रब्बी गुरूजी और मारिया ने येशु के लिये खड़ी की मुसीबतें

 



 

एण्डटीवी पर प्रसारित शो ‘येशु’ के पिछले हफ्ते के एपिसोड्स में दर्शकों ने देखा कि किस तरह रब्बी गुरूजी (विक्की आहूजा) को गांव में बड़े पैमाने पर बच्चों के एडमिशन की जिम्मेदारी सौंपी गयी। वह पूरी कोशिश करता है कि येशु (विवान शाह) के लिये एडमिशन लेना मुश्किल हो जाये लेकिन वह ऐसा कर नहीं पाया। रब्बी गुरूजी हार मानने वालों में से नहीं है, उसने येशू की जिंदगी में दोबारा मुसीबत खड़ी करने की कोशिश की। आगे आने वाले एपिसोड में, रब्बी गुरूजी, मारिया (पूजा दीक्षित) के साथ मिलकर इस काम को अंजाम देता है। मारिया के इशारों पर उसका बेटा जेम्स येशू के होमवर्क को खराब करने का काम करता है। इस स्थिति का फायदा उठाते हुए गुरूजी, येशू से एक बेहद मुश्किल सवाल पूछता है। वह इस शर्त पर उससे यह सवाल पूछता है कि यदि वह सही जवाब देता है तभी उसे क्लास में आने दिया जायेगा। लेकिन गुरूजी को बहुत बड़ा धक्का लगता है जब येशु उस सवाल का सही जवाब दे देता है और क्लास से उसका नाम कटने से बच जाता है। इसी बीच, गुरूजी को येशु और उसके परिवार के मिस्र छोड़ने की सही वजह का पता चलता है। ऐसे में वह येशु के लिये और भी मुश्किलें खड़ी करने का बड़ा षड्यंत्र रचता है। वह क्लास के स्टूडेंट्स को पौधा रोपने के काम के लिये जंगल लेकर जाता है। गुरूजी आगे क्या मुसीबत खड़ी करने वाला है और येशु इससे किस तरह बच पायेगा? इसके बारे में बात करते हुए मारिया उर्फ पूजा दीक्षित कहती हैं, ‘‘दर्शक देखेंगे कि येशु किस तरह क्लास में गुरूजी और मारिया द्वारा खड़ी की गयी मुसीबतों से लड़ता है। लेकिन उनकी सारी चालें और सारे षड्यंत्र धरे के धरे रह जाते हैं और येशु उन सबसे बचकर निकल आता है। जेम्स जोकि पहले से ही येशु से चिढ़ता था, वह मारिया और रब्बी गुरूजी की बातों में आ जाता है। आगे आने वाले एपिसोड्स में यह देखना दिलचस्प होगा कि यह तिकड़ी और दुष्ट शैतान किस तरह, येशु को गांव से बाहर निकालने की कोशिश करते हैं।’’ 


और अधिक जानने के लिये, देखिये ‘येशु’ हर सोमवार से शुक्रवार, 

रात 8 बजे केवल एण्डटीवी पर

Popular posts
क्रेडाई द्वारा निर्माण मजदूरों को कार्यस्थल पर सामाजिक लाभ पहुंचाने के लिए समझौता ज्ञापन की घोषणा
Image
AB LAGEGA SABKA NUMBER: SEEMA PAHWA TURNS CALCULATING POLITICIAN GANGA DEVI FOR JAMTARA S2
Image
सोनी सब के शो ‘अलीबाबा दास्‍तान-ए-काबुल’ के अली, मरियम और सिमसिम भोपाल पहुंचे; सपोर्ट के लिये दर्शकों को दिया धन्‍यवाद
Image
ऑफिस ने रखा इंदौर में कदम; 3 महीने के भीतर क्षमता दोगुनी की
Image
अपने सपनों को हकीकत में बदलना परिचय: इस राष्ट्रीय बालिका दिवस पर, हम एक छोटे शहर की लड़की के धैर्य, दृढ़ता और जोश की कहानी सुनाते हैं जिनसे उसे कठिन समय का सामना करने में मदद की।
Image