लगातार पांच साल से स्वच्छता में अव्वल है इंदौर, जानें- इसके पीछे क्या है वजह




भोपाल। इंदौर को स्वच्छ सर्वेक्षण में लगातार पांचवी बार देश में सबसे स्वच्छ शहर के साथ-साथ 'सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज' व कचरा मुक्त शहर स्टार रेटिंग प्रोटोकाल के तहत 'फाइव स्टार रेटिंग' का पुरस्कार भी मिला।जनभागीदारी के बगैर इंदौर कभी स्वच्छता में सिरमौर नहीं हो सकता था। यहां के नागरिकों को स्वच्छता के लिए तैयार करने और शिक्षित करने का सबसे महत्वपूर्ण काम किया गया। इसके लिए स्वयंसेवी संस्थाओं, सामाजिक संगठनों, स्थानीय संगठनों की मदद ली गई। पायलट प्रोजेक्ट के तहत कुछ वार्डो में काम किया गया। इसके बाद धीरे-धीरे पूरे शहर में प्रोजेक्ट शुरू किए गए। इससे लोगों को नया सिस्टम समझने में आसानी हुई। सबसे स्वच्छ शहर का पुरस्कार मिलने के बाद सीएम शिवराज सिंह ने माइक्रोब्लागिंग एप कू पर पोस्ट कर कहा कि स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 के तहत में मध्यप्रदेश ने एक बार फिर देश में सबसे स्वच्छ शहर का तमगा इंदौर के पास बरकरार रखते हुए कई वर्गों में उल्लेखनीय सफलता के लिए सम्मान प्राप्त किया। हम सभी मध्यप्रदेश वासी आदरणीय राष्ट्रपति को हृदय से धन्यवाद करते हैं। 

<blockquote class="koo-media" data-koo-permalink="https://embed.kooapp.com/embedKoo?kooId=8c2837a1-dfbd-4803-9415-6197d3e4f149" style="background:transparent;border: medium none;padding: 0;margin: 25px auto; max-width: 550px;"> <div style="display: flex; flex-direction: column; flex-grow:2; padding: 5px;"><div style="display:flex;flex-direction:column; background: #ffffff; box-shadow: 0 0 0 1.5pt #e8e8e3; border-radius: 12px; font-family: 'Roboto', arial, sans-serif; color: #424242 !important; overflow: hidden; position: relative; " > <a class="embedKoo-koocardheader" href="https://www.kooapp.com/dnld" data-link="https://embed.kooapp.com/embedKoo?kooId=8c2837a1-dfbd-4803-9415-6197d3e4f149" target="_blank" style=" background-color: #f2f2ef !important; padding: 6px; display: flex; border-bottom: 1.5pt solid #e8e8e3; justify-content: center; text-decoration:none;color:inherit !important" >Koo App</a> <div style="padding: 10px"> <a target="_blank" style="text-decoration:none;color: inherit !important;" href="https://www.kooapp.com/koo/chouhanshivraj/8c2837a1-dfbd-4803-9415-6197d3e4f149" >स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 के तहत में मध्यप्रदेश ने एक बार फिर देश में सबसे स्वच्छ शहर का तमगा इंदौर के पास बरकरार रखते हुए कई वर्गों में उल्लेखनीय सफलता के लिए सम्मान प्राप्त किया। हम सभी मध्यप्रदेश वासी आदरणीय राष्ट्रपति को हृदय से धन्यवाद करते हैं। #SwachhSurvekshanAwards2021</a> <div style="margin:15px 0">  </div> - <a style="color: inherit !important;" target="_blank" href="https://www.kooapp.com/profile/chouhanshivraj" >Shivraj Singh Chouhan (@chouhanshivraj)</a> 20 Nov 2021 </div> </div> </div> </blockquote> <script src="https://embed.kooapp.com/embedLoader.js"></script>

