झारखंड के जमशेदपुर में पेपरफ्राई का पहला स्टूडियो हुआ लॉन्च* *पेपरफ्राई ने लॉन्च किया झारखंड के जमशेदपुर में अपना पहला स्टूडियो* पूर्वी भारत में अपनी ओमनी चैनल उपस्थिति को कर रहा मजबूत







*जमशेदपुर फरवरी, 2022*: भारत के अव्वल दर्जे के फर्नीचर और घरेलू उत्पाद बाजार, पेपरफ्राई ने जमशेदपुर, झारखंड में अपना पहला स्टूडियो लॉन्च करने की घोषणा की। इसका ऑफलाइन विस्तार, कंपनी के विशिष्ट बाजारों में प्रवेश करने और भारत में फर्नीचर और घरेलू उत्पाद खंड में सबसे बड़ा ओमनी-चैनल व्यवसाय स्थापित करने के उद्देश्य के अनुरूप है। पेपरफ्राई ने वर्ष 2014 में अपना पहला स्टूडियो लॉन्च किया था, और वर्तमान में देश के 65 से अधिक शहरों में इसके 100 से अधिक स्टूडियोज़ हैं।


स्टूडियो को पीजी कॉर्पोरेशन के साथ साझेदारी में लॉन्च किया गया है। यह ठेकेदार क्षेत्र, रोड नंबर 2, बिस्टुपुरिन जमशेदपुर में एक प्रमुख स्थान पर स्थित है, जो 800 वर्ग फुट के क्षेत्र में फैला हुआ है। यह ग्राहकों को फर्नीचर और डेकोर की क्यूरेटेड रेंज का बेहतरीन अनुभव प्रदान करता है, जिसे पेपरफ्राई की वेबसाइट पर उपलब्ध 1 लाख से अधिक उत्पादों के विभेदित पोर्टफोलियो से सावधानीपूर्वक चयनित किया जाता है। ये स्टूडियोज़ उपभोक्ताओं द्वारा उत्पाद खरीदने से पहले लकड़ी की फिनिशिंग और गुणवत्ता को समझने के लिए बेहतरीन स्पर्श और अनुभव प्रदान करते हैं। इसमें डिज़ाइन विशेषज्ञ भी हैं, जो पूरक डिज़ाइन परामर्श प्रदान करते हैं, जिससे उपभोक्ताओं को उनके सपनों का घर बनाने में सहायता मिलती है।


अपने ओमनी-चैनल नेटवर्क का निर्माण करते हुए, 2017 में, पेपरफ्राई ने एक अद्वितीय फ्रैंचाइज़ी मॉडल पेश किया और बहुत ही कम समय में उन्होंने पठानकोट, त्रिवेंद्रम, पटना, बेंगलुरु, इंदौर, चेन्नई, गुवाहाटी और कोयंबटूर जैसे टियर 2 और टियर 3 बाजारों तथा महानगरों में 74 एफओएफओ स्टूडियोज़ लॉन्च किए। इन फ्रैंचाइज़ी स्टूडियोज़ के लिए, पेपरफ्राई ने बेहतरीन स्थानीय उद्यमियों के साथ साझेदारी करने का फैसला किया, जो हाइपरलोकल डिमांड साइकल और ट्रेंड से अच्छी तरह वाकिफ हैं। कंपनी ने 2020 में इस फ्रैंचाइज़ी मॉडल को मौजूदा और संभावित फ्रैंचाइज़ी भागीदारों, दोनों के लिए अधिक आकर्षक बनाने हेतु संशोधित किया। यह अब एक रिवॉर्ड स्ट्रक्चर प्रदान करता है, जिसमें फ्रैंचाइज़ी के मालिक फ्रैंचाइज़ी स्टूडियो के माध्यम से किए गए प्रत्येक ऑनलाइन ट्रांजेक्शन पर 15% (पिछला मॉडल: 10%) का कमीशन अर्जित करके लाभ उठा सकते हैं।


