किसान आंदोलन- राकेश टिकैत बोले 29 नवंबर को ट्रैक्टरों से संसद भवन जाएंगे।



दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे किसानों के आंदोलन का एक साल पूरा होने जा रहा है। 26 नवम्बर को इस किसान आंदोलन के एक साल पूरा होने पर दिल्ली की सभी सीमाओं पर किसानों की संख्या बढ़ाई जाएगी। साथ ही 29 नवम्बर से हर दिन संसद के सत्र चलने तक 500 किसान 30 ट्रैक्टर ट्रालियों में 'संसद मार्च' करेंगे। 


तीन कृषि कानूनों को रद्द किए जाने की मांग को लेकर पिछले साल से ही संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले हजारों किसान दिल्ली के तीन बॉर्डर पर डेरा जमाए हुए हैं। इस दौरान किसान नेताओं की केंद्र सरकार से कई दौर की बातचीत हुई तो जो बेनतीजा रही। अब इस किसान आंदोलन का एक साल पूरा होने जा रहा है जिसको लेकर संयुक्त किसान मोर्चा ने एक बैठक की और फैसला लिया है कि दिल्ली से सटे राज्यों को छोड़कर बाकी सभी राज्यों की राजधानियों में किसान, मजूदर, महिलाओं का व्यापक प्रदर्शन होगा। दूसरी तरफ दिल्ली की सीमाओं पर पंजाब, हरियाणा के किसानों की संख्या बढ़ाई जाएगी। 


29 नवम्बर से संसद का शीतकालीन सत्र शुरू हो रहा है। सत्र में पहले दिन से आखिरी दिन तक हर रोज 30 ट्रैक्टर ट्रॉली में 500 किसान हर रोज संसद की तरफ कूच करेंगे। संसद की तरफ जाने वाले ट्रैक्टर पहले से तय होंगे और वो पूरे अनुशासन का पालन करेंगे। इस ट्रैक्टर मार्च का मकसद केंद्र सरकार पर कानून रदद् करने का दबाव बढ़ाना होगा। 


इसके अलावा इस बैठक में हाल ही में आई उस जांच रिपोर्ट पर भी चर्चा हुई जिसमें ये सामने आया है कि लखीमपुर हिंसा के दौरान केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र को रायफल से गोली चली थी। इन पर संयुक्त किसान मोर्चा ने अजय मिश्र की बर्खास्तगी और सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जांच की मांग दोहराई।


राकेश टिकैत ने कू कर दी जानकारी 

किसान आंदोलन को लेकर भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौ राकेश टिकैत ने सोशल सोशल मीडिया हैंडल पर आगामी संसद के शीतकालीन सत्र को लेकर आंदोलन के बारे में जानकारी दी।  अपनी पोस्ट में वे लिखते है - ट्रैक्टर भी वही हैं और किसान भी वही। इस बार गूंगी-बहरी सरकार को जगाने और अपनी बात मनवाने के लिए किसान 29 नवंबर की ट्रैक्टरों से संसद भवन जाएंगे।


<blockquote class="koo-media" data-koo-permalink="https://embed.kooapp.com/embedKoo?kooId=2503d084-8c2c-4f08-b976-133b05ed6ee9" style="background:transparent;border: medium none;padding: 0;margin: 25px auto; max-width: 550px;"> <div style="display: flex; flex-direction: column; flex-grow:2; padding: 5px;"><div style="display:flex;flex-direction:column; background: #ffffff; box-shadow: 0 0 0 1.5pt #e8e8e3; border-radius: 12px; font-family: 'Roboto', arial, sans-serif; color: #424242 !important; overflow: hidden; position: relative; " > <a class="embedKoo-koocardheader" href="https://www.kooapp.com/dnld" data-link="https://embed.kooapp.com/embedKoo?kooId=2503d084-8c2c-4f08-b976-133b05ed6ee9" target="_blank" style=" background-color: #f2f2ef !important; padding: 6px; display: flex; border-bottom: 1.5pt solid #e8e8e3; justify-content: center; text-decoration:none;color:inherit !important" >Koo App</a> <div style="padding: 10px"> <a target="_blank" style="text-decoration:none;color: inherit !important;" href="https://www.kooapp.com/koo/Rakesh.Tikait/2503d084-8c2c-4f08-b976-133b05ed6ee9" >ट्रैक्टर भी वही हैं और किसान भी वही। इस बार गूंगी-बहरी सरकार को जगाने और अपनी बात मनवाने के लिए किसान 29 नवंबर की ट्रैक्टरों से संसद भवन जाएंगे।

#FarmersProtest</a> <div style="margin:15px 0">  </div> - <a style="color: inherit !important;" target="_blank" href="https://www.kooapp.com/profile/Rakesh.Tikait" >Rakesh Tikait (@Rakesh.Tikait)</a> 12 Nov 2021 </div> </div> </div> </blockquote> <script src="https://embed.kooapp.com/embedLoader.js"></script>

Popular posts
मिलिए एंडटीवी के 'हप्पू की उलटन पलटन' की नई दबंग दुल्हनिया 'राजेश' उर्फ ​​गीतांजलि मिश्रा से!
Image
चेन्नई प्लांट के उद्घाटन के साथ अपनी रणनीतिक पार्टनरशिप की शुरुआत करेंगे टीएसएफ ग्रुप और माइंड एस.आर.एल. लेगारो अपने ग्लोबल फुटप्रिंट्स के साथ सर्वश्रेष्ठ इटालियन और इंडियन कार्बन कंपोजिट को एकीकृत करता है। यह ब्रांड माइंड एस.आर.एल. की समृद्ध इटालियन मोटर वैली विरासत को साथ लाता है और ग्लोबल कार्बन कंपोजिट को, वास्तविकता के करीब एक कदम आगे ले जाने के लिए टीएसएफ समूह (तत्कालीन टीवीएस समूह का हिस्सा) का हाई- क्वालिटी स्केलेबल मैन्युफैक्चरिंग अनुभव प्रदान करता है।
Image
नेवर बैक डाउन : रिवोल्ट’ के हिंदी टेलीविजन प्रीमियर में देखिए अंडरग्राउंड अपराध की रोमांचक दुनिया की दिलचस्प दास्तान, 23 मार्च को एंड पिक्चर्स पर जरा सोचिए कि आप एक ऐसी स्थिति में फंस गए हैं, जहां से बाहर निकलने का सिर्फ एक ही तरीका है कि आप अपनी आजादी के लिए लड़ें।
Image
गोल्डनबॉय, पंकज आडवाणी मार्च में अजेय रहे या ऐसक्यूइस्ट पंकज आडवाणी मार्च में एक अजेय योद्धा बनने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।
Image
एमवे इंडिया ने युवाओं एवं महिलाओं के बेहतर स्वास्थ्य को सुनिश्चित करने के लिए रेसलर संग्राम सिंह के साथ की साझेदारी
Image