विवेक मुशरान ने बेहतरीन कलाकारों और दमदार सहयोगी किरदारों के महत्वि पर बात की



नेटफ्लिक्सम इंडिया के आगामी क्राइम ड्रामा थ्रिलर ‘माई’ के रोमांचक ट्रेलर ने दर्शकों को मंत्रमुग्धव कर दिया है। ‘माई’ में लोकप्रिय अभिनेत्री साक्षी तंवर ‘शील’ का मुख्यक किरदार निभा रही हैं, जबकि बहुमुखी प्रतिभा के धनी अभिनेता विवेक मुशरान उनके पति ‘यशपाल चौधरी’ बने हैं।


‘माई’ में बड़ी ही खूबसूरती से दिखाया गया है कि अपने बच्चे  की मौत के बाद एक कपल का दुख कितना अलग-अलग होता है। इसकी कहानी एक मध्यीम-वर्गीय माँ ‘शील’ के इर्द-गिर्द है, जो अपनी बेटी की चौंकाने वाली और जघन्यभ हत्या  के बाद अपने दुख को न्याकय पाने का हथियार बनाती है। इस शो में विवेक मुशरान उस बेटी के उतने ही दुखी पिता का किरदार निभा रहे हैं, जो अपनी बेटी सुप्रिया की मौत के ग़म से अपना ध्याेन हटाने के लिये अलग हटकर काम करने लगता है, वह अपनी पत्नीा से बिल्कुपल अलग है जो किसी भी कीमत पर अपनी बेटी की मौत का बदला लेना चाहती है।


विवेक का मानना है कि लेखकों और फिल्मककारों ने अब ऐसे कलाकारों को जन्मअ दिया है, जिन्हेंा ‘मुख्यि’ किरदार तो नहीं कहा जाएगा, लेकिन वे अपने बेजोड़ परफॉर्मेंस से सीरीज में चार-चांद लगा देंगे। जैसे ‘गुंजन सक्सेरना’ में पंकज त्रिपाठी, ‘द फेम गेम’ में मानव कौल या ‘पगलैट’ में आशुतोष राणा।


इस पर रोशनी डालते हुए, अभिनेता विवेक मुशरान ने कहा, “ओटीटी ने खेल को बदल दिया है। इसने कलाकारों के लिये ऐसे रास्तेल खोले हैं, जो पहले कभी नहीं थे। अब निर्देशक और पटकथा लेखक कहानी को केवल मुख्ये कलाकारों के इर्द-गिर्द नहीं रखते हैं, बल्कि उनकी दुनिया और कथानक  बनाने की प्रक्रिया में एक दमदार परिदृश्य  तैयार करने के लिये सहयोगी किरदारों का इस्तेदमाल भी करते हैं। मैं सोचता हूँ कि इसका श्रेय दर्शकों को भी दिया जाना चाहिये, क्यों कि वे परफॉर्मेंस की बारीकी को पसंद करते हैं और इसलिये हमारे फिल्म कार भी सभी कलाकारों के लिये मजबूत और अच्छीप तरह से उकेरे हुए भाग लिख रहे हैं, क्यों कि जैसा कि हम सभी जानते हैं, कहानियाँ खुद आगे नहीं बढ़ती हैं, बल्कि किरदार उन्हेंि आगे बढ़ाते हैं।”


उनकी भूमिका कैसे इस कहानी का वजन बढ़ाती है, इस पर विवेक मुशरान ने कहा, “सतही तौर पर ‘यश’ एक दुखी पिता है, जो अपनी बेटी के खो जाने के शोक में डूबा है, लेकिन कहानी आगे बढ़ने के साथ ऐसा लगता है कि उसकी परेशानियाँ और उसकी शख्सियत की बारीकियाँ असल में कहानी के थीम की अचेतन शक्ति को बढ़ा देती हैं।”


सहयोगी भूमिकाएं किस तरह कहानी को बदल रही हैं, यह जानने के लिए देखिये ‘माई’ में विवेक मुशरान को, 15 अप्रैल को सिर्फ नेटफ्लिक्सक पर

Popular posts
मिलिए एंडटीवी के 'हप्पू की उलटन पलटन' की नई दबंग दुल्हनिया 'राजेश' उर्फ ​​गीतांजलि मिश्रा से!
Image
"मैं अपने किरदार से गहराई से जुड़ा हूं क्योंकि उसी की ही तरह मैं भी कम शब्दों में बहुत कुछ कह देता हूं" ज़ी थिएटर के टेलीप्ले 'तदबीर' में वे एक पूर्व सेना अधिकारी की भूमिका निभा रहे हैं
Image
हर जुबां पर बुंदेली ज़ायके का स्वाद चढ़ाने आ रहा बुंदेली शेफ सीजन-2 18 से 45 वर्ष तक की बुंदेली महिलाएं ले सकती हैं हिस्सा प्रतियोगिता में देश के किसी भी कोने से ले सकते हैं भाग बुंदेली शेफ विजेता को मिलेंगे 50 हजार रुपये तक के आकर्षक उपहार
Image
एण्डटीवी की नई प्रस्तुति ‘अटल‘ अटल बिहारी वाजपेयी के बचपन की अनकही कहानियों का होगा विवरण्
Image
ताइक्वांडो प्रीमियर लीग की द्वितीय श्रेणी वेट कैटेगरी का आयोजन दिसंबर 2023 में किया जाएगा • पुरुषों के लिए वेट कैटेगरी 55.1 किलोग्राम से 60.9 किलोग्राम होगी, जबकि महिलाओं के लिए 48.1 किलोग्राम से 53.9 किलोग्राम वेट कैटेगरी निर्धारित है • द्वितीय श्रेणी वेट कैटेगरी का आयोजन 5, 6 और 7 दिसंबर 2023 को किया जाएगा
Image