सायंतनी घोष ने ‘तेरा यार हूं मैं’ के अपने युवा को-स्टा र्स के बारे में बात करते हुए कहा, "हम अपनी शूटिंग के बीच में मौज-मस्ती और डांस करने का मौका ढूंढते हैं"



कुछ रिश्तेष अपने आप ही बिना सोचे-समझे बन जाते हैं लेकिन उनमे इतनी शक्ति होती है कि वो ज़िंदगी भर साथ रहते हैं। कुछ ऐसा ही सफर रहा है सोनी सब के शो ‘तेरा यार हूं मैं’ की दलजीत उर्फ़ सायंतनी घोष का, जो हाल ही में इस परिवार में नए सदस्य के तौर पर जुड़ी हैं लेकिन इसके बावजूद उन्होंने सेट पर मौजूद बच्चों के साथ एक अटूट रिश्तान बना लिया है। एक ओर, दलजीत परदे पर ऋषभ और त्रिशला के साथ अपनी दूरियों को कम करने की कोशिश कर रही हैं, तो वहीं दूसरी तरफ उनका अपने को-स्टाूर्स अंश सिन्हा, नीहारिका रॉय, विराज कपूर और एकाग्र द्विवेदी के साथ बहुत ही खूबसूरत रिश्ता है। सायंतनी ने खुल्लम-खुल्ला बातचीत में अपने अब तक के अनुभव को साझा किया और परदे के पीछे के दृश्योंक एवं इस दौरान बनी यादों के बारे में बताया।


सेट पर मौजूद बच्चों के साथ अपने रिश्तेु के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा , "हर बीतते दिन के साथ बच्चों के साथ मेरा रिश्ताा और गहरा हो रहा है। मै ये ज़रूर कहना चाहूंगी कि सेट पर सभी बहुत प्यारे हैं खासकर ट्विंकल उर्फ़ एकाग्र, क्योंकि वो सेट पर सबसे छोटा और सबसे प्यारा है। यहां तक कि अंश, नीहारिका और विराज के साथ भी एक को-स्टा र के रूप में मेरी केमिस्ट्रीन बहुत अच्छीर है और मैं उन्हेंक अच्छेे से समझती हूं। शो में अब बग्गा बंसल परिवार का ही हिस्सा है, हम इस शो के साथ नए जुड़े हैं इसलिए हमें शो का या फिर ऑफ़-स्क्रीन कोई भी पुराना अनुभव नहीं है। मुझे थोड़ा संदेह था कि जब हम साथ होंगे तो कैसा होगा लेकिन मेरे सभी युवा सह-कलाकारों ने तहे दिल से मेरा स्वागत किया और मुझे स्वीकार किया। इन बच्चों के साथ मस्ती की एक अलग और नई परिभाषा है। नीहारिका और मैं अक्सर साथ में रील्स बनाते हैं और हम डांस का वीडियो बनाते हैं। लेकिन सच कहूं तो, नीहारिका के अलावा, हम सभी को डांस करना बहुत पसंद है और हर व्यक्ति की चॉइस के आधार पर हम एक गाना चुनते हैं और उस पर रील बनाते हैं। हमारा एक छोटा सा डांस ग्रुप है।“


इन बच्चों के साथ अपनी सबसे प्यारी यादों के बारे में खुलासा करते हुए उन्होंने कहा, "हम हर दिन कुछ न कुछ नया करने के लिए तैयार रहते हैं।  मुझे लगता है मेरी जो उनके साथ सबसे अच्छी यादें है वो तब की हैं जब हम पूरी रात एक कैंपिंग सीक्वेंस की शूटिंग कर रहे थे। वैसे तो हम शूटिंग कर रहे थे, लेकिन हमें कभी भी ऐसा महसूस नहीं हुआ। हम म्यूज़िक सुनते थे, मस्ती करते थे और ये सब सीन्स में दिखाई देता था। यह हम सभी का स्वाीभाविक रूप है, हम एक परिवार की तरह मस्ती करते हैं। मुझे लगता है ये वो पल हैं जो हमारे साथ हमेशा रहने वाले हैं।"


