BREAKING NEWS* *Omicron in MP-Chhattisgarh: ओमीक्रोन को लेकर एमपी-छत्तीसगढ़ में अलर्ट, पड़ोसी राज्यों/ बॉर्डर के जिलों में चौकसी बढ़ी*



ग्रह  मंत्री नरोत्तम मिश्रा  ने कहा है कि नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर सरकार पूरी तरह सजग और सतर्क है| 



*महाराष्ट्र और राजस्थान में ओमीक्रोन के केस मिले हैं। दोनों एमपी के पड़ोसी राज्य है। इससे एमपी की चिंता बढ़ गई है। मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में इसे लेकर सरकार अलर्ट पर है। दोनों ही राज्यों में नए कोरोना वायरस के केस बढ़ गए हैं।*



*भोपाल* एमपी में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। वहीं, पड़ोसी राज्यों में ओमीक्रोन के केस मिले हैं। इसके बाद पूरे एमपी में अलर्ट है। एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन पर टेस्टिंग बढ़ा दी गई है। साथ ही टीकाकरण भी तेज कर दिया गया है। सरकार की तरफ से हर लोगों से अपील की जा रही है कि कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें। अभी एमपी में ओमीक्रोन कोई केस नहीं मिला है।


मगर विदेश से लौटे लोगों पर निगरानी रखी जा रही है। इंदौर और जबलपुर में सरकार की विशेष निगाह है। साथ ही भोपाल में भी तेजी से केस बढ़ रहे हैं। एमपी में अभी 11 जिलों में कोरोना वायरस के मामले हैं। पूरे प्रदेश में 133 एक्टिव केस हैं। भोपाल में 15 दिन के अंदर 106 नए मरीज मिले हैं। वहीं, इंदौर में 80 मरीज मिले हैं। इसके बाद जबलपुर में 13 और रायसेन में 12 मरीज मिले हैं। 15 दिन के अंदर की बात करें तो भोपाल में सबसे ज्यादा केस मिले हैं।


आज ग्रह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया है कि ओमीक्रोन को लेकर एमपी-छत्तीसगढ़ में अलर्ट, पड़ोसी राज्यों/ बॉर्डर के जिलों में चौकसी बढ़ा दी गई है |  इसी के साथ ग्रह मंत्री नरोत्तम मिश्रा   बे ये भी बताया है कि  नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर सरकार पूरी तरह सजग और सतर्क और पूरी सावधानी बरत  रही है |

*Home Minister Narottam Mishra  Press Conference*  


<blockquote class="koo-media" data-koo-permalink="https://embed.kooapp.com/embedKoo?kooId=c8bfb004-9013-417e-ae81-3cf74829866e" style="background:transparent;border: medium none;padding: 0;margin: 25px auto; max-width: 550px;"> <div style="padding: 5px;"><div style="background: #ffffff; box-shadow: 0 0 0 1.5pt #e8e8e3; border-radius: 12px; font-family: 'Roboto', arial, sans-serif; color: #424242 !important; overflow: hidden; position: relative; " > <a class="embedKoo-koocardheader" href="https://www.kooapp.com/dnld" data-link="https://embed.kooapp.com/embedKoo?kooId=c8bfb004-9013-417e-ae81-3cf74829866e" target="_blank" style=" background-color: #f2f2ef !important; padding: 6px; display: inline-block; border-bottom: 1.5pt solid #e8e8e3; justify-content: center; text-decoration:none;color:inherit !important;width: 100%;text-align: center;" >Koo App</a> <div style="padding: 10px"> <a target="_blank" style="text-decoration:none;color: inherit !important;" href="https://www.kooapp.com/koo/drnarottammisra/c8bfb004-9013-417e-ae81-3cf74829866e" >नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर सरकार पूरी तरह सजग और सतर्क है।      प्रदेश की सीमा से सटे राज्यों में ओमिक्रॉन के केस मिलने के बाद बॉर्डर के जिलों में चौकसी बढ़ा दी गई है।   #OmicronVirus #IndiaFightsCorona</a> <div style="margin:15px 0"> <a style="text-decoration: none;color: inherit !important;" target="_blank" href="https://www.kooapp.com/koo/drnarottammisra/c8bfb004-9013-417e-ae81-3cf74829866e" > View attached media content </a> </div> - <a style="color: inherit !important;" target="_blank" href="https://www.kooapp.com/profile/drnarottammisra" >Dr.Narottam Mishra (@drnarottammisra)</a> 6 Dec 2021 </div> </div> </div> </blockquote><img style="display: none; height: 0; width: 0" src="https://embed.kooapp.com/dolon.png?id=c8bfb004-9013-417e-ae81-3cf74829866e"> <script src="https://embed.kooapp.com/embedLoader.js"></script>




