चकाचौंध की राजनीति से अलग, जमीनी स्तर के नेता बनकर उभरे ओंकार सिंह ठाकुर (विक्की भईया)* - विक्की भईया का सबसे मजबूत पहलु युवा समर्थन - महामारी के दौरान किसी को भूखा नहीं सोने देने का लिया प्रण, बांटे हजारों फ़ूड पैकेट्स - एक अनाथ बालिका समेत 2 बालिकाओं के कराये हाथ पीले _समाज में गरीब अनाथ लोगों की सेवा करने से बड़ी और कोई सेवा नहीं - ओंकार सिंह ठाकुर (विक्की भईया)_



कहते हैं यदि दिल में सेवाभाव के साथ कोई भी काम किया जाए तो उसके सफल होने की संभावना तो बढ़ ही जाती है साथ ही हर कोशिश के साथ आपका काम भी और निखरकर सामने आता है. यूपी के जनपद जालौन (उरई) के युवा समाजसेवी, आ. भा खंगार क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओंकार सिंह ठाकुर उर्फ़ विक्की भईया, भी उन्ही कुछ नामों में शामिल हैं, जिनका निःस्वार्थ सेवाभाव समाज में एक नई मिसाल पेश कर रहा है. अपनी बेबाक शैली और जबरदस्त पर्सनालिटी के लिए युवाओं के बीच बेहद लोकप्रिय ओंकार को कमजोर व असहाय वर्ग की एक सशक्त ताकत के रूप में देखा जाता है और इसके एक नहीं, कई कारण गिनाये जा सकते हैं. ओंकार का मानना है कि समाज में गरीब और अनाथ लोगों की सेवा करने से बड़ी और कोई सेवा नहीं होती है. बता दें कि हाल ही में उन्होंने कामीरो, शोषित, वंचित वर्ग के उत्थान को आगे बढ़ाने के लिए उत्तर प्रदेश की तीसरी सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी अपना दल (एस) की सदस्यता ली है. 


*दो बहनों के कराये हाथ पीले*


38 वर्षीय ओंकार सिंह ठाकुर की लोकप्रियता का एक कारण यह भी है कि वह व्यक्ति विशेष में फर्क महसूस नहीं कराते, और सभी को समान रूप से साथ लेकर चलने में विश्वास रखते हैं. उन्होंने क्षेत्र की दो जरूरतमंद बालिकाओं की शादी की सारी जिम्मेदारी उठाई, जिनमें से एक बालिका अनाथ थी और उनके जीवन को एक नई दिशा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. समाज सेवा में तत्पर रहने वाले ओंकार कहते है कि, "ईश्वर से हमें जो शक्ति सक्षमता मिली है, उसे समाज के कमजोर असहाय वर्ग के साथ साझा कर के, मैं अपना फर्ज निभा रहा हूं." इतना ही नहीं सर्व जातीय सामूहिक विवाह में भी उनका विशेष योगदान रहता है.     


*महामारी में नहीं सोने दिया किसी को भूखा*


विश्व हिन्दू परिषद् के लिए गौरक्षा के प्रांतीय सह-संयोजक के रूप में काम करते हुए, ओंकार सिंह ठाकुर ने कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान किसी को भूखा नहीं सोने देने का संकल्प लिया और पूरे लॉक डाउन के दौरान हजारों की संख्या में फ़ूड पैकेट्स व कच्चा अनाज तेल,नमक आदि वितरित कराये. उन्होंने ऑनलाइन ऑफलाइन कैंपेन चलाकर, पैदल यात्रा करने पर मजबूर प्रवासी मजदूरों तथा हर जरूरतमंद तक मुफ्त भोजन पहुंचाना सुनिश्चित किया. एक ऐसा दौर जब घर परिवार वाले भी एक दूसरे से दूरी बनाने लगे थे, उस समय विक्की भईया ने सैकड़ों बेसहारा लोगों का सहारा बनने का काम किया. इस दौरान उन्होंने राम रसोई का भी शुभारंभ किया और रोजाना 500 फ़ूड पैकेट्स वितरित किए जिनमें ट्रेन बस से जाते यात्रियों को पानी की बॉटल आदि सामान पहुंचाना भी शामिल रहा.   


हाल ही में उन्होंने यूपी की तीसरी सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी अपना दल (एस) का दामन थाम चुके ओंकार सिंह ठाकुर को उनके रसूख और लोकप्रियता के कारण संभवतः राष्ट्रीय नेतृत्व में प्रमुख भूमिका निभाते हुए देखा जा सकता है. ओंकार सिंह ठाकुर एक युवा चेहरा हैं, जो जनपद जालौन (उरई) में युवाओं समेत हर वर्ग के बीच अपनी अच्छी पकड़ रखते हैं, बिना किसी पार्टी बैनर के तले हजारों की भीड़ साथ लेकर चलने का माद्दा रखने वाले ओंकार, फिलहाल एक ऐसे कैंडिडेट के रूप में देखे जा रहे हैं, जो जिस भी पार्टी में रहें, उस पार्टी को लाभ मिलना निश्चित है.

Popular posts
"मैं अपने किरदार से गहराई से जुड़ा हूं क्योंकि उसी की ही तरह मैं भी कम शब्दों में बहुत कुछ कह देता हूं" ज़ी थिएटर के टेलीप्ले 'तदबीर' में वे एक पूर्व सेना अधिकारी की भूमिका निभा रहे हैं
Image
एण्डटीवी की नई प्रस्तुति ‘अटल‘ अटल बिहारी वाजपेयी के बचपन की अनकही कहानियों का होगा विवरण्
Image
ताइक्वांडो प्रीमियर लीग की द्वितीय श्रेणी वेट कैटेगरी का आयोजन दिसंबर 2023 में किया जाएगा • पुरुषों के लिए वेट कैटेगरी 55.1 किलोग्राम से 60.9 किलोग्राम होगी, जबकि महिलाओं के लिए 48.1 किलोग्राम से 53.9 किलोग्राम वेट कैटेगरी निर्धारित है • द्वितीय श्रेणी वेट कैटेगरी का आयोजन 5, 6 और 7 दिसंबर 2023 को किया जाएगा
Image
मिलिए एंडटीवी के 'हप्पू की उलटन पलटन' की नई दबंग दुल्हनिया 'राजेश' उर्फ ​​गीतांजलि मिश्रा से!
Image
भारत के लोगों ने विगत 25 वर्षों में रिया को इसकी अनूठी सुगंध और विश्व स्तरीय गुणवत्ता को देखते हुए अपनाया है: आदित्य विक्रम डागा, फाउंडर और चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर, पर्पस प्लैनेट
Image