कोरोना वायरस को लेकर ग्रामीण हुए सजग, ग्राम पंचायत खजुरिया रेहवारी में किया सैनिटाइजर का छिड़काव, मास्क किए वितरित।


दिनेश मालवीय
उज्जैन ग्राम पंचायत खजूरी रेहवारी के अंतर्गत आने वाला ग्राम कलयाणपुरा में सरपंच रघुवीरसीह भाटी और सचिव राकेश यादव  सहायक सचिव नरेंद्र सिंह पवार द्वारा गांव में सैनिटाइजर का छिड़काव किया गया तथा साथ में ग्रामीणों को मार्क्स भी बांटे गए इसके साथ में सचिव राकेश यादव द्वारा और सरपंच रघुवीरसीह भाटी द्वारा गांव को समझाइश दी गई कि वह अपने घर में ही रहे और घर से बाहर ना निकले क्योंकि यह बीमारी बहुत ही भयानक है यह किसी को भी हो सकती है लोगों से दूरी बनाकर रखें सचिव राकेश यादव द्वारा यह भी कहा गया कि अगर आपके रिश्तेदार या आपका परिवार का कोई व्यक्ति कहीं बाहर है तो उसे अभी वहीं रहने दें क्योंकि देश में लाकडाउन लगा हुआ है उनकी खाने पीने की व्यवस्था प्रशासन कर रहा है सरपंच रघुवीरसीह भाटी और राकेश यादव सचिव द्वारा यह भी कहा गया कि अगर गांव में किसी प्रकार की दिक्कत आती है खाने पीने से संबंधित तो वहां पंचायत में या हमसे आकर संपर्क करें हम आपके साथ हैं और हमेशा रहेंगे आपको किसी प्रकार की दिक्कत का सामना नहीं करने देंगे सेनीटाइजर के छिड़काव के लिए ग्रामीणों का सहयोग भरपूर रहा जिसमें खासतौर पर चंदन सिंह जी पंवार ने अपना ट्रैक्टर से छिड़कने वाली मशीन ट्रैक्टर में लगाई और पंचायत का सहयोग किया और ग्राम के लोगों का सहयोग किया जिसके चलते खजुरिया रेहवारी और कलयाणपुरा में बहुत अच्छे से छिड़काव हुआ इसके साथ में गांव के चौकीदार देवी लाल चंदीवाल और खजुरिया के चौकीदार संतोष मालवीय साथ रहे सरपंच रघुवीर सिंह भाटी ने और सचिव राकेश यादव ने और नरेंद्र सिंह पवार सहायक सचिव ने दोनों ग्राम वासियों का आभार माना और कहा आपके हम आभारी हैं जो आपने पंचायत का सहयोग किया ग्राम पंचायत खजुरिया रेहवारी ने दोनों गांव वालों को भोजन से लेकर हर चीज की समस्या से निपटने के लिए कहा कि पंचायत आपके साथ है जब तक लॉक डाउन ख़त्म ना हो जाए गौरतलब है कि खुद रघुवीर सिंह भाटी ने दवाई का पम्प अपने हाथ में ले लिया और खुद ही छिड़काव करने लग गए जिसको देखते हुए ग्रामीणों ने सरपंच साहब का आभार माना


Popular posts
मध्य प्रदेश विपणन संघ और परिवहन एजेंसी की लापरवाही उजागर
Image
नए अध्ययन में सामने आया कि भारत में हर 10 में से 9 ग्राहक सुरक्षा रेटिंग वाली कार खरीदना चाहते हैं इस सर्वे को स्कोडा ऑटो इंडिया ने कमीशन किया और एनआईक्यू बेसेस ने पूरा किया। भारत में 92 प्रतिशत ग्राहक क्रैश के लिए टेस्ट की गई और सेफ्टी रेटिंग की कार चाहते हैं। 47.6 प्रतिशत भारतीय कार में अन्य विशेषताओं से ज्यादा महत्व सुरक्षा को देते हैं। कार खरीदने के निर्णय में क्रैश-रेटिंग प्राथमिकताओं की सूची में सबसे ऊपर है। कार खरीदने के निर्णय में फ्यूल एफिशियंसी तीसरे स्थान पर है। 91 प्रतिशत का मानना है कि सुरक्षा विशेषताओं के आधार पर कारों को प्रोत्साहन देना काफी प्रभावशाली होगा। बच्चों/पीछे की सीट पर बैठे लोगों के लिए पृथक सुरक्षा रेटिंग को लेकर केवल 30 प्रतिशत ग्राहक जागरुक हैं। कार खरीदने के लिए सबसे पसंदीदा क्रैश रेटिंग 5-स्टार क्रैश रेटिंग है।
Image