अदाणी ट्रांसमिशनलिमिटेड वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही का समेकितपरिणाम

 



नकद लाभ 30%वर्ष-दर-वर्ष बढ़कर 699करोड़ रुपये 

पीएटी 128% वर्ष-दर-वर्ष बढ़कर 464 करोड़ रुपये 



सार-संक्षेप 

वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही की परिचालन संबंधी विशेषताएं:

ट्रांसमिशन

99.83% पर रोबस्ट ट्रांसमिशन सिस्टम की उपलब्धता

वितरण  

99.99% (एएसएआई) पर आपूर्ति विश्वसनीयता बनाए रखी

ग्राहकों द्वारा डिजिटल माध्यमों को अपनाने में कई गुना वृद्धि; कुल संग्रह के प्रतिशत के रूप में ई-भुगतान 

वित्त वर्ष 20 की तीसरी तिमाही के 48.81% के मुकाबले बढ़कर वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही में 63.46% हुआ। 


वित्त वर्ष 21  की तीसरी तिमाही में (वर्ष-दर-वर्ष) वित्तीय विशेषताएं:


नकद लाभ 30% बढ़ कर 699 करोड़ रुपये हुआ

पीबीटी 55% की वृद्धि दर्ज कर 472 करोड़ रुपये हुआ; पीएटी 128% बढ़ कर 464 करोड़ हुआ

ईपीएस वित्त वर्ष 20 की तीसरी तिमाही के 0.93रुपये के मुकाबले 231%बढ़ कर 3.08रुपये रहा 

समेकित परिचालन ईबीआईटीडीए वित्त वर्ष 20 की तीसरी तिमाही के 1,060 करोड़ रुपये के मुकाबले 6%बढ़कर1,125 करोड़ रुपये हुआ

ट्रांसमिशन परिचाल नई बीआईटीडीए 92.3%की मार्जिन के साथ 4% बढ़ कर 650 करोड़ रुपये हुआ 

वितरण परिचालन ईबीआईटीडीए29.9% की मार्जिन के साथ 10%अढ़ कर 475 करोड़ रुपये रहा


अन्य वित्तीय मुख्य विशेषताएं:

वित्त वर्ष 21की पहली तिमाही में एमईजीपीटीसीएल के संबंध में अनुकूल नियामक आदेश की घोषणा के साथ, एटीएल का समेकित ईबीआईटीडीए का वार्षिक आवर्ती लाभ ~ 60 करोड़ रुपसे होगा



अहमदाबाद, 4 फरवरी, 2021: विश्व स्तर पर सक्रिय विविधताओं वाले अदाणी ग्रुप के एक हिस्से, भारत की सबसे बड़ी निजी ट्रांसमिशन कंपनी, अदाणी ट्रांसमिशन लिमिटेड ("एटीएल")ने आज 31 दिसम्बर, 2020 को समाप्त हुई तीसरी तिमाही के लिए अपने वित्तीय और परिचालन प्रदर्शन की घोषणा की।





परिचालन संबंधी मुख्य विशेषताएं:


विवरण वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही वित्त वर्ष 20  की तीसरी तिमाही वित्त वर्ष 21 के नौ महीने वित्त वर्ष 20  के नौ महीने

ट्रांसमिशन

औसत उपलब्धता (%) 99.83% 99.59% 99.87% 99.73%

ट्रांसमिशन नेटवर्क जोड़े गये (सीकेटी किमी) 650 0 749 1,288

Distribution

आपूर्ति विश्वसनीयता (%) 99.99% 99.99% 99.99% 99.99%

वितरण हानि (%)(2) 6.70% 8.69% 7.90% 7.89%

बेची गईं इकाइयाँ (एमयू)(2) 1,874 2,068 5,343 6,647

संग्रह दक्षता (%) 109.89% 103.94% 96.28% 100.29%


अलीपुरद्वार अधिग्रहण के साथ तीसरी तिमाही में ट्रांसमिशन नेटवर्क में 650 सीकेटी किलोमीटर जोड़ा गया

99.8% से अधिक पर मजबूत ट्रांसमिशन प्रणाली उपलब्धता

जमीन पर चुनौतियों के बावजूद वितरण व्यवसाय ने 99.99% से अधिक आपूर्ति विश्वसनीयता सुनिश्चित की

1HFY21की रिकवरी के कारण, वित्त वर्ष 20 की तीसरी तिमाही के 8.69%की तुलना में, वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही में काफी सुधार करते हुए 6.70%रहा  

वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही में एईएमएल में 109.89% संग्रह दक्षता हासिल की गई 


