माई क्लासरूम ने लॉन्च किया “माई सीट- 2021" * आईआईटी, एम्स, और भारत के शीर्ष 100 इंजीनियरिंग व मेडिकल कॉलेजों में सीट की गारंटी*



हैदराबाद  माई क्लासरूम ने लॉन्च किया है “माई सीट 2021”, जो वर्तमान में 8वीं, 9वीं और दसवीं में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स के लिए एक स्कॉलरशिप एलिजीबिलिटी-कम-एडमिन टेस्ट है। यह टेस्ट युवाओं को आईआईटी, एम्स और भारत के शीर्ष 100 इंजीनियरिंग व मेडिकल कॉलेजों में गारंटी के साथ सीट पाने की तैयारी कराने का एक मौका देता है।   आधुनिकतम तकनीक व डिजिटल क्लासरूम्स के ज़रिए माई क्लासरूम प्रत्येक स्टूडेंट को भारत की शीर्ष फ़ैकल्टी, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और अकादमिक उत्साह वाले वातावरण की सुविधा उपलब्ध कराता है। 

इस संबंध में माई क्लासरूम के सह-संस्थापक व निदेशक, प्रशांत शर्मा ने कहा कि, “माई सीट- 2021 उन स्टूडेंट्स के लिए एक मौका है जो खुद को भविष्य के अगले महान आविष्कारक, इंजीनियर, वैज्ञानिक, डॉक्टर या सर्जन के रूप में देखते हैं। इस टेस्ट में भाग लेकर स्टूडेंट्स को मौका मिलेगा ओलंपियाड, केवीपीवाई, जेईई और नीट जैसी आनेवाली प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयारी को परखने का, हमारे एक्सपर्ट टीचर्स से पर्सनलाइज़्ड करियर काउंसलिंग पाने का और ढेरों स्कॉलरशिप्स व रोचक पुरस्कार जीतने का भी।“ 


उन्होंने कहा कि ये स्कॉलरशिप परीक्षाएँ हर क्लास के लिए दो चरणों में होंगी। पहले चरण में अभ्यर्थियों को 15 से 25 दिसंबर 2021 तक ऑनलाइन या फिर 16 शहरों में स्थित हमारे स्मार्ट क्लासरूम्स में जाकर 19 से 25 दिसंबर 2021 तक ऑफलाइन परीक्षा देनी होगी। दूसरे चरण में हर क्लास के शीर्ष 100 रैंक पानेवालों के लिए एक पर्सनल इंटर्व्यू कराया जाएगा। अंतिम परिणामों की घोषणा 5 जनवरी 2022 को की जाएगी। स्टूडेंट्स इसके लिए https://myseat.myclassroom.digital/ पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।  


आईआईटी-जेईई के टॉपर्स को 25 वर्ष तक मार्गदर्शन व कोचिंग देने का अनुभव रखनेवाले और माई क्लासरूम में जेईई के अकादमिक निदेशक प्रमोद कुमार राणा कहते हैं कि, “माई क्लासरूम के सभी प्रोग्राम एक निश्चित परिणाम को लक्षित करते हुए गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने की ओर केंद्रित हैं। हमारे ये अनुशासनबद्ध, केन्द्रित व मार्गदर्शित प्रोग्राम, प्रतियोगी परीक्षाओं में स्टूडेंट्स को सफलता दिलाने के उद्देश्य से तैयार किए गए हैं।“   इस संबंध में 22 वर्षों का अनुभव रखनेवाले व माई क्लासरूम में नीट के अकादमिक निदेशक, डॉ. गगन वोहरा का कहना है कि शिक्षकों, सहपाठियों व अभिभावकों का एक ऐसा माहौल तैयार किया जाता है जिसमें आकांक्षी स्टूडेंट्स के लिए एक स्वस्थ व प्रतिस्पर्धी परिवेश में श्रेष्ठ शैक्षिक व मनोवैज्ञानिक सहयोग देने पर बल दिया जाता है।“ डॉ. वोहरा ने अपने करियर में पाँच बार एम्स और नीट में पहली रैंक लानेवाले अभ्यर्थियों का मार्गदर्शन किया है। 

उन्होंने कहा कि

हमारी टीम में आईआईटी व आईआईएम जैसे शीर्ष संस्थानों से आनेवाले श्रेष्ठ शिक्षक शामिल हैं और हम पूरी प्रतिबद्धता के साथ यह सुनिश्चित करते हैं कि प्रत्येक स्टूडेंट अपनी श्रेष्ठतम काबिलियत का प्रदर्शन कर सके। हम प्रत्येक स्टूडेंट को उसी के शहर में हमारे आधुनिकतम स्मार्ट क्लासरूम्स के ज़रिए उच्चे गुणवत्ता वाली शिक्षा और भारत के शीर्ष शिक्षकों की सुविधा उपलब्ध कराते हैं।

Popular posts
Sustainable Mining: How new technologies are reshaping the mining industry
Image
क्यों हमें सविता जैसी बेटियों के स्वागत की ज्यादा जरुरत है जब एक महिला शिक्षित होती है तो एक राष्ट्र शिक्षित होता है।
Image
पेपरफ्राई ने जयपुर में अपना दूसरा स्टूडियो लॉन्च किया* उत्तर भारत मेंअपनी ओम्नी चैनल मौजूदगी को मजबूती प्रदान की
Image
*ऑर्बिया के बिल्डिंग एवं इंफ्रास्ट्रेक्चंर बिजनेस वाविन ने वेक्ट्स के साथ साझेदारी की इस सहयोग की मदद से कंपनी भारतीय बाजार को जल एवं स्वीच्छवता समाधानों तक पहुँच प्रदान करेगी*
Image
पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का चमकौर साहिब से न्यूज़18 इंडिया के मैनेजिंग एडिटर किशोर अजवानी के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत:*
Image