विद्यादान से जीवनदान तक



30 अप्रैल,2021; जैसे कि भारत के बड़े-बड़े शहर कोविड -19 (COVID-19) मामलों में हुई अभूतपूर्व बढ़ोत्तरी के साथ जंग लड़ रहे हैं,अहमदाबाद भी इससे अलग नहीं है। रोजाना आ रहे हजारों मामलों के साथ,शहर के चिकित्सकीय बुनियादी ढांचे पर दबाव लगातार बढ़ रहा है। अप्रत्याशित रूप से बढ़ रही इस चुनौती का सामना करने के लिए,अहमदाबाद को और अधिक स्थान, अधिक काम करने वाले सहयोगियों, तथा और भी ज्यादा देखभाल की जरूरत है।


वायरस के खिलाफ राज्य की लड़ाई में सहयोग देने के लिए, अदाणी ग्रुप अहमदाबाद में एक कोविड केयर सेंटर(CCC) खोलेगा। अदाणी फाउंडेशन की देखरेख में, शहर के अदाणी विद्या मंदिर के कैंपस को कोविड पॉजिटिव (COVID +ve) मरीजों के लिए समर्थित देखभाल सुविधा (सपोर्टिव केयर फैसिलिटी) में बदल दिया जाएगा।


इस सुविधा का लक्ष्य शहर के प्रशासन और निजी स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे के भार को कम करना है और यह उन लोगों की देखभाल करेगी जो अपने परिवारों से अलग/आइसोलेट किए गए हैं। यह आइसोलेशन फैसिलिटी उनके परिवार के अन्य सदस्यों की भी सुरक्षा करेगी और कोविड -19 (COVID-19) के प्रसार को धीमा करने में भी योगदान देगी।


”तेजी से फैलने वाली इस महामारी को नियंत्रित करने के लिए सरकार और हेल्थकेयर संस्थान अपने संसाधनों को एकत्र कर रहे हैं। हमारे लिए जिस भी तरह से संभव हो हमें उनकी सहायता करनी चाहिए”, अदाणी फाउंडेशन ने कहा। “हमें उम्मीद है कि हम अदाणी विद्या मंदिर में बुनियादी ढांचे की व्यवस्था तेजी से करने के लिए अपने ग्रुप के कार्यान्वयन अनुभवों का फायदा उठा पाएंगे। हम अपने स्कूल के शिक्षण प्रांगणों को जीवन प्रांगणों- विद्यादान से जीवन दान में बदल देंगे।“


अदाणी विद्या मंदिर सीसीसी(CCC) के माध्यम से अदाणी फाउंडेशन, रोगियों को बेड,पोषणयुक्त भोजन, और चिकित्सकीय देखभाल प्रदान करेगा। बदलाव की प्रक्रिया में रोगियों और चिकित्सकीय कर्मचारियों दोनों के लिए आवास और विश्राम यूनिट्स की व्यवस्था करना, मेडिकल ऑक्सीजन, मेडिकल आपूर्तियों और निगरानी प्रणाली 


का तकनीकी ढांचा खड़ा करना शामिल है। अदाणी टीमें सरकार,शहर प्रशासन और राज्य स्वास्थय प्राधिकरणों के लिए आवश्यक पंजीकरण, रिपोर्टिंग और सुरक्षा प्रोटोकॉल भी स्थापित करेंगी।


“इस अप्रत्याशित स्थिति में अदाणी ग्रुप कैसे योगदान कर सकता है इस पर हमारे माननीय मुख्यमंत्री श्री विजयभाई रूपानी से हुई चर्चा के दौरान, ग्रुप द्वारा 3 से 4 दिनों में कोविड केयर सेंटर का निर्माण करने का चुनौतीपूर्ण कार्य लिया गया है, “अदाणी समूह ने कहा।’’इस प्रयास में गुजरात सरकार बहुत अधिक आगे बढ़कर सक्रिय और मददगार रही है।’’