उन्होंने अपने अब तक के अनुभव के बारे में बताया, "युवा कलाकार का आसपास होना बहुत ही ख़ुशी देता है, मुझे लगता है हम बच्चों से बहुत कुछ सीखते हैं उनके रहन-सहन के बारे में, वो अभिनय को कैसे देखते हैं और कैसे वो तकनीकी प्रेमी है और इन दिनों उन्हेंझ हर चीज़ के बारे में जानकारी होती है। मुझे लगता है जवान लोग बच्चों से भी बहुत कुछ सीख सकते हैं। उनके पास भी बहुत कुछ ऐसी जानकारी होती है जो हमें समृद्ध बनाती हैं।"


अपने पहले इम्प्रेशन के बारे में बात करते हुए सायंतनी ने कहा, "ये बच्चें सिर्फ एक सकारात्मक ऊर्जा पास करते हैं। वो मेरे प्रति बहुत ही अच्छा और सम्मानित व्यवहार रखते हैं। मुझे लगता है वो सेट पर रोशनी बिखेरते हैं।" जब उनसे अपने युवा सह-कलाकारों को एक शब्द में परिभाषित करने के लिए कहा गया, तो सायंतनी ने इस पर एक मज़ेदार जवाब दिया और कहा, "मुझे लगता है विराज गहन है। वह हमेशा सीखने के लिए उत्सुक रहता है और अपने प्रतिभा-कौशल को निखारने की कोशिश करता है, एकाग्र बहुत ही प्यारा है, अंश मेरा दोस्त है और नीहारिका मेरी गर्लफ्रेंड/बहन है।"


अपनी बात को खत्म करते हुए सायंतनी ने कहा, "बच्चों के समूह के साथ शूटिंग करने का अनुभव बहुत ही खूबसूरत रहा है जो इतनी कम उम्र में बहुत ही ज़्यादा प्रोफेशनल और आदरणीय हैं। वो सेट पर एक अलग ही ऊर्जा लेकर आते हैं और मैं ये कहना चाहूंगी कि हमारी रोज़ की दिनचर्या में ढेर सारी मस्ती। होती है। मैं उनसे बहुत कुछ सीखने और उनके साथ आगे बढ़ने का बेसब्री से इंतज़ार कर रही हूं लेकिन इसी के साथ मैंने उनके साथ कुछ ऐसी यादें बनाई है जिन्हेंे मैं हमेशा संजो कर रखूंगी।"


देखते रहिए ‘तेरा यार हूं मैं’, हर सोमवार से शुक्रवार, रात 9:30 बजे सिर्फ सोनी सब पर

Popular posts
क्रेडाई द्वारा निर्माण मजदूरों को कार्यस्थल पर सामाजिक लाभ पहुंचाने के लिए समझौता ज्ञापन की घोषणा
Image
AB LAGEGA SABKA NUMBER: SEEMA PAHWA TURNS CALCULATING POLITICIAN GANGA DEVI FOR JAMTARA S2
Image
सोनी सब के शो ‘अलीबाबा दास्‍तान-ए-काबुल’ के अली, मरियम और सिमसिम भोपाल पहुंचे; सपोर्ट के लिये दर्शकों को दिया धन्‍यवाद
Image
ऑफिस ने रखा इंदौर में कदम; 3 महीने के भीतर क्षमता दोगुनी की
Image
अपने सपनों को हकीकत में बदलना परिचय: इस राष्ट्रीय बालिका दिवस पर, हम एक छोटे शहर की लड़की के धैर्य, दृढ़ता और जोश की कहानी सुनाते हैं जिनसे उसे कठिन समय का सामना करने में मदद की।
Image