वित्तीय विशेषताएं - ट्रांसमिशन और वितरण:

विवरण (करोड़ रुपये)  वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही वित्त वर्ष 20 की तीसरी तिमाही वर्ष-दर-वर्ष % वित्त वर्ष 21 के नौ महीने वित्त वर्ष 20 के नौ महीने वर्ष-दर-वर्ष %

ट्रांसमिशन

परिचालन राजस्व(1) 704 679 4% 2,072 2,021 3%

परिचालन ईबीआईटीडीए(1) 650 627 4% 1,917 1,864 3%

मार्जिन (%) 92.3% 92.3% 92.3% 92.2%

वितरण 

राजस्व 1,588 1,893 -16% 4,492 5,996 -25%

परिचालन ईबीआईटीडीए 475 433 10% 1,279 1,315 -3%

मार्जिन (%) 29.9% 22.9% 28.5% 21.9%



तीसरी तिमाही में 92.3% के मजबूत मार्जिन के साथ, स्थिर ट्रांसमिशन व्यवसाय ने704 करोड़ रुपये का परिचालन राजस्व और 650 करोड़ रुपये का परिचालन ईबीआईटीडीए दिया 

परिचालन राजस्व में 16% की गिरावट के बावजूद, तीसरी तिमाही में वितरण कारोबार परिचालन ईबीआईटीडीएमें 10% की वृद्धि हुई




वित्तीय विशेषताएं - समेकित:


विवरण(करोड़ रुपये)  वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही वित्त वर्ष 20 की तीसरी तिमाही वर्ष-दर-वर्ष % वित्त वर्ष 21 के नौ महीने वित्त वर्ष 20 के नौ महीने वर्ष-दर-वर्ष %

राजस्व(1)  2,292 2,572 -11% 6,564 8,017 -18%

परिचालन ईबीआईटीडीए(1) 1,125 1,060 6% 3,196 3,180 1%

पीबीटी 472 305 55% 1,250 890 40%

पीएटी 464 204 128% 1033 648 60%

ईपीएस (रुपये) 3.08 0.93 231% 7.36 3.13 135%


समेकित परिचालन राजस्व वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही में 2,292करोड़ रुपये कम था, जो मुख्य रूप से कमर्शियल और औद्योगिक सेगमेंट में कम बिजली की खपत के कारण इस तिमाही में वितरण कारोबार से थोड़ा कम राजस्व योगदान के कारण हुआ। हालांकि, वित्त वर्ष 21 की पहली छमाही की तुलना में,दिसम्बर 20 को समाप्त हुई तिमाही में मांग और संग्रह दोनों में काफी सुधार देखा गया।


अन्य मुख्य विशेषताएं:

एटीएल ने वित्त वर्ष 21की पहली तिमाही में घोषित अलीपुरद्वार ट्रांसमिशन अधिग्रहण पूरा किया 

कंपनी के इंटरफेस के लिए डिजिटल माध्यम को अपनाने में कई गुना वृद्धि हुई जो वित्त वर्ष 20के नौ महीनोंके 47.76%के मुकाबले वित्त वर्ष 21के नौ महीनों में 69.53% (कुल संग्रह के% के रूप में ई-भुगतान) रही

अदाणी ट्रांसमिशन और अदाणी इलेक्ट्रिसिटी ने द एसेट कंट्री अवार्ड्स 2020 में प्रमुख अवार्ड हासिल किये। अदाणी ट्रांसमिशन ने अपने 400 मिलियन अमेरिकी डॉलर के प्राइवेट प्लेसमेंट फिक्स्ड रेट नोट्स के लिए 'बेस्ट कॉरपोरेट बॉन्ड' का पुरस्कार जीता। अदाणी इलेक्ट्रिसिटी मुंबई लिमिटेड ने अपने 1 बिलियन अमेरिकी डॉलर फिक्स्ड रेट सीनियर नोट्स के लिए 'बेस्ट न्यू बॉन्ड अवार्ड' प्राप्त किया।

टिप्पणियाँ:

1) वित्त वर्ष 21के नौ महीने के परिचालन राजस्व और परिचालन ईबीआईटीडीए में ट्रांसमिशन व्यवसाय के एमईजीपीटीसीएल एसपीवी के पक्ष में एपीटीईएल के आदेश से प्राप्त 330 करोड़ रुपये का वन-टाइम पॉजिटिव इम्पैक्ट शामिल नहीं है।

2) 19 जनवरी 2021 को जारी हमारे प्रोविजनल परिचालन रिलीज से वितरण हानि और यूनिट्स थोड़ा अलग हैं