स्वच्छता में इस तरह लोगों को पीछे किया इंदौर

1-पहले वर्ष 2017 में नगर निगम ने गीला और सूखा कचरा अलग-अलग करके गाड़ियों में एकत्र करने की व्यवस्था शुरू की। नागरिकों को इसके लिए प्रेरित किया गया। सड़कों की नियमित सफाई शुरू हुई।

2-वर्ष 2018 में नगर निगम ने शहर के गीले कचरे के 100 प्रतिशत निपटान के लिए खाद बनाने की कई यूनिट लगवाई गई।

3-2019 में ट्रेंचिंग ग्राउंड में पड़े 15 लाख टन पुराने कचरे का पूरी तरह निपटान कर वहां 100 एकड़ जमीन खाली कर दी गई। अब वहां एक लाख से ज्यादा पेड़-पौधे लगे हैं।

4-- वर्ष 2020 आते-आते शहर में सफाई जनआंदोलन बन चुका था। प्रदूषण कम करने के लिए सड़कों में सुधार किए गए। इस वर्ष दूसरी बार फाइव स्टार रेटिंग भी मिली।

5- 2021 में इंदौर ने शहर के नदी-नालों को सीवरेज आउटफाल मुक्त कर दिया। इंदौर पहला शहर है, जो घरों से पांच तरह का कचरा अलग-अलग करके लेने की शुरआत कर चुका है।


बता दें कि इस बार इंदौर ने सफाई का 'पंच' लगा दिया। सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज में भी इंदौर अव्वल रहा। इसमें 12 करोड़ रुपए का पुरस्कार मिला। राज्य कैटेगरी में मध्यप्रदेश को तीसरा स्थान मिला है। मध्यप्रदेश को कुल 35 अवॉर्ड मिले हैं। इंदौर के पांचवीं बार टॉप रहने पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का इंदौरी अंदाज दिखा। उन्होंने ट्वीट किया- वाह भिया! छा गया अपना इंदौर...। दस लाख से ज्यादा आबादी वाले टॉप 20 शहरों में मप्र के चारों बड़े शहर शामिल हैं। इंदौर-1, भोपाल-7, ग्वालियर-15, जबलपुर-20 नंबर पर है। 10 लाख तक की आबादी में उज्जैन का पांचवां नंबर है। वहीं तीन लाख की आबादी वाले शहर में देवास को छठवां स्थान मिला है।

