शिक्षा के क्षेत्र में नए आयाम स्थापित करेगा अदाणी फाउंडेशन, एसटीईएम लीडरशिप कार्यक्रम के लिए सिंगापुर की एनआईई इंटरनेशनल से मिलाया हाथ

 



अहमदाबाद, 14 अप्रैल, 2023: अदाणी फाउंडेशन ने एसटीईएम लीडरशिप कार्यक्रम को व्यवस्थित और संचालित करने के लिए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एजुकेशन इंटरनेशनल के साथ सहयोग किया है, जो नानयांग टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी, सिंगापुर का महत्वपूर्ण हिस्सा है। टेमासेक फाउंडेशन, सिंगापुर द्वारा संचालित इस कार्यक्रम के तहत छह अदाणी फाउंडेशन स्कूल के 42 शिक्षक भारतीय संदर्भ में एसटीईएम नेतृत्व को बढ़ावा देने के लिए मास्टर ट्रेनर के रूप में प्रशिक्षित होंगे। इस कार्यक्रम की समय-सीमा 3 वर्ष (अप्रैल 2023 से दिसंबर 2025) होगी। इसे छह चरणों में बांटा गया है। पहला चरण 14 से 16 अप्रैल तक निर्धारित है, जो पहले से ही चल रहा है।


पांचवें चरण के प्रशिक्षण को छोड़कर सभी चरणों का संचालन अहमदाबाद, गुजरात में एनआईई के आठ विशेषज्ञों द्वारा किया जाएगा। इसमें गुजरात में एसटीईएम शिक्षा की स्थिति और एसटीईएम उद्योगों के प्रोफाइल की बेस लाइन का अध्ययन, एकीकृत एसटीईएम पाठ्यक्रम को विकसित करने के साथ ही ऑनलाइन और व्यक्तिगत कार्यशालाओं के माध्यम से गुजरात में एसटीईएम पाठ्यक्रम में नेतृत्व का निर्माण और मास्टर प्रशिक्षकों की सीख को साझा करना शामिल होगा। राष्ट्रीय स्तर के तीन दिवसीय सम्मेलन के दौरान अपने अनुभवों को भी सबसे साझा किया जाएगा।


पांचवें चरण के दौरान प्रतिभागी सिंगापुर के विश्वविद्यालयों और एसटीईएम कंपनियों में हैंड्स-ऑन वर्कशॉप के साथ उभरती प्रौद्योगिकियों और नवाचार पर अनुभव प्राप्त करने के लिए सिंगापुर जाएँगे। वे एसटीईएम विषयों पर जानकारी के लिए सिंगापुर के स्कूलों का दौरा करेंगे और शिक्षकों के साथ बातचीत करेंगे। इस पूरे क्रम में सिंगापुर और भारत में एसटीईएम शिक्षकों के मजबूत नेटवर्क प्रणाली की स्थापना की जाएगी।


भारत के संदर्भ में इस एकीकृत एसटीईएम पाठ्यक्रम की रूपरेखा का डिजाइन और विकास मजबूत होगा, जो राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी) 2020 के अनुरूप होगा। इसमें मानक, मूल्यांकन उपकरण, अनुशंसित दृष्टिकोण और प्रस्तावित गतिविधियाँ शामिल होंगी। इसके व्यापक ढाँचे को प्रस्तुत भी किया जाएगा। साथ ही इसके लिए देश के कई शैक्षिक बोर्ड में कार्यान्वयन के लिए सिफारिश की जाएगी।


देश में स्कूली छात्रों को प्रबल और सशक्त बनाने के लिए एसटीईएम शिक्षा की काफी संभावना है। यह युवाओं के दिमाग की जिज्ञासा को शांत करने के लिए उपयुक्त है, जिससे वे विभिन्न विषयों को समझने और वास्तविक दुनिया की समस्याओं के लिए नए समाधान खोजने की क्षमता वाले पेशेवर बन सकें। एसटीईएम लीडरशिप प्रोग्राम अधिक से अधिक बच्चों के लिए गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराने और रियायती बनाने के अदाणी फाउंडेशन के प्रयासों का विस्तार है। फाउंडेशन देश भर में कई मुफ्त और सब्सिडी वाले स्कूलों के साथ स्मार्ट लर्निंग कार्यक्रमों का संचालन भी करता है।

Popular posts
मिलिए एंडटीवी के 'हप्पू की उलटन पलटन' की नई दबंग दुल्हनिया 'राजेश' उर्फ ​​गीतांजलि मिश्रा से!
Image
एण्डटीवी की नई प्रस्तुति ‘अटल‘ अटल बिहारी वाजपेयी के बचपन की अनकही कहानियों का होगा विवरण्
Image
"मैं अपने किरदार से गहराई से जुड़ा हूं क्योंकि उसी की ही तरह मैं भी कम शब्दों में बहुत कुछ कह देता हूं" ज़ी थिएटर के टेलीप्ले 'तदबीर' में वे एक पूर्व सेना अधिकारी की भूमिका निभा रहे हैं
Image
वार्ड क्रमांक 53 के पार्षद कोरोना कॉल में कर रहे जरूरतमंदों की लगातार मदद।
Image
हर जुबां पर बुंदेली ज़ायके का स्वाद चढ़ाने आ रहा बुंदेली शेफ सीजन-2 18 से 45 वर्ष तक की बुंदेली महिलाएं ले सकती हैं हिस्सा प्रतियोगिता में देश के किसी भी कोने से ले सकते हैं भाग बुंदेली शेफ विजेता को मिलेंगे 50 हजार रुपये तक के आकर्षक उपहार
Image