताते हैं कि यश चोपड़ा की रोमांटिक फिल्मों ने किस प्रकार उन्हें जंगफ्रॉ क्षेत्र में आने और आजीवन चलने वाली यादें संजोने के लिए प्रोत्साहित किया।’’


स्विस अधिकारी देश में, खासकर उन जगहों पर यश चोपड़ा की विरासत का जश्न मनाएंगे, जहाँ फिल्म-निर्माता ने डर और चांदनी जैसी फिल्मों की शूटिंग की थी। उनके पुत्र, आदित्य चोपड़ा ने भी अपनी ऑल-टाईम ब्लॉकबस्टर, दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे की शूटिंग स्विट्जरलैंड में की।


स्विट्जरलैंड के बर्फ से ढंके पहाड़, खूबसूरत घाटियाँ और सुंदर झीलें हर भारतीय को आकर्षित करती है, जिसका मुख्य श्रेय यश चोपड़ा की फिल्मों को जाता है। ऐसा कहा गया है कि वो अपने हनीमून के लिए स्विट्जरलैंड गए थे और इस देश की खूबसूरती से मोहित हो गए थे। स्विस सरकार ने पिछले सालों में इस महान फिल्म निर्माता को निरंतर सम्मानित किया है।


2011 में स्विट्जरलैंड के जंगफ्रॉ रेलवेज़ ने उनके नाम से एक ट्रेन भी शुरू की, यह सम्मान इससे पहले केवल रेलवे के संस्थापक, एडोल्फ गायर को दिया गया है। इस ट्रेन पर उनके सिग्नेचर और साईनबोर्ड पर उनका नाम है। मई, 2016 में स्विट्जरलैंड की सरकार ने एक लोकप्रिय टूरिस्ट स्पॉट, इंटरलेकर में कांग्रेस सेंटर के पास यश चोपड़ा की एक ताम्र की प्रतिमा स्थापित की।


प्रतिष्ठित विक्टोरिया जंगफ्रॉ ग्रांड होटल एंड स्पा में एक विशेष डीलक्स सिनेमा थीम के सूट को यश चोपड़ा का नाम दिया गया। 2011 में इस फिल्म-निर्माता ने इस सूट का उद्घाटन किया। कैंटन ऑफ बेर्न में लेक लॉएन को लेक चोपड़ा कहा जाता है। स्विस सरकार ने यश चोपड़ा को एम्बेसडर ऑफ इंटरलेकर की उपाधि से सम्मानित किया। यह पुरस्कार प्राप्त करने वाले वो पहले व्यक्ति हैं। उन्हें स्विस एम्बेसडर पुरस्कार भी दिया गया है।


रेमो ने बताया, ‘‘स्विट्जरलैंड और भारत के बीच पारस्परिक सम्मान और सद्भावना का गहरा संबंध है, और यश चोपड़ा ने इन महान देशों के बीच संबंध को मजबूत करने में मुख्य भूमिका निभाई है। स्विट्जरलैंड को यहाँ उनकी विरासत की खुशी मनाने की खुशी है।’’


आमिर खान से लेकर सलमान खान, शाहरुख खान से रनबीर कपूर, अमिताभ बच्चन से रनवीर सिंह, सलीम खान से रानी मुखर्जी और हृतिक रोशन और कैटरीना कैफ से लेकर अनुष्का शर्मा तक, इन सभी मेगास्टार्स और हिंदी सिनेमा के दिग्गजों ने द रोमांटिक्स में भारतीय सिनेमा को यश चोपड़ा एवं वाईआरएफ के योगदान के बारे में बताया है।


द रोमांटिक्स का निर्देशन ऑस्कर एवं एमी-नॉमिनेटेड फिल्म-निर्माता, स्मृति मुंधरा ने किया है, जिन्होंने इंडियन मैचमेकिंग और नेवर हैव आई एवर सीज़न 3 की अपार सफलता के बाद नेटफ्लिक्स में वापसी की है।


इस चार पार्ट की डॉक्यु-सीरीज़ में नेटफ्लिक्स हिंदी फिल्म उद्योग की 35 मुख्य हस्तियों को एक साथ लेकर आया है, जिन्होंने इन 50 गौरवशाली वर्षों में वाईआरएफ के साथ काम किया है।


यशराज फिल्म्स के एकांतप्रिय हेड, आदित्य चोपड़ा ने ‘द रोमांटिक्स’ के लिए पहली बार कैमरा पर अपना इंटरव्यू रिकॉर्ड किया है। इस डॉक्यु-सीरीज़ में उन्हें वाईआरएफ और हिंदी फिल्म उद्योग के बारे में बताते हुए सुनना फिल्म समुदाय, सिनेप्रेमियों और हिंदी सिनेमा के दर्शकों के लिए एक बहुत बड़ा आकर्षण होगा।


द रोमांटिक्स के ट्रेलर को पूरी दुनिया में बहुत सराहना मिली है। नेटफ्लिक्स यश चोपड़ा को श्रृद्धांजलि देते हुए 14 फरवरी, 2023 को द रोमांटिक्स रिलीज़ करेगा। यश चोपड़ा को भारत में ‘फादर ऑफ रोमांस’ माना जाता है क्योंकि उन्होंने सिलसिला, लम्हे, कभी-कभी, वीर-ज़ारा, दिल तो पागल है, चांदनी, जब तक है जान आदि जैसी कई लोकप्रिय रोमांटिक फिल्में दी हैं।

Popular posts
मध्य प्रदेश विपणन संघ और परिवहन एजेंसी की लापरवाही उजागर
Image
नए अध्ययन में सामने आया कि भारत में हर 10 में से 9 ग्राहक सुरक्षा रेटिंग वाली कार खरीदना चाहते हैं इस सर्वे को स्कोडा ऑटो इंडिया ने कमीशन किया और एनआईक्यू बेसेस ने पूरा किया। भारत में 92 प्रतिशत ग्राहक क्रैश के लिए टेस्ट की गई और सेफ्टी रेटिंग की कार चाहते हैं। 47.6 प्रतिशत भारतीय कार में अन्य विशेषताओं से ज्यादा महत्व सुरक्षा को देते हैं। कार खरीदने के निर्णय में क्रैश-रेटिंग प्राथमिकताओं की सूची में सबसे ऊपर है। कार खरीदने के निर्णय में फ्यूल एफिशियंसी तीसरे स्थान पर है। 91 प्रतिशत का मानना है कि सुरक्षा विशेषताओं के आधार पर कारों को प्रोत्साहन देना काफी प्रभावशाली होगा। बच्चों/पीछे की सीट पर बैठे लोगों के लिए पृथक सुरक्षा रेटिंग को लेकर केवल 30 प्रतिशत ग्राहक जागरुक हैं। कार खरीदने के लिए सबसे पसंदीदा क्रैश रेटिंग 5-स्टार क्रैश रेटिंग है।
Image