अदाणी ग्रुप पहले से ही सिंगापुर, सऊदी अरब, थाईलैंड और दुबई से जरूरी आवश्यक वस्तुओं जैसे ऑक्सीजन सप्लाई के लिए 40+ISO क्रायोजेनिक कंटेनर, 20 ऑक्सीजन प्लांट जिनमें से प्रत्येक 100 से अधिक ऑक्सीजन बेडों वाले अस्पतालों को सपोर्ट करने में सक्षम है, 120 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर्स और 5000 ऑक्सीजन सिलेंडरों को लाने और आयात करने के लिए अपने कारोबारी रिश्तों और लॉजिस्टिक विशेषज्ञता का प्रयोग कर रहा था। ग्रुप कई स्थानों पर लगातार रूप से ऑक्सीजन रीफिलिंग जरूरतों में भी मदद करता रहा है।


नोएडा में भी इसी प्रकार का कोविड केयर सेंटर स्थापित करने के लिए अदाणी समूह नोएडा प्राधिकरण के साथ करीबी रूप से काम कर रहा है।


सीसीसी(CCC) पहल का मूल अदाणी परिवार का समाज को वापस देने के सिद्धांत पर आधारित है।, अदाणी फाउंडेशन के जरिए, अदाणी परिवार 18 राज्यों के 2,400 से अधिक स्थानों में शिक्षा, हेल्थकेयर, और कौशल-विकास अभियान चला रहा है। 


अदाणी फाउंडेशन के बारे में

अदाणी फाउंडेशन की स्थापना 1996 में हुई थी, आज यह 18 राज्यों में व्यापक तौर संचालन कर रहा है जिसमें नवीनता, लोगों की भागीदारी और मिलकर काम करने के दृष्टिकोण को समावेशित करने वाली पेशेवरों की टीम के साथ देश भर में 2410 गांव और कस्बे शामिल हैं।



3.67 मिलियन लोगों के जीवन को प्रभावित करते हुए और चार प्रमुख क्षेत्रों-शिक्षा, सामुदायिक स्वास्थ्य, स्थाई जीविका विकास और बुनियादी ढांचे का विकास, पर ध्यान केन्द्रित करने के साथ- साथ सामाजिक पूंजी का निर्माण करने के लिए उत्साहपूर्वक कार्य करते हुए, अदाणी फाउंडेशन ग्रामीण और शहरी समुदायों की संयुक्त वृद्धि और स्थाई विकास के लिए काम करता है, जिसके फलस्वरूप यह राष्ट्र-निर्माण में महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है।