ओमीक्रोन संकट को देखते हुए एमपी में वैक्सीनेशन की रफ्तार भी तेज हो गई है। पूरे प्रदेश में वैक्सीनेशन ड्राइव चलाया जा रहा है। इसके साथ ही प्रदेश में नौ करोड़ लोगों को अभी टीका लग गया है। हालांकि कई जगहों पर लोग दूसरी डोज लगवाने से कतरा रहे हैं। इसके बावजूद स्वास्थ्यकर्मी गांव-गांव तक जा रहे हैं।


*MP में ओमीक्रोन का खतरा*

कोरोना की दूसरी लहर के दौरान भी एमपी पर पड़ोसी राज्यों का ज्यादा असर पड़ा था। ओमीक्रोन के केस पड़ोसी राज्य राजस्थान में नौ और महाराष्ट्र में सात मिले हैं। दोनों ही राज्यों की सीमा एमपी से लगते हैं। एक-दूसरे राज्य में लोग धड़ल्ले से आते जाते हैं। ऐसे में संक्रमण फैलने का खतरा लगातार बढ़ा रहता है। सीएम खुद पूरे मामले की मॉनिटरिंग कर रहे हैं।



*छत्तीसगढ़ में मिल रहे हैं ज्यादा केस*

दूसरी लहर के दौरान भी छत्तीसगढ़ में कोरोना ने जमकर कहर बरपाया था। छोटे राज्य होने के बावजूद यहां 10 हजार के पार केस कई दिनों तक मिलते रहे थे। ओमीक्रोन को लेकर यहां भी एहतियात बरता जा रहा है। रविवार को पूरे प्रदेश में 25 नए मरीज मिले हैं। यह आंकड़ा बड़ा है। पूरे प्रदेश में 326 एक्टिव केस हैं। छत्तीसगढ़ की सीमा भी महाराष्ट्र से लगती है। शनिवार को पूरे प्रदेश में

 



- महाराष्ट्र और राजस्थान में ओमीक्रोन के केस मिले

- पड़ोसी राज्यों में केस मिलने से एमपी-छत्तीसगढ़ में बढ़ी चिंता

- राजधानी भोपाल में मिल रहे हैं सबसे ज्यादा केस

- छत्तीसगढ़ में 300 से ज्यादा हैं एक्टिव केस

Popular posts
Sustainable Mining: How new technologies are reshaping the mining industry
Image
क्यों हमें सविता जैसी बेटियों के स्वागत की ज्यादा जरुरत है जब एक महिला शिक्षित होती है तो एक राष्ट्र शिक्षित होता है।
Image
पेपरफ्राई ने जयपुर में अपना दूसरा स्टूडियो लॉन्च किया* उत्तर भारत मेंअपनी ओम्नी चैनल मौजूदगी को मजबूती प्रदान की
Image
*ऑर्बिया के बिल्डिंग एवं इंफ्रास्ट्रेक्चंर बिजनेस वाविन ने वेक्ट्स के साथ साझेदारी की इस सहयोग की मदद से कंपनी भारतीय बाजार को जल एवं स्वीच्छवता समाधानों तक पहुँच प्रदान करेगी*
Image
पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का चमकौर साहिब से न्यूज़18 इंडिया के मैनेजिंग एडिटर किशोर अजवानी के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत:*
Image