जून 2021 में, पेपरफ्राई ने एक वर्ष में 200 से अधिक स्टूडियोज़ स्थापित करने के उद्देश्य से पेपरफ्राई एक्सेलेरेटर प्रोग्राम लॉन्च किया। इस नए कार्यक्रम का उद्देश्य पेपरफ्राई का तेजी से ऑफलाइन विस्तार करना है और शेष वर्ष के लिए प्रतिदिन एक उद्यमी को जोड़ना है। हालाँकि, नए कार्यक्रम का बड़ा अंतर फ्रैंचाइज़ी भागीदारों के लिए आवश्यक कैपेक्स है, जो मौजूदा फ्रैंचाइज़ी कार्यक्रम की तुलना में लगभग 15 लाख यानी एक तिहाई है।


दोनों मॉडल 100% मूल्य समता पर आधारित हैं और इसके लिए पार्टनर को उत्पाद सूची रखने की आवश्यकता नहीं है, जिससे यह पारस्परिक रूप से लाभकारी व्यवसाय संघ बन जाता है।


लॉन्च के बारे में बात करते हुए पेपरफ्राई की बिजनेस हेड अमृता गुप्ता ने कहा, "हमें पीजी कॉर्पोरेशन के साथ साझेदारी में जमशेदपुर में अपना पहला स्टूडियो लॉन्च करके अपने ओमनी-चैनल फुटप्रिंट का विस्तार करते हुए खुशी हो रही है। पेपरफ्राई में, हमारा उद्देश्य अपने ग्राहकों के लिए अधिक से अधिक टचपॉइंट यानी स्पर्श के माध्यम से उपलब्ध होना है, जो कि शानदार मूल्य बिंदुओं पर शानदार विविधता प्रदान करते हैं। इस प्रकार, वर्तमान समय में जहाँ व्यक्ति अपने घर-पर्यावरण के प्रति अधिक जागरूक हो गए हैं और एक ऐसी जगह बनाने के लिए निवेश कर रहे हैं, जो कार्यात्मक और सौंदर्यपूर्ण हो। हमें विश्वास है कि हमारे स्टूडियोज़ उपभोक्ताओं को एक आदर्श घर बनाने में सहायता करेंगे।"


पीजी कॉर्पोरेशन के मालिक अनिमेष अग्रवाल ने कहा, "हम भारत के प्रमुख घरेलू और फर्नीचर बाजार पेपरफ्राई के साथ साझेदारी करके बेहद खुश हैं। पेपरफ्राई ने वास्तव में एक अलग तरह के ओमनीचैनल व्यवसाय का बीड़ा उठाया है और हमें सबसे बड़ा ओमनीचैनल होम और फर्नीचर व्यवसाय स्थापित करने में उनकी यात्रा का हिस्सा बनने पर गर्व है।"

Popular posts
क्रेडाई द्वारा निर्माण मजदूरों को कार्यस्थल पर सामाजिक लाभ पहुंचाने के लिए समझौता ज्ञापन की घोषणा
Image
AB LAGEGA SABKA NUMBER: SEEMA PAHWA TURNS CALCULATING POLITICIAN GANGA DEVI FOR JAMTARA S2
Image
सोनी सब के शो ‘अलीबाबा दास्‍तान-ए-काबुल’ के अली, मरियम और सिमसिम भोपाल पहुंचे; सपोर्ट के लिये दर्शकों को दिया धन्‍यवाद
Image
ऑफिस ने रखा इंदौर में कदम; 3 महीने के भीतर क्षमता दोगुनी की
Image
अपने सपनों को हकीकत में बदलना परिचय: इस राष्ट्रीय बालिका दिवस पर, हम एक छोटे शहर की लड़की के धैर्य, दृढ़ता और जोश की कहानी सुनाते हैं जिनसे उसे कठिन समय का सामना करने में मदद की।
Image