कोविड के बाद 'खाना चाहिए' और 'घर भेजो' जैसी पहल के बाद अब नीति गोयल ने सुंदरबन की 'बाघ विधवाओं' का किया सपोर्ट !



कोविड महामारी और लॉकडाउन के दौरान मानव जाति के लिए अथक रूप से काम करने के बाद, नीति गोयल जो एक  रेस्तरां मालिक और परोपकारी हैं उन्होंने 'खाना चाहिए' और 'घर भेजो' (सोनू सूद के साथ) जैसी सह-संस्थापक इनिशिएटिव  से कई लोगों की मदद की है, उन्होंने लोगो को मुफ्त में भोजन परोसे , जरूरतमंद और बेघर लोगों और 1.5 लाख प्रवासियों को उनके घर पहुँचाने में भी मदद की।

अपने परोपकारी कार्य को जारी रखते हुए, सफल उद्यमी ने सुंदरबन (पश्चिम बंगाल) में बाघ विधवाओं की दुर्दशा के लिए अथक और निस्वार्थ रूप से काम करने की एक नई चुनौती ली है।

अपने दोनों बेटों के बेरोजगार होने के कारण, बिस्वजीत मिस्त्री कच्चे शहद की तलाश में सुंदरवन के घने जंगलों में चले गए, जिससे उन्हें बेहतर कीमत मिल सके। परन्तु दो दिन बाद उनका शव  बरामद किया गया था, जिस पर बाघ के हमले के अचूक निशान थे। सुंदरबन के भारतीय पक्ष में कुल 54 द्वीप हैं जिनमें लगभग 3000 से अधिक बाघ विधवाओं का निवास है। 


“ऐसा माना जाता है कि आप जितने गहरे जंगल में जाते हैं, आपको उतना ही शुद्ध शहद मिलता है”, नीति बताती हैं, “परिवार को कोई मुआवज़ा नहीं मिला है क्योंकि बिस्वजीत प्रतिबंधित जंगल में मारा गया था और जीवित रहने के लिए संघर्ष कर रहा है। वे एक दिन में मुश्किल से दो वक्त का भोजन जुटा पाते  हैं, उनमें से एक ने पिछले कुछ वर्षों में बाघ के हमलों में अपने पति को खो दिया है।”


सुंदरबन जंगल मानव-बाघ संघर्ष के लिए एक वैश्विक आकर्षण का केंद्र होने के लिए जाना जाता है। इन बाघ विधवाओं की दुर्दशा को देखते हुए परोपकारी नीति गोयल ने उनके मुद्दे को उठाने और उन्हें आत्मनिर्भर बनाने का फैसला किया। मछली पालन, बकरी पालन, मुर्गी पालन में उनकी मदद करके और बड़े परिवारों वालों को गाय दान करके।


"यह अपनी तरह की एक परियोजना है और एक्सीक्यूशन  बेहद कठिन है क्योंकि इनमें से अधिकांश गांव घने जंगल में हैं जहाँ पर नहरों के माध्यम से पहुंचा जा सकता है जो मगरमच्छों से प्रभावित हैं लेकिन हम हार नहीं माना और एक्सीक्यूशन का काम पहले ही शुरूकर दिया  है। हम महिलाओं के रूप में क्या हासिल कर सकते हैं इसकी कोई सीमा नहीं है। मैं एक महिला हूं, और आपकी सुपर पॉवर  क्या है! नीति ने निष्कर्ष निकाला।

Popular posts
"मैं अपने किरदार से गहराई से जुड़ा हूं क्योंकि उसी की ही तरह मैं भी कम शब्दों में बहुत कुछ कह देता हूं" ज़ी थिएटर के टेलीप्ले 'तदबीर' में वे एक पूर्व सेना अधिकारी की भूमिका निभा रहे हैं
Image
मिलिए एंडटीवी के 'हप्पू की उलटन पलटन' की नई दबंग दुल्हनिया 'राजेश' उर्फ ​​गीतांजलि मिश्रा से!
Image
एण्डटीवी की नई प्रस्तुति ‘अटल‘ अटल बिहारी वाजपेयी के बचपन की अनकही कहानियों का होगा विवरण्
Image
Cadbury Dairy Milk Fans create over 1 million versions of their Favourite Chocolate through Madbury 2020
Image
हर जुबां पर बुंदेली ज़ायके का स्वाद चढ़ाने आ रहा बुंदेली शेफ सीजन-2 18 से 45 वर्ष तक की बुंदेली महिलाएं ले सकती हैं हिस्सा प्रतियोगिता में देश के किसी भी कोने से ले सकते हैं भाग बुंदेली शेफ विजेता को मिलेंगे 50 हजार रुपये तक के आकर्षक उपहार
Image