Popular posts
हम फिल्म को यथासंभव वास्तविक रखना चाहते थे": नवोदित निर्देशक सुदर्शन गामारे*
Image
*हीमोलिम्फ' का ट्रेलर लांच* - फिल्म 27 मई 2022 को रिलीज हो रही है। - अब्दुल वाहिद शेख के वास्तविक जीवन की घटनाओं पर आधारित ट्रेलर लिंक: "आखिर में जीत सच्चाई की ही होती है, लेकिन इसे सामने लाने के लिए कष्ट उठाना पड़ता है," जॉर्ज वाशिंगटन के इस कथन से प्रेरणा लेते हुए निर्देशक सुदर्शन गमरे ने फिल्म 'हेमोलिम्फ- द इनविजिबल ब्लड' से डेब्यू किया है। आज रियल वाहिद शेख की मौजूदगी में, निर्माताओं ने फिल्म का ट्रेलर लांच किया। इस मौके पर, निर्देशक सुदर्शन और अभिनेता रियाज़ अनवर उपस्थित थे। रियाज़ अनवर फिल्म में वाहिद शेख की भूमिका निभा रहे हैं। हीमोलिम्फ, एक शिक्षक अब्दुल वाहिद शेख के जीवन की वास्तविक कहानी है, जिस पर 11 जुलाई 2006 को मुंबई ट्रेन बम विस्फोट के बाद गंभीर धाराओं में आरोप लगाए गए थे। इन आरोपों ने वाहिद के साथ ही उसके परिवार को भी झंझोड़ दिया था। फ़िल्म निर्माताओं ने न्याय के लिए वाहिद के संघर्ष को रुपहले पर्दे के माध्यम से लोगों के बीच रखने की कोशिश की है। ट्रेलर में, गलत तरीके से फँसाए गए एक मासूम स्कूल अध्यापक की पीड़ा और उसकी हार ना मानने के संकल्प को दिखाया गया है। 2.09 मिनट के ट्रेलर में वाहिद और उसके परिजनों की न्याय पाने के लिए उठाने पड़ रहे दुश्वारियों को पर्दे पर दिखाया गया है। फ़िल्म के बारे में बात करते हुए, निर्देशक सुदर्शन गामारे ने कहा, "यह मेरी पहली फिल्म है, और कहानी मेरे दिल के बहुत करीब है। मैं पिछले कुछ सालों से इस कहानी को महसूस कर रहा था और चाहता था कि हर कोई झूठे आरोपों में फंसाए गए एक आम आदमी की कहानी को सुने-देखे और महसूस करने की कोशिश करे। मैं टीजर और पोस्टर से मिली प्रतिक्रिया से बहुत उत्साहित हूँ और उम्मीद करता हूँ कि ट्रेलर को भी ऐसी ही प्रतिक्रिया मिलेगी।" फिल्म के बारे में पूछे जाने पर, रियल अब्दुल वाहिद शेख ने बताया, "मेरी आपबीती पर फिल्म बनाने के लिए कई लोगों ने मुझसे संपर्क किया, लेकिन सुदर्शन के दृढ़ विश्वास ने मुझे फिल्म के लिए 'हाँ' कहने को बाध्य कर दिया। उनकी सोच रही कि बिना किसी लाग-लपेट के वास्तव में जो कुछ हुआ है, उसे दिखाया जाए। ट्रेलर देखने के बाद उन डरावने वर्षों से जुड़ी मेरी पिछली यादें ताजा हो गईं। मैं रियाज़ की भी प्रशंसा करना चाहूँगा, जिन्होंने पर्दे पर मेरे किरदार को निभाया है। मुझे उम्मीद है कि यह फिल्म बड़ी संख्या में लोगों तक पहुँचेगी, ताकि वे आपराधिक कार्यवाही में फंसाए जाने वाले एक आम आदमी का दर्द समझ सकें। यह फिल्म टिकटबारी और एबी फिल्म्स एंटरटेनमेंट द्वारा आदिमन फिल्म्स के सहयोग से बनाई गई है। इसके सह-निर्माता एनडी9 स्टूडियोज़ हैं। फिल्म सुदर्शन गमरे द्वारा लिखित और निर्देशित है। फिल्म में अब्दुल वाहिद शेख की भूमिका रियाज़ अनवर ने निभाई है। फिल्म में मुज्तबा अज़ीज़ नाज़ा ने बैकग्राउंड स्कोर दिया है, डायरेक्टर ऑफ फोटोग्राफी रोहन राजन मापुस्कर हैं और फिल्म का संपादन एचएम ने किया है। यह फिल्म 27 मई 2022 को आपके नज़दीकी सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली है।
Image
ओमरॉन हेल्थकेयर ने वाराणसी में नया एक्सपीरियंस एवं सर्विस सेंटर लॉन्च किया इस लॉन्च के साथ ओमरॉन ने टियर टू शहरों में अपनी पहुंच बढ़ाई
Image
साक्षी तंवर हमारे देश की बेहतरीन अभिनेत्रियों में से एक हैं’’ अनिल कपूर, अनुष्‍का शर्मा ने नेटफ्लिक्‍स इंडिया के ‘माई’ पर की तारीफों की बौछार
Image
प्रेस विज्ञप्ति फैंटेसी स्पोर्ट्स प्लेटफॉर्म के लिए एक सक्षम रेगुलेशन के पक्षधर हैं गुजरात के खेल मंत्री