Popular posts
हम फिल्म को यथासंभव वास्तविक रखना चाहते थे": नवोदित निर्देशक सुदर्शन गामारे*
Image
*हीमोलिम्फ' का ट्रेलर लांच* - फिल्म 27 मई 2022 को रिलीज हो रही है। - अब्दुल वाहिद शेख के वास्तविक जीवन की घटनाओं पर आधारित ट्रेलर लिंक: "आखिर में जीत सच्चाई की ही होती है, लेकिन इसे सामने लाने के लिए कष्ट उठाना पड़ता है," जॉर्ज वाशिंगटन के इस कथन से प्रेरणा लेते हुए निर्देशक सुदर्शन गमरे ने फिल्म 'हेमोलिम्फ- द इनविजिबल ब्लड' से डेब्यू किया है। आज रियल वाहिद शेख की मौजूदगी में, निर्माताओं ने फिल्म का ट्रेलर लांच किया। इस मौके पर, निर्देशक सुदर्शन और अभिनेता रियाज़ अनवर उपस्थित थे। रियाज़ अनवर फिल्म में वाहिद शेख की भूमिका निभा रहे हैं। हीमोलिम्फ, एक शिक्षक अब्दुल वाहिद शेख के जीवन की वास्तविक कहानी है, जिस पर 11 जुलाई 2006 को मुंबई ट्रेन बम विस्फोट के बाद गंभीर धाराओं में आरोप लगाए गए थे। इन आरोपों ने वाहिद के साथ ही उसके परिवार को भी झंझोड़ दिया था। फ़िल्म निर्माताओं ने न्याय के लिए वाहिद के संघर्ष को रुपहले पर्दे के माध्यम से लोगों के बीच रखने की कोशिश की है। ट्रेलर में, गलत तरीके से फँसाए गए एक मासूम स्कूल अध्यापक की पीड़ा और उसकी हार ना मानने के संकल्प को दिखाया गया है। 2.09 मिनट के ट्रेलर में वाहिद और उसके परिजनों की न्याय पाने के लिए उठाने पड़ रहे दुश्वारियों को पर्दे पर दिखाया गया है। फ़िल्म के बारे में बात करते हुए, निर्देशक सुदर्शन गामारे ने कहा, "यह मेरी पहली फिल्म है, और कहानी मेरे दिल के बहुत करीब है। मैं पिछले कुछ सालों से इस कहानी को महसूस कर रहा था और चाहता था कि हर कोई झूठे आरोपों में फंसाए गए एक आम आदमी की कहानी को सुने-देखे और महसूस करने की कोशिश करे। मैं टीजर और पोस्टर से मिली प्रतिक्रिया से बहुत उत्साहित हूँ और उम्मीद करता हूँ कि ट्रेलर को भी ऐसी ही प्रतिक्रिया मिलेगी।" फिल्म के बारे में पूछे जाने पर, रियल अब्दुल वाहिद शेख ने बताया, "मेरी आपबीती पर फिल्म बनाने के लिए कई लोगों ने मुझसे संपर्क किया, लेकिन सुदर्शन के दृढ़ विश्वास ने मुझे फिल्म के लिए 'हाँ' कहने को बाध्य कर दिया। उनकी सोच रही कि बिना किसी लाग-लपेट के वास्तव में जो कुछ हुआ है, उसे दिखाया जाए। ट्रेलर देखने के बाद उन डरावने वर्षों से जुड़ी मेरी पिछली यादें ताजा हो गईं। मैं रियाज़ की भी प्रशंसा करना चाहूँगा, जिन्होंने पर्दे पर मेरे किरदार को निभाया है। मुझे उम्मीद है कि यह फिल्म बड़ी संख्या में लोगों तक पहुँचेगी, ताकि वे आपराधिक कार्यवाही में फंसाए जाने वाले एक आम आदमी का दर्द समझ सकें। यह फिल्म टिकटबारी और एबी फिल्म्स एंटरटेनमेंट द्वारा आदिमन फिल्म्स के सहयोग से बनाई गई है। इसके सह-निर्माता एनडी9 स्टूडियोज़ हैं। फिल्म सुदर्शन गमरे द्वारा लिखित और निर्देशित है। फिल्म में अब्दुल वाहिद शेख की भूमिका रियाज़ अनवर ने निभाई है। फिल्म में मुज्तबा अज़ीज़ नाज़ा ने बैकग्राउंड स्कोर दिया है, डायरेक्टर ऑफ फोटोग्राफी रोहन राजन मापुस्कर हैं और फिल्म का संपादन एचएम ने किया है। यह फिल्म 27 मई 2022 को आपके नज़दीकी सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली है।
Image
ओमरॉन हेल्थकेयर ने वाराणसी में नया एक्सपीरियंस एवं सर्विस सेंटर लॉन्च किया इस लॉन्च के साथ ओमरॉन ने टियर टू शहरों में अपनी पहुंच बढ़ाई
Image
साक्षी तंवर हमारे देश की बेहतरीन अभिनेत्रियों में से एक हैं’’ अनिल कपूर, अनुष्‍का शर्मा ने नेटफ्लिक्‍स इंडिया के ‘माई’ पर की तारीफों की बौछार
Image
प्रेस विज्ञप्ति फैंटेसी स्पोर्ट्स प्लेटफॉर्म के लिए एक सक्षम रेगुलेशन के पक्षधर हैं गुजरात के खेल मंत्री