3) नकद लाभ की गणना पीएटी + मूल्यह्रास + डेफर्ड टैक्स + एमटीएम विकल्प हानि के रूप में की जाती है

4) एएसएआई: औसत सेवा उपलब्धता सूचकांक; एपीटीईएल: बिजली के लिए अपीलीय न्यायाधिकरण




कंपनी के प्रदर्शन के बारे में बताते हुए, अदाणी ग्रुप के चेयरमैन श्री गौतम अदाणीने कहा कि “ बिजली एवं  ट्रांसमिशन सेक्टर ने पिछले दो दशकों में जबरदस्त प्रगति की है। आजसौभाग्य जैसी सरकारी पहलों और रिन्यूएबल पर जोर देने के कारण बिजली की पहुंच में काफी विस्तार हुआ है। अगले दो दशक वैश्विक महामारीके बाद अर्थव्यवस्था की पुनर्बहाली और सकारात्मक निवेशक दृष्टिकोण पर आधारित क्षेत्र के लिए नए अवसर प्रदान करेंगे। एटीएल वैश्विक रिन्यूएबल ऊर्जा की महत्वपूर्ण मौजूदगी के साथ एक राष्ट्र की जरूरतों के अनुरूप भविष्य बनाने के लिए पूरी तरह से तैयार है।”


अदाणी ट्रांसमिशन लिमिटेड के एमडी और सीईओ, श्री अनिल सरदाना ने कहा कि “अदाणी ट्रांसमिशन ने पिछले कुछ वर्षों में अपनी विकास यात्रा को साकार किया है। इसने पूर्वी क्षेत्र में अभी एक और ट्रांसमिशन परिसंपत्ति का सफलतापूर्वक अधिग्रहण और एकीकरण किया है। एटीएल लगातार बेस्ट-इन-क्लास होने के लिए बेंचमार्किंग कर रहा है तथा विकास के एजेंडे के साथ विश्व स्तरीय एकीकृत यूटिलिटी बनने के लिए केंद्रित दृष्टिकोण अपना रहा है, जिसके लिएएटीएल रणनीतिक और परिचालन पहलुओं को जोखिममुक्त बनाने, पूंजी संरक्षण करने, उच्च क्रेडिट गुणवत्ता सुनिश्चित करने और व्यावसायिक उत्कृष्टता और उच्च शासन मानक के लिए रणनीतिक साझेदारी बनाने पर ध्यान दे रहा है। स्वास्थ्य और वैश्विक महामारी की समस्याओं से पैदा हुई चुनौतियों के बावजूद, एटीएल 24x7 गुणवत्तापूर्ण विद्युत आपूर्ति बनाये हुए है। मजबूत ईएसजी फ्रेमवर्क बनाने और सुरक्षा संस्कृति अपनाने के लिए किये जा रहे काम का अटूट संबध, एटीएल केसभी हितधारकों के लिए दीर्घकालिक मूल्य निर्माण करने के लक्ष्य से है।”


अदाणी ट्रांसमिशन लिमिटेड के बारे में

अदाणी ट्रांसमिशन लिमिटेड (एटीएल) भारत के सबसे बड़े व्यापारिक समूहों में से एक, अदाणी ग्रुप की ट्रांसमिशन एवं डिस्ट्रिब्यूशन बिजनेस शाखा है।एटीएल देश की सबसे बड़ी निजी ट्रांसमिशन कंपनी है, जिस कासंचयी ट्रांसमिशन नेटवर्क 15,400 सीकेटी किलोमीटर से अधिक है, जिसमें से 12,200 सीकेटी किलोमीटर से अधिक परिचालन की स्थिति में है और 3,200 सीकेटी किलोमीटर से अधिक निर्माण के विभिन्न चरणों में है।एटीएल मुम्बई में लगभग 3 मिलियन से अधिक ग्राहकों को सेवा देने वाला एक डिस्ट्रिब्यूशन बिजने सभी संचालित करता है।आने वाले वर्षों में ऊर्जा के मामले में भारत की चौगुनी जरूरत को देखते हुए, एटीएल मजबूत और भरोसेमंद पॉवर ट्रांसमिशन नेटवर्क बनाने के लिए, और रिटेल ग्राहकों की सेवा करने तथा 2022 तक' सबके लिए बिजली' का लक्ष्य हासिल करने की दिशा में पूरी सक्रियता से काम करने के लिए तैयार है।


अधिक जानकारी के लिए, कृपया वेबसाइट www.adanitransmission.